कोरोना खतरे के बीच लॉकडाउन हटाने की जिद में ट्रंप, अब चर्च-मंदिर खोलने को कहा

trump
कोरोना खतरे के बीच लॉकडाउन हटाने की जिद में ट्रंप, अब चर्च-मंदिर खोलने को कहा

कोरोना संकट (Coronavirus in America) के खतरे और वैज्ञानिकों की सलाह को ताक में रखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) लॉकडाउन में ढील और बढ़ाने के मूड में हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने अब राज्यों को प्रार्थनाघर खोलने के लिए कहा है। ट्रंप ने प्रार्थनाघरों को जरूरी स्थान की कैटिगरी में रखते हुए कहा कि ये जरूरी सेवाओं में आते हैं इसलिए खोला जाना जरूरी है। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते अमेरिका में चर्च समेत सभी प्रार्थनाघरों को बंद कर दिया गया था।

Trump Insisting To Remove Lockdown Amid Corona Threat Now Asked To Open Church Temple :

वाइट हाउस में मौजूद मीडिया से ट्रंप ने कहा, ‘मेरे निर्देश पर सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन अलग-अलग समुदायों के लिए गाइडलाइन जारी कर रहा है।’ ट्रंप ने कहा, ‘आज मैं प्रार्थनाघरों, चर्च, सिनगॉग और मस्जिदों को जरूरी स्थानों की श्रेणी में रख रहा हूं क्योंकि ये जरूरी सेवा प्रदान करते हैं।’

देश में लॉकडाउन नहीं होगा

इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि अमेरिका में कोरोना की दूसरी लहर की स्थिति में भी देश में लॉकडाउन नहीं होगा। उन्होंने कहा था कि परमानेंट लॉकडाउन स्वस्थ राज्य या स्वस्थ देश के लिए एक रणनीति नहीं है। हमारा देश बंद होने के लिए नहीं है। कभी न खत्म होने वाले लॉकडाउन से एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा आ जाएगी।

अपने ही वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के खिलाफ ट्रंप

बता दें कि ट्रंप देश के कई बड़े वैज्ञानिकों और डॉक्टरों की सलाह को खारिज करते हुए लॉकडाउन हटाना चाहते हैं। जबकि, वैज्ञानिकों ने इसके लिए आगाह किया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा करना जल्दबाजी होगी। इससे कोरोना के संक्रमण को रोकने में दिक्कत आएगी। वहीं ट्रंप लगातार अपने देश के डॉक्टरों और वैज्ञानिकों के खिलाफ बोलते आए हैं।

अमेरिका में 90 हजार से ज्यादा मौतें

बता दें कि अमेरिका में अब तक 15 लाख से ज्यादा नागरिक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। देश में संक्रमण के चलते 90 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, देश में जून की शुरुआत तक कोरोना महामारी से मरने वालों का आंकड़ा एक लाख तक पहुंच जाएगा।  

कोरोना संकट (Coronavirus in America) के खतरे और वैज्ञानिकों की सलाह को ताक में रखते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) लॉकडाउन में ढील और बढ़ाने के मूड में हैं। राष्ट्रपति ट्रंप ने अब राज्यों को प्रार्थनाघर खोलने के लिए कहा है। ट्रंप ने प्रार्थनाघरों को जरूरी स्थान की कैटिगरी में रखते हुए कहा कि ये जरूरी सेवाओं में आते हैं इसलिए खोला जाना जरूरी है। बता दें कि कोरोना महामारी के चलते अमेरिका में चर्च समेत सभी प्रार्थनाघरों को बंद कर दिया गया था। वाइट हाउस में मौजूद मीडिया से ट्रंप ने कहा, 'मेरे निर्देश पर सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल ऐंड प्रिवेंशन अलग-अलग समुदायों के लिए गाइडलाइन जारी कर रहा है।' ट्रंप ने कहा, 'आज मैं प्रार्थनाघरों, चर्च, सिनगॉग और मस्जिदों को जरूरी स्थानों की श्रेणी में रख रहा हूं क्योंकि ये जरूरी सेवा प्रदान करते हैं।' देश में लॉकडाउन नहीं होगा इससे पहले अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि अमेरिका में कोरोना की दूसरी लहर की स्थिति में भी देश में लॉकडाउन नहीं होगा। उन्होंने कहा था कि परमानेंट लॉकडाउन स्वस्थ राज्य या स्वस्थ देश के लिए एक रणनीति नहीं है। हमारा देश बंद होने के लिए नहीं है। कभी न खत्म होने वाले लॉकडाउन से एक सार्वजनिक स्वास्थ्य आपदा आ जाएगी। अपने ही वैज्ञानिकों और डॉक्टरों के खिलाफ ट्रंप बता दें कि ट्रंप देश के कई बड़े वैज्ञानिकों और डॉक्टरों की सलाह को खारिज करते हुए लॉकडाउन हटाना चाहते हैं। जबकि, वैज्ञानिकों ने इसके लिए आगाह किया है। वैज्ञानिकों का कहना है कि ऐसा करना जल्दबाजी होगी। इससे कोरोना के संक्रमण को रोकने में दिक्कत आएगी। वहीं ट्रंप लगातार अपने देश के डॉक्टरों और वैज्ञानिकों के खिलाफ बोलते आए हैं। अमेरिका में 90 हजार से ज्यादा मौतें बता दें कि अमेरिका में अब तक 15 लाख से ज्यादा नागरिक कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। देश में संक्रमण के चलते 90 हजार से ज्यादा मौतें हुई हैं। सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन के अनुसार, देश में जून की शुरुआत तक कोरोना महामारी से मरने वालों का आंकड़ा एक लाख तक पहुंच जाएगा।