1. हिन्दी समाचार
  2. यूपी में दो करोड़ का पुल पानी छोड़ते ही हो गया धराशायी, पर्दा डालने में जुटे अधिकारी

यूपी में दो करोड़ का पुल पानी छोड़ते ही हो गया धराशायी, पर्दा डालने में जुटे अधिकारी

Two Crore Bridge In Up Collapsed As Soon As It Released Water Officials Engaged In Curtaining

By बलराम सिंह 
Updated Date

बिजनौर। बिजनौर के सुल्तानपुर माइनर नहर में पानी छोड़ने के दो घंटे बाद ही मध्य गंगा नहर पर बना पुल (जलसेतु) बिखर गया। करीब दो करोड़ की लागत से बनाए जा रहे इस संयुक्त पुल में अभी अप्रोच रोड का निर्माण होना बाकी था। निर्माण के बाद से यह पुल अब तक दो बार टूट चुका है। इस पुल के धराशायी होते ही अधिकारियों में हड़कंप मच गया। मौके पर पहुंचे अफसर कमियों पर पर्दा डालने की कोशिश में लगे रहे।

पढ़ें :- आज से राष्ट्रपति का काम संभालेंगे जो बाइडन, ट्रंप ने दी शुभकामनाएं

बिजनौर में गंगा बैराज से मध्य गंगा नहर निकाली गई है। मध्य गंगा नहर अभी निर्माणाधीन है। मध्य गंगा नहर के किलोमीटर 26 पर मुबारकपुर खादर में सुल्तानपुर माइनर नहर है। सुल्तानपुर माइनर का पानी मध्य गंगा नहर के ऊपर से गुजारने के लिए साइफन(जलसेतु) और सड़क पुल संयुक्त रूप से बनाया गया था। जलसेतु में नीचे पानी बहता और ऊपर से सड़क गुजरनी थी। जलसेतू लगभग बनकर तैयार हो चुका था। ऊपरी हिस्से में रास्ते को जोड़ने के लिए पुल अभी खोला भी नहीं गया था।

साइफन का निर्माण पूरा होने के कारण सुल्तानपुर माइनर में रविवार की तड़के पानी छोड़ दिया गया। नहर में पानी आया तो जलसेतु पानी के बहाव को नहीं झेल पाया। कुछ ही घंटों में जलसेतु ताश की पत्तों की तरह बिखर गया। इससे अधिकारियों में हड़कंप मच गया। सूत्रों की मानें तो दो करोड़ की लागत से इस संयुक्त पुल का निर्माण कराया गया था। लगभग काम भी हो चुका था। इससे पहले ही पानी के बहाव में पुल धराशायी हो गया। सूत्रों की मानें तो भ्रष्टाचार के चलते पुल निर्माण में मानकों का पालन नहीं किया गया है। निर्माण सामग्री में भी अनियमितता बरती गई।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...