1. हिन्दी समाचार
  2. तकनीक
  3. ट्विटर ने माना नए नियमों का ना पालन करने की बात, हाईकोर्ट ने कहा-सरकार कार्रवाई के लिए स्वतंत्र

ट्विटर ने माना नए नियमों का ना पालन करने की बात, हाईकोर्ट ने कहा-सरकार कार्रवाई के लिए स्वतंत्र

भारत सरकार की ओर से बनाए गए नए आईटी नियमों का ट्विटर ने पालन नहीं किया है। ट्विटर ने दिल्ली हाईकोर्ट में मंगलवार को ये माना है। इस पर हाईकोर्ट ने स्पष्ट कर दिया कि अब केंद्र सरकार ट्विटर पर कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है। इसके साथ ही कंपनी को सुरक्षा भी नहीं दी जा सकती है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। भारत सरकार की ओर से बनाए गए नए आईटी नियमों का ट्विटर ने पालन नहीं किया है। ट्विटर ने दिल्ली हाईकोर्ट में मंगलवार को ये माना है। इस पर हाईकोर्ट ने स्पष्ट कर दिया कि अब केंद्र सरकार ट्विटर पर कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है। इसके साथ ही कंपनी को सुरक्षा भी नहीं दी जा सकती है।

पढ़ें :- उपयोगकर्ताओं, शोधकर्ताओं को एल्गोरिदमिक पूर्वाग्रह खोजने के लिए 'इनाम' की पेशकश करेगा ट्विटर

इसके साथ ही हाईकोर्ट ने ट्विटर के ओर से की जा रही देरी पर भी नाराजगी जताई है। ट्विटर की ओर से शिकायत निवारण अधिकारी की नियुक्ति को लेकर देरी की जा रही है, जिस पर दिल्ली हाईकोर्ट ने नाराजगी जताई है।

दिल्ली हाईकोर्ट की न्यायमूर्ति रेखा पाली ने ट्विटर के प्रतिनिधियों से सवाल किया कि आपको इस प्रक्रिया में कितना और समय लगेगा। न्यायमूर्ति रेखा पाली ने कहा कि अगर ट्विटर को ये लगता है कि वो हमारे देश में जितना समय चाहे, उतना ले सकता है तो मैं इसकी अनुमति नहीं दूंगी।

बता दें कि भारत के नए आईटी नियमों के मुताबिक, देश में सभी सोशल मीडिया कंपनी को एक शिकायत निवारण अधिकारी की नियुक्ति करनी है। ट्विटर की ओर से अंतरिम शिकायत अधिकारी की नियुक्ति की गई थी, लेकिन उसने भी इस्तीफा दे दिया।

 

पढ़ें :- नए आईटी नियमों को चुनौती देने वाली फेसबुक, व्हाट्सएप की याचिका पर दिल्ली उच्च न्यायालय 27 अगस्त को करेगा सुनवाई

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...