लॉकडाउन में पैदा हुए जुड़वा बच्चे, लड़की नाम ‘कोरोना’ और लड़के का ‘कोविड’ रखा

baby

रायपुर: कोरोना की इस महामारी के बीच, छत्तीसगढ़ में 2 नन्हे बच्चों ने जन्म दिया है। खबर के मुताबिक उन दोनों बच्चों का नाम ‘कोरोना’ और ‘कोविद’ रखा गया है। बता दें, जुड़वां बच्चों में एक लड़का और एक लड़की है। जब बच्चों के माता-पिता से पुछा गया कि उन्होंने अपने बच्चों का नाम ‘कोरोना’ और ‘कोविद’ क्यों रखा तो उन्होंने कहा, “इस नाम से जिंदगी भर हमें याद रहेगा कि इतने महामारी में हमारे बच्चों का जन्म हुआ था औअर पूरा देश लॉकडाउन था।

Twins Born In Lockdown Girl Named Corona And Boy Named Kovid :

बात दें, इन दिनों बच्चों का जन्म 26-27 मार्च की रात सरकारी अस्पताल में हुआ था। अभी के लिए हमने इनका नाम ‘कोरोना’ और कोविद रखा है लकिन बाद में हम इनका नाम बदल देंगे। प्रीती वर्मा, 27 साल की महिला, जिन्होंने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया उन्होंने कहा, “मैंने जुड़वां बच्चों को 27 मार्च जन्म दिया है- एक लड़का और एक लड़की है। हमने लड़के न नाम कोविद और लड़की का नाम कोरोना रखा है।’

प्रीती ने कहा, “बहुत मुश्किले सहने के बाद ये दो बच्चों का जन्म हुआ है इसलिए हम इस दिन को यादगार बनाना चाहते है। यह वायरस बहुत खतरनाक है और सभी इससे बचने के लिए बताये गए हाइजीन का इस्तेमाल कर रहे है। इसलिए हमने ये नाम रखने का फैसला लिया है।

प्रीती वर्मा उत्तर प्रदेश की रहिवासी हैं लेकिन वह पुरानी बस्ती में किराय पर रहते है। प्रीती ने बताया, “26 मार्च की रात अचानक लेबर पैन शुरू हो गया और मेरे पति जैसे तैसे एम्बुलेंस का व्यवस्था कर पाए। लॉकडाउन के वजह से सड़कों पर एक भी गाड़ियां नहीं थी, हर जगह पुलिस गाड़ियां रोककर जांच कर रही थी। मुझे इस बात का डर लग रहा था कि रात का समय है ना जानें क्या होगा, लेकिन डॉक्टर और स्टाफ ने हमारा अच्छे से ध्यान रखा।”

रायपुर: कोरोना की इस महामारी के बीच, छत्तीसगढ़ में 2 नन्हे बच्चों ने जन्म दिया है। खबर के मुताबिक उन दोनों बच्चों का नाम ‘कोरोना’ और ‘कोविद’ रखा गया है। बता दें, जुड़वां बच्चों में एक लड़का और एक लड़की है। जब बच्चों के माता-पिता से पुछा गया कि उन्होंने अपने बच्चों का नाम ‘कोरोना’ और ‘कोविद’ क्यों रखा तो उन्होंने कहा, “इस नाम से जिंदगी भर हमें याद रहेगा कि इतने महामारी में हमारे बच्चों का जन्म हुआ था औअर पूरा देश लॉकडाउन था। बात दें, इन दिनों बच्चों का जन्म 26-27 मार्च की रात सरकारी अस्पताल में हुआ था। अभी के लिए हमने इनका नाम ‘कोरोना’ और कोविद रखा है लकिन बाद में हम इनका नाम बदल देंगे। प्रीती वर्मा, 27 साल की महिला, जिन्होंने जुड़वां बच्चों को जन्म दिया उन्होंने कहा, “मैंने जुड़वां बच्चों को 27 मार्च जन्म दिया है- एक लड़का और एक लड़की है। हमने लड़के न नाम कोविद और लड़की का नाम कोरोना रखा है।’ प्रीती ने कहा, “बहुत मुश्किले सहने के बाद ये दो बच्चों का जन्म हुआ है इसलिए हम इस दिन को यादगार बनाना चाहते है। यह वायरस बहुत खतरनाक है और सभी इससे बचने के लिए बताये गए हाइजीन का इस्तेमाल कर रहे है। इसलिए हमने ये नाम रखने का फैसला लिया है। प्रीती वर्मा उत्तर प्रदेश की रहिवासी हैं लेकिन वह पुरानी बस्ती में किराय पर रहते है। प्रीती ने बताया, “26 मार्च की रात अचानक लेबर पैन शुरू हो गया और मेरे पति जैसे तैसे एम्बुलेंस का व्यवस्था कर पाए। लॉकडाउन के वजह से सड़कों पर एक भी गाड़ियां नहीं थी, हर जगह पुलिस गाड़ियां रोककर जांच कर रही थी। मुझे इस बात का डर लग रहा था कि रात का समय है ना जानें क्या होगा, लेकिन डॉक्टर और स्टाफ ने हमारा अच्छे से ध्यान रखा।”