ट्रंप की ईरान को धमकी- कोई भी हरकत की तो इस्लामिक स्थलों को कर देंगे तबाह, ईराक को भी चेतावनी

trump
भारत दौरे से पहले ट्रंप का बड़ा बयान- मोदी को करता हूं पसंद पर अभी नहीं हो सकती ट्रेड डील

नई दिल्ली। अमेरिका ने हाल ही में ईरानी जनरल सुलेमानी को एयर स्ट्राईक से मार दिया था जिसके बाद बदला लेने के लिए ईरान की तरफ से ईराक स्थित अमेरिकी दूतावास पर हमला किया गया। अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को चेतावनी दी है कि अगर ईरान ने अपने मेजर जनरल का बदला लेने की कोशिश की तो वह ईरान के धार्मिक ठिकानों को तबाह कर देंगे। ट्रंप ने धमकी दी कि अगर इराक ने अपने देश से अमेरिकी फौज को हटने के लिए मजबूर किया तो वह उस पर भी बहुत कड़े प्रतिबंध थोप देंगे।

Trumps Threat To Iran If Any Action Will Destroy Islamic Sites Iraq Also Warns :

आपको बता दें कि आजकल ट्रंप फ्लोरिडा में अपनी छुटिटयां मनाने गये थे और शनिवार को ही वापस लौटें है। उन्होने ट्वीट करते हुए कहा कि ईरान में 52 ठिकाने अमेरिका के निशाने पर हैं। इनमें से कई सांस्कृतिक महत्व की जगहें भी हैं। “उन्हें हमारे लोगों को मारने की इजाजत है। वे हमारे लोगों को प्रताड़ित कर रहे हैं। उनका जहां मन करता है, बम गिरा देते हैं और हमारे लोगों को उड़ा देते हैं तो फिर हमें उनकी सांस्कृतिक स्थलों को हाथ लगाने की इजाजत क्यों नहीं है, दुनिया ऐसे नहीं चलती है।

आपको बता दें कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा था कि ईरान के साथ किसी भी तरह का युद्ध या संघर्ष कानून की सीमाओं के दायरे में ही होगा। बस इसी बात पर ट्रंप थोड़ा खफा हो गये और उन्होने ईरान को धमकी दे दी है। ईरान की बदले की कार्रवाई की आशंका पर ट्रंप ने कहा, जो होना है, हो जाए. अगर ईरान कुछ भी करता है तो इसका करारा जवाब दिया जाएगा। इस दौरान उन्होने ईराक पर भी हमला बोला क्योंकि इराक की संसद ने रविवार को ही देश से विदेशी सेना को बाहर निकालने का प्रस्ताव पारित किया है।

नई दिल्ली। अमेरिका ने हाल ही में ईरानी जनरल सुलेमानी को एयर स्ट्राईक से मार दिया था जिसके बाद बदला लेने के लिए ईरान की तरफ से ईराक स्थित अमेरिकी दूतावास पर हमला किया गया। अब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने ईरान को चेतावनी दी है कि अगर ईरान ने अपने मेजर जनरल का बदला लेने की कोशिश की तो वह ईरान के धार्मिक ठिकानों को तबाह कर देंगे। ट्रंप ने धमकी दी कि अगर इराक ने अपने देश से अमेरिकी फौज को हटने के लिए मजबूर किया तो वह उस पर भी बहुत कड़े प्रतिबंध थोप देंगे। आपको बता दें कि आजकल ट्रंप फ्लोरिडा में अपनी छुटिटयां मनाने गये थे और शनिवार को ही वापस लौटें है। उन्होने ट्वीट करते हुए कहा कि ईरान में 52 ठिकाने अमेरिका के निशाने पर हैं। इनमें से कई सांस्कृतिक महत्व की जगहें भी हैं। "उन्हें हमारे लोगों को मारने की इजाजत है। वे हमारे लोगों को प्रताड़ित कर रहे हैं। उनका जहां मन करता है, बम गिरा देते हैं और हमारे लोगों को उड़ा देते हैं तो फिर हमें उनकी सांस्कृतिक स्थलों को हाथ लगाने की इजाजत क्यों नहीं है, दुनिया ऐसे नहीं चलती है। आपको बता दें कि अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने कहा था कि ईरान के साथ किसी भी तरह का युद्ध या संघर्ष कानून की सीमाओं के दायरे में ही होगा। बस इसी बात पर ट्रंप थोड़ा खफा हो गये और उन्होने ईरान को धमकी दे दी है। ईरान की बदले की कार्रवाई की आशंका पर ट्रंप ने कहा, जो होना है, हो जाए. अगर ईरान कुछ भी करता है तो इसका करारा जवाब दिया जाएगा। इस दौरान उन्होने ईराक पर भी हमला बोला क्योंकि इराक की संसद ने रविवार को ही देश से विदेशी सेना को बाहर निकालने का प्रस्ताव पारित किया है।