ट्रंप को इमरान को दी नसीहत, भारत के साथ द्विपक्षीय वार्ता से कम करें कश्मीर पर तनाव

imran- trump
ट्रंप को इमरान को दी नसीहत, भारत के साथ द्विपक्षीय वार्ता से कम करें कश्मीर पर तनाव

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से फोन पर बात की। इस दौरान उन्होने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव को द्विपक्षीय वार्ता के जरिए कम करने की बात कही। व्हाइट हाउस की ओर से फोन कॉल के बारे में बयान न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में बैठक समाप्त होने के बाद जारी किया गया।

Trumps Advice To Imran Reduce Tension On Kashmir By Bilateral Talks With India :

व्हाइट हाउस के उप प्रेस सचिव होगान गिडले ने कहा कि राष्ट्रपति ने जम्मू-कश्मीर में स्थिति के संबंध में भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय वार्ता के जरिए तनाव कम करने का महत्व बताया। बता दें कि ट्रंप ने क्षेत्रीय घटनाक्रम पर चर्चा करने और पिछले महीने खान की वाशिंगटन की यात्रा के बारे में चर्चा करने के लिए बातचीत की।

वहीं पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस्लामाबाद में कहा कि खान ने भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सुरक्षा परिषद की बैठक के संबंध में अमेरिकी राष्ट्रपति को विश्वास में लिया।

नई दिल्ली। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से फोन पर बात की। इस दौरान उन्होने भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव को द्विपक्षीय वार्ता के जरिए कम करने की बात कही। व्हाइट हाउस की ओर से फोन कॉल के बारे में बयान न्यूयार्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में बैठक समाप्त होने के बाद जारी किया गया। व्हाइट हाउस के उप प्रेस सचिव होगान गिडले ने कहा कि राष्ट्रपति ने जम्मू-कश्मीर में स्थिति के संबंध में भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय वार्ता के जरिए तनाव कम करने का महत्व बताया। बता दें कि ट्रंप ने क्षेत्रीय घटनाक्रम पर चर्चा करने और पिछले महीने खान की वाशिंगटन की यात्रा के बारे में चर्चा करने के लिए बातचीत की। वहीं पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने इस्लामाबाद में कहा कि खान ने भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर का विशेष दर्जा समाप्त किए जाने के बाद संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में सुरक्षा परिषद की बैठक के संबंध में अमेरिकी राष्ट्रपति को विश्वास में लिया।