पढ़ाई के लिए मछली बेचने पर ट्रोल हुई थी ये छात्रा, अब केरल बाढ़ के लिए डोनेट किए डेढ़ लाख

पढ़ाई के लिए मछली बेचने पर ट्रोल हुई थी ये छात्रा, अब केरल बाढ़ के लिए डोनेट किए डेढ़ लाख
पढ़ाई के लिए मछली बेचने पर ट्रोल हुई थी ये छात्रा, अब केरल बाढ़ के लिए डोनेट किए डेढ़ लाख

Trolled For Selling Fish Now Kerala Girl Donates 1 5 Lakh Rupees In Flood Relief Fund

नई दिल्ली। केरल में बाढ़ से हुई तबाही में 320 से ज्यादा जानें जा चुकी हैं। बाढ़ बचाव कार्य में सेना, एनडीआरएफ समेत कई स्वतंत्र एनजीओ लगे हुए हैं आप बहादुरी के तमाम किस्से भी सुनने को मिल रहे हैं। ऐसा ही एक किस्सा सुनकर आपका सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा। कुछ दिनों पहले मछली बेचकर अपनी पढ़ाई के लिए पैसा इकट्ठा करने वाली जिस लड़की को सोशल मीडिया पर बुरी तरह ट्रोल किया गया था उसने बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए मुख्यमंत्री आपदा राहत कोष में डेढ़ लाख रुपये का दान दिया है।

बता दें कि केरल की रहने वाली हनान को कॉलेज के बाद मछली बेचने पर सोशल मीडिया पर ट्रोल किया गया था। हाल ही में कुछ तस्वीरें सामने आई थीं, जिसमें हनान कॉलेज ड्रेस में मछली बेच रही हैं। बताया जा रहा था कि परिवार की आर्थिक हालत ठीक ना होने की वजह से हनान मछली बेचकर पैसे कमाती हैं और कॉलेज फीस के साथ घर खर्च भी चलाती है। जिसके बाद लोग उसकी मदद में आगे आए और उन्हें पैसे भी दिए। अब हनान उन पैसों को वापस देना चाहती हैं और वो केरल सरकार को ये पैसे देंगी। हनान लोगों से मिली सारी मदद केरल बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए देंगी और अपने पास केवल वही पैसे रखेंगी जो उन्होंने खुद से कमाए हैं।

उस दौरान हनान की कहानी वायरल होने के बाद एक फिल्म भी ऑफर हुई थी। हालांकि कुछ लोगों ने हनान पर आरोप लगाए थे कि हनान ने इसी फिल्म के प्रमोशन के लिए ये झूठी कहानी रची है। वो मछली बेचने का कोई काम नहीं करती है। जिसे हनान और फिल्म निर्देशक ने गलत बताया था। उसके बाद सरकार ने भी उन लोगों के खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया था।

गौरतलब है कि केरल में बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए तमाम राज्यों की सरकारें और लोग मदद के लिए हाथ आगे बढ़ा रहे हैं। पिछले दिनों निपाह वायरस की चपेट में आकर जान गंवाने वाली नर्स लिनी पुत्थुसरी के पति सजीश ने भी पहली सैलरी के रूप में मिले 25 हजार रुपये बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए दान दे दिया है।

आपको बता दें कि लिनी पुत्थुसरी की मौत के बाद केरल सरकार ने उनके पति सजीश को स्वास्थ्य विभाग में नौकरी दी थी। इसके अलावा कन्नूर जिले के थालासरी में रहने वाली 68 वर्षीय बुजुर्ग ने भी बाढ़ पीड़ित की मदद के लिए हाथ बढ़ाकर मिसाल पेश की है। 600 रुपये महीने के पेंशन से गुजारा करने वाली बुजुर्ग महिला ने 1000 रुपये अॉनलाइन दान दिया है। वहीं बड़े स्तर पर छात्र, एनजीओ, अभिनेता और अन्य लोग भी मदद को हाथ बढ़ा रहे हैं।

नई दिल्ली। केरल में बाढ़ से हुई तबाही में 320 से ज्यादा जानें जा चुकी हैं। बाढ़ बचाव कार्य में सेना, एनडीआरएफ समेत कई स्वतंत्र एनजीओ लगे हुए हैं आप बहादुरी के तमाम किस्से भी सुनने को मिल रहे हैं। ऐसा ही एक किस्सा सुनकर आपका सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा। कुछ दिनों पहले मछली बेचकर अपनी पढ़ाई के लिए पैसा इकट्ठा करने वाली जिस लड़की को सोशल मीडिया पर बुरी तरह ट्रोल किया गया था उसने बाढ़ पीड़ितों…