1. हिन्दी समाचार
  2. ट्रम्प की धमकी- अगर चीन वायरस फैलाने का जिम्मेदार निकला तो उसे गंभीर नतीजे भुगतने होंगे

ट्रम्प की धमकी- अगर चीन वायरस फैलाने का जिम्मेदार निकला तो उसे गंभीर नतीजे भुगतने होंगे

Trumps Threat China Will Suffer Dire Consequences If Found Responsible For Spreading The Virus

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। अमेरिका (America) के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) ने चीन को आगाह किया है कि अगर वह कोरोना वायरस वैश्विक महामारी को फैलाने का जिम्मेदार निकला तो इसके नतीजे भुगतने के लिए तैयार हो जाए। चीन द्वारा कोरोना वायरस बीमारी से निपटने को लेकर असंतोष जताते हुए ट्रंप ने आरोप लगाया कि इस मुद्दे पर बीजिंग द्वारा अमेरिका के साथ गैर पारदर्शी व्यवहार किया गया और शुरुआत में उसके साथ सहयोग नहीं किया गया।  

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

ट्रंप ने शनिवार को व्हाइट हाउस प्रेस कॉन्फ्रेंस में पत्रकारों से कहा, ‘अगर वे जानबूझकर इसे फैलाने के जिम्मेदार पाए गए तो इसके परिणाम उसे भुगतने होंगे। उन्होंने कहा, आप जानते हैं 1917 के बाद किसी ने इतने बड़े पैमाने पर लोगों को मरते हुए नहीं देखा।’ ट्रंप से जब यह सवाल पूछा गया कि क्या आप चीन से नाराज हैं, तो जवाब हां में था। ट्रंप ने कहा, ‘कोविड-19 के दुनियाभर में फैलने से पहले तक चीन के साथ उनके संबंध बहुत अच्छे थे। लेकिन फिर अचानक इसके बारे में सुना इससे काफी फर्क आ गया है।

चीन ने जानबूझकर की गलती

राष्ट्रपति ने कहा कि एक गलती जो काबू से बाहर हो गई या जानबूझकर कुछ किए जाने में काफी अंतर होता है। किसी भी स्थिति में उन्हें हमें बताना चाहिए था। मुझे लगता है कि वे जानते थे कि कुछ खराब है और मुझे लगता है कि वे शर्मिंदा भी हैं। ट्रंप ने दावा किया कि चीन पूर्व उपराष्ट्रपति जो बाइडेन का समर्थन कर रहा था, जो राष्ट्रपति पद के चुनाव के लिए डेमोक्रेटिक पार्टी के संभावित उम्मीदवार माने जा रहे हैं।

ट्रंप ने सभी देश के हाल पर जताई चिंता

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

ट्रंप ने कहा, कोरोना वायरस संकट ने हर किसी को नुकसान पहुंचाया है। हमारी अभी तक दुनिया में सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था थी। चीन आसपास तक भी नहीं था हमारे। ईरान अब पहले के मुकाबले काफी अलग देश है। पहले वह पूरे पश्चिम एशिया पर अपना अधिकार जमाने जा रहा था और अब वे सिर्फ जीना चाहता है।

ट्रंप ने इस संक्रामक रोग के कारण चीन में मरने वाले लोगों की आधिकारिक संख्या को लेकर भी संदेह जताते हुए दावा किया कि वहां मरने वाले लोगों की संख्या अमेरिका से कहीं अधिक है। हम पहले स्थान पर नहीं है, चीन पहले स्थान पर है। मृतकों की संख्या के लिहाज से वे हमसे कहीं आगे हैं। हम उनके आसपास भी नहीं हैं।

ट्रंप ने किया दावा चीन में मरने वालों की संख्या बहुत ज्यादा

ट्रंप ने कहा कि जब उच्च विकसित स्वास्थ्य देखभाल प्रणालियों वाले देशों ब्रिटेन, फ्रांस, बेल्जियम, इटली और स्पेन में मृतकों की संख्या इतनी अधिक थी तो चीन में यह महज 0.33 प्रतिशत थी। वास्तविक संख्या इससे कहीं अधिक हैं। उन्होंने चीन के मृतकों के आंकड़े को सच्चाई से कोसों दूर बताया।

पढ़ें :- किसान आंदोलनः किसानों की ट्रैक्टर रैली को हर झंडी, पुलिस को अलर्ट रहने के आदेश

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...