इंदौर: ध्वजारोहण के बीच आपस में भिड़े कांग्रेस नेता, जमकर हुई हाथापाई

indaur-congress
इंदौर: ध्वजारोहण के बीच आपस में भिड़े कांग्रेस नेता, जमकर हुई हाथापाई

इंदौर। गणतंत्र दिवस के मौके पर मध्य प्रदेश के इंदौर में अलग ही नजारा देखने को मिला। यहां तिरंगा फहराने को लेकर दो कांग्रेसी नेता आपस में भिड़ गए। हालात ये हो गए कि कांग्रेस नेता देवेंद्र सिंह यादव और चंदू कुंजीर के बीच थप्पड़बाजी भी शुरू हो गयी। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने कांग्रेस के दोनों नेताओं को कड़ी मशक्कत के बाद अलग किया। मामला इंदौर स्थित कांग्रेस दफ्तर का है।

Two Congress Leader Indulge Into A Brawl Over Flag Hoisting In Indore :

दरअसल, कांग्रेस के इंदौर स्थित दफ्तर में सीएम कमलनाथ को ध्वजारोहण करना था। इस बीच पार्टी के दो नेताओं देवेंद्र सिंह यादव और चंदू कुंजीर के बीच हाथापाई हो गई। पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं और पुलिस को बीच-बचाव करना पड़ा। कांग्रेस नेता कुंजीर अपने साथ आए 10 से 15 लोगों को लेकर मुख्यमंत्री नाथ के लिए बने मंच तक पहुंचने के लिए बेरिकेट्स हटाकर घुसने लगे।

इस बीच देवेंद्र यादव ने कुंजीर को रोक दिया और कहा ऐसा करने से व्यवस्था बिगड़ेगी। रोकने से नाराज कुंजीर और यादव में कहासुनी होने के साथ देखते ही देखते ही हाथापाई शुरू हो गयी। विवाद बढ़ता देख पुलिस ने कुंजीर के साथ उन नेताओं को बाहर किया, जो व्यवस्था को बिगाड़ रहे थे।

इंदौर। गणतंत्र दिवस के मौके पर मध्य प्रदेश के इंदौर में अलग ही नजारा देखने को मिला। यहां तिरंगा फहराने को लेकर दो कांग्रेसी नेता आपस में भिड़ गए। हालात ये हो गए कि कांग्रेस नेता देवेंद्र सिंह यादव और चंदू कुंजीर के बीच थप्पड़बाजी भी शुरू हो गयी। मौके पर मौजूद पुलिसकर्मियों ने कांग्रेस के दोनों नेताओं को कड़ी मशक्कत के बाद अलग किया। मामला इंदौर स्थित कांग्रेस दफ्तर का है। दरअसल, कांग्रेस के इंदौर स्थित दफ्तर में सीएम कमलनाथ को ध्वजारोहण करना था। इस बीच पार्टी के दो नेताओं देवेंद्र सिंह यादव और चंदू कुंजीर के बीच हाथापाई हो गई। पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं और पुलिस को बीच-बचाव करना पड़ा। कांग्रेस नेता कुंजीर अपने साथ आए 10 से 15 लोगों को लेकर मुख्यमंत्री नाथ के लिए बने मंच तक पहुंचने के लिए बेरिकेट्स हटाकर घुसने लगे। इस बीच देवेंद्र यादव ने कुंजीर को रोक दिया और कहा ऐसा करने से व्यवस्था बिगड़ेगी। रोकने से नाराज कुंजीर और यादव में कहासुनी होने के साथ देखते ही देखते ही हाथापाई शुरू हो गयी। विवाद बढ़ता देख पुलिस ने कुंजीर के साथ उन नेताओं को बाहर किया, जो व्यवस्था को बिगाड़ रहे थे।