1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. ट्रू कॉलर पर लिख रखा था फेक नाम, IPS-IAS बनकर ये शख्स करता था ठगी

ट्रू कॉलर पर लिख रखा था फेक नाम, IPS-IAS बनकर ये शख्स करता था ठगी

By सोने लाल 
Updated Date

नई दिल्लीं। जालसाजी और धोखाधड़ी के नए—नए तरीकों से लोगों को लूटा जा रहा है। मध्य प्रदेश के उज्जैन में एक ऐसी घटना सामने आई है जो आपके होश हुड़ा सकती है। एक ऐसे ठग को एसटीएफ की टीम ने पकड़ा है जिसका ठगी करने का अंदाज ही नीराला था। आरोपी आईपीएस और आईएएस अधिकारी के नाम का दुरुपयोग कर लोगों से धोखाधड़ी करता था।

आईपीएस अधिकारियों के नाम से सेव थे फोन नंबर

बता दें कि आरोपी ने ट्रू कॉलार एप की प्रोफाइल पर स्वयं के कई नंबरों को आईपीएस विपिन माहेश्वरी और अन्य प्रभावी नामों से सेव कर रखा था जिससे इन्हीं प्रभावी नामों से लोगों को फोन कर उन्हें अपनी जालसाजी का शिकार बनाता था। उज्जैन एसटीएफ पुलिस ने आईपीएस अधिकारी बनकर लोगों से लूट करने वाले आरोपी ज्योतिर्मय विजयवर्गीय निवासी इंदौर को गिरफ्तार किया है। वर्तमान में हुए घटनाक्रम में आरोपी ने इंदौर से भोपाल जाते समय टोल टैक्स पर स्वयं को आईपीएस अधिकारी बताते हुए फरियादी जितेंद्र कुमार जाट को फोन लगाकर बिना टैक्स दिए पास करने को कहा और वहां पहुंचकर रौब दिखाते हुए 3-4 परिचितों को टोल पर नौकरी लगवाने की बात कही।

कई थानों में पंजीबद्ध थे अपराध

इसकी शिकायत पर उज्जैन पुलिस ने मामले की गंभीरता से जांच करते हुए आरोपी ज्योतिर्मय विजयवर्गीय को गिरफ्तार कर लिया। बता दें कि आरोपी के खिलाफ पहले से ही इंदौर, भोपाल सहित कई थानों में अपराध पंजीबद्ध होना पाया गया है। आरोपी को गिरफ्तार करने के बाद उसके पास से 11 मोबाइल फोन भी बरामद किए गए हैं। जिनको जब्त कर लिया गया है।

विआईपी नंबरों से करता था कारनामे

सभी फोन के नंबर के आखिरी 3 से 4 डिजिट का मिलान करने पर सब सेम पाई गई हैं। जिससे लोगों को वीआईपी नंबर होने का आभास होता था। आरोपी ने सभी नंबर ट्रू कॉलर पर अलग-अलग लोगों के नाम से सेव किये थे। फिलहाल पुलिस मामले की गंभीरता से जांच कर रही है। हांल ही में टोल टैक्स पर होने वाली घटना में उसने जो नं यूज किया था उसके लास्ट में 555 था। अमलाहा टोलटैक्स पर यह रुका था और वहां भी इसने स्वयं को आईपीएस बताया और कहा कि 3-4 लड़के मेरे हैं, उनको आपको भर्ती करना है। जब ये जानकारी मिली तो एसटीएफ में प्रकरण पंजीबद्ध किया गया औऱ इसको गिरफ्तार किया गया।

घर से मिली 100 चेकबुक और 11 सिम

गिरफ्तार करके जब इसके घर की तलाशी ली गई तो 100 से अधिक चेकबुक मिली हैं। कई सारे उसके बैंक खाते हैं। इसके घर में जो नौकरानी काम करती थी, उसके नाम से और कई अन्य व्यक्तियों के नाम से खाते खुलवा रखे हैं। बहुत सारी सिम इसके पास से मिली हैं। कुल 7 सिम तो यूज़ कर रहा है। इसके अलावा 4 सिम और हैं जो पता लगी हैं। टोटल 11 मोबाइल फोन इसके पास से मिले हैं। आरोपी के पास से फॉर्च्यूनर कार भी मिली। इस मामले में जांच की जा रही है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...