1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. ट्रंप के झूठे दावों और समर्थकों की कारस्तानी ने अमेरिकी इतिहास को किया शर्मशार!

ट्रंप के झूठे दावों और समर्थकों की कारस्तानी ने अमेरिकी इतिहास को किया शर्मशार!

Trumps False Claims And Supporters Shame On American History

By शिव मौर्या 
Updated Date

वाशिंगटन। अमेरिका में हुए हाल के चुनावों में डेमोक्रेटिक उम्मीदवार जो बाइडेन की जीत हुई है। राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी हार अब तक पचा नहीं पा रहें है। वो लागातार यें दावें कर रहे हैं कि चुनावों में वोटों की गिनती सही तरीकें से नहीं हुई है। वोटों की गिनती दोबारा कराई जानी चाहिए। जिस कारण ट्रम्प सर्मथकों के बीच गलत धारणाओं ने जगह बना ली है। जिसके कारण उन्हें ये लग रहा है की वोटों की गिनती में धांधली हुई है। बुधवार को ट्रम्प सर्मथक यूएस कैपिटल में भारी संख्या में जुट गए।

पढ़ें :- सत्ता संभालते ही एक्शन में जो बाइडन, ट्रंप के 15 कार्यकारी आदेशों को पलटा

घटना के वक्त संसद का संयुक्त सत्र चल रहा था जिसमें नवनिर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडेन की जीत की पुष्टि होनी थी। इस दौरान ट्रम्प सर्मथक बिल्डिंग में घुस गये। देखते ही देखते वहां तोड़फोड़ व हिंसा शुरू हो गई। सुरक्षा बलों को स्थिती से निपटने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। हालांकि पुलिस और सर्मथकों के बीच हुई हिंसा में एक महिला समेत चार लोगों की मौत हो गई, जबकि तीन की हालत अभी गंभीर बनी हुई है। पुलिस ने अभी तक 52 लोगों को गिरफ्तार भी किया है।

अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा है कि, इतिहास कैपिटल में हुई इस घटना को याद रखेगा, जिसे वैध चुनावों के नतीजों के बारें में निराधार झूठ बोलने वाले एक नेता ने भड़काया है। अगर हम ये कहेंगे की यह घटना अचानक हुई है तो हम खुद से मजाक कर रहे होंगे। अमेरिका के बड़े राजनेताओं ने इस घटना की कड़ी भर्त्सना की है। इसे संविधान,देश व संसद पर हमला बताया है। इस घटना का जिम्मेदार ट्रम्प को बताया है।

 

पढ़ें :- व्हाइट हाउस को डोनाल्ड ट्रंप ने छोड़ा, नवनिर्वाचित राष्ट्रपति के शपथ समारोह में नहीं होंगे शामिल

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...