‘टीचर’ की नौकरी का झांसा देकर ’32 हजार’ महिलाओं से ‘ढाई करोड़’ ठगे

Job fraud
'टीचर' की नौकरी का झांसा देकर '32 हजार' महिलाओं से 'ढाई करोड़' ठगे

लखनऊ। यूपी के आगरा में महिलाओं से ढाई करोड़ की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। बताया जा रहा है कि ए​क संस्था ने महिलाओं से शिक्षक बनाने के नाम पर 790 रुपये जमा कराए थे। कुछ दिनों में करीब 32 हजार महिलाएं इस संस्था से जुड़ गईं थीं।

Two And A Half Crores Cheated From 32 Thousand Women By Pretending To Be Teacher Jobs :

महिलाओं को जब कई महीनों तक नौकरी और पैसा नहीं मिला तब शिकायत करने पहुंची। लेकिन संस्था पर ताला लटक रहा था। जिसके बाद महिलाएं शिकायत के लिए थाना हरीपर्वत पहुंची, पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

बताया जा रहा है कि थाना सिकंदरा क्षेत्र में सार्थक वेलफेयर सोसायटी नामक संस्था ने आगरा में महिलाओं को अपनी संस्था से जोड़ा था। महिलाओं से 790 रुपये रजिस्ट्रेशन के नाम पर जमा कराए थे। इसके बाद उनसे कहा गया कि अपने साथ अन्य महिलाओं को जोड़ने पर उन्हें कमीशन दिया जाएगा।

महिलाओं ने अपने साथ अन्य महिलाओं को जोड़ा। कुछ समय में ही करीब 32 हजार महिलायें इस संस्था से जुड़ गई। संस्था ने महिलाओं से कहा कि वे प्रशिक्षण देकर उन्हें शिक्षक बनाएंगे। लेकिन, महीनों तक महिलाओं को न तो नौकरी दी गई और न ही उन्हें रुपये दिए गए। महिलाएं एकत्रित होकर थाना हरीपर्वत पहुंची और उन्होंने आरोप लगाए कि करीब ढाई करोड़ रुपये की ठगी कर संस्था फरार हो गई। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है।

लखनऊ। यूपी के आगरा में महिलाओं से ढाई करोड़ की ठगी का मामला प्रकाश में आया है। बताया जा रहा है कि ए​क संस्था ने महिलाओं से शिक्षक बनाने के नाम पर 790 रुपये जमा कराए थे। कुछ दिनों में करीब 32 हजार महिलाएं इस संस्था से जुड़ गईं थीं। महिलाओं को जब कई महीनों तक नौकरी और पैसा नहीं मिला तब शिकायत करने पहुंची। लेकिन संस्था पर ताला लटक रहा था। जिसके बाद महिलाएं शिकायत के लिए थाना हरीपर्वत पहुंची, पुलिस मामले की छानबीन कर रही है। बताया जा रहा है कि थाना सिकंदरा क्षेत्र में सार्थक वेलफेयर सोसायटी नामक संस्था ने आगरा में महिलाओं को अपनी संस्था से जोड़ा था। महिलाओं से 790 रुपये रजिस्ट्रेशन के नाम पर जमा कराए थे। इसके बाद उनसे कहा गया कि अपने साथ अन्य महिलाओं को जोड़ने पर उन्हें कमीशन दिया जाएगा। महिलाओं ने अपने साथ अन्य महिलाओं को जोड़ा। कुछ समय में ही करीब 32 हजार महिलायें इस संस्था से जुड़ गई। संस्था ने महिलाओं से कहा कि वे प्रशिक्षण देकर उन्हें शिक्षक बनाएंगे। लेकिन, महीनों तक महिलाओं को न तो नौकरी दी गई और न ही उन्हें रुपये दिए गए। महिलाएं एकत्रित होकर थाना हरीपर्वत पहुंची और उन्होंने आरोप लगाए कि करीब ढाई करोड़ रुपये की ठगी कर संस्था फरार हो गई। पुलिस फिलहाल मामले की जांच कर रही है।