लखनऊ में कोरोना से दो की मौत, 30 नए कोरोना संक्रमित, छह पत्रकार भी शामिल

corona
Coronavirus: राजधानी दिल्ली में मिले 1,192 नए संक्रमित, 23 लोगों की मौत

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना से मरने वालों के मामले बढ़ते जा रहे हैं। गुरुवार को दो और संक्रम‍ित मरीजों की मौत हो गई। इनसे से एक लखनऊ के कानपुर रोड एलडीए कालोनी निवासी मरीज था वहीं दूसरा दिल्ली निवासी है। दोनों का इलाज केजीएमयू में चल रहा था। वहींं राजधानी में गुरुवार को कई नए इलाकों में वायरस ने दस्तक दे दी है।

Two Killed By Corona In Lucknow 30 New Corona Infected Six Journalists Included :

गुरुवार को केजीएमयू में आए सैंपल में 30 और संक्रमित मिले हैं। इसमें आठ रिजर्व पुलिस लाइन, छह लोग एक चैनल के पत्रकार, चार मामले आलमबाग के प्रेमनगर, एक पारा, एक लोकबंधु का कर्मचारी व एक लोहिया का रेजीडेंट डॉक्टर भी शामिल है। अब तक राजधानी में कुल 916 मामले हो गए हैं। वहीं अयोध्या में 18, हरदोई में नौ व बाराबंकी में चार और सुलतानपुर में एक मामला सामने आया है।

उधर, डालीगंज स्थित जेसीपी कानून व्यवस्था नवीन अरोरा के कार्यालय में भी कोरोना संक्रमण पहुंच गया। यहां स्टॉफ के आठ पुलिसकर्मी संक्रमित हैं। इनके संपर्क में आए 21 पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन किया गया है। अन्य के बारे में जानकारी की जा रही है। कार्यालय को दो दिन के लिए बन्द कर सैनिटाइज किया जा रहा है।

पुलिस उपायुक्त यातायात का कार्यालय भी तीन दिन के लिए बन्द कर दिया गया है। ट्रैफिक लाइन को सैनिटाइज करने के बाद सोमवार से वहां काम शुरू होगा। पीएसी के बाद अब पुलिस के जवानों में कोरोना संक्रमण फैलना शुरू हुआ है।

कोरोना की चपेट में पुलिस, पीएसी, आरपीएफ आदि के 235 के करीब जवान संक्रिमत हो चुके हैं। इनमें 24 मई को पहली बार चार जीआरपी के जवान वायरस की चपेट में आए। वहीं अब तक 37 जीआरपी व छह आरपीएफ के जवान पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। वहीं 15 पुलिसकर्मी वायरस की गिरफ्त में आ चुके हैं। 11 जून को पीएसी 10 वीं बटालियन का एक जवान पॉजिटिव मिला। इसके बाद 12 वीं बटालियन के दो जवान की रिपोर्ट पॉजिटिव आई।

15 जून को 47 वीं बटालियन के एक जवान की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद 43 जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 21 जून को पीएसी के 18 जवान संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। 24 जून को 25 जवानों में वायरस मिले। इसके अलावा 10 जून पहली बार गोमतीनगर विभूति खंड स्थित सीएम हेल्पलाइन सेवा का संचालन करने वाली निजी कंपनी के कॉलसेंटर के नौ कर्मचारी संक्रमित मिले थे। अब तक 87कर्मचारियों में वायरस की पुष्टि हो चुकी है। वहीं पुलिस कर्मियों के परिवार से 19 लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया।

राजधानी में बुधवार को 64 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। इसमें 12 महिलाएं व 52 पुरुष हैं। इसमें 25 मरीज पीएसी के जवान हैं। 11 कर्मचारी प्रमिका लाइफ इंश्यारेंस कंपनी, मवैया के तीन मरीज, मौलवीगंज में एक मरीज, इंदिरा नगर में 10 मरीज, मड़ियांव में एक मरीज, एलडीए कॉलोनी के पांच मरीज, गौतम पल्ली के दो मरीज, रजनीखंड में एक मरीज, रश्मि खंड में एक मरीज, महानगर में दो मरीज, मलिहाबाद में एक मरीज, केजीएमयू के संक्रामक रोग वार्ड का एक कर्मी है।

हरदोई जिले में कोरोना की रफ्तार ने तेजी पकड़ ली है। गुरुवार की सुबह आई जांच रिपोर्ट में 9 लोग पॉजिटिव निकले है। जिसमें पांच लोग एक ही गांव के है। वहीं दो गांव में चार पॉजिटिव है। इनमें बिलग्राम के रडेना में पांच, कछौना के तेरवा में दो और भरावन के मुड़िया खेड़ा में दो है। अब तक जिले में 206 पॉजिटिव मिल चुके है। जिसमें 62 एक्टिव है।

वायरस का खतरा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में कांटेक्ट ट्रेसिंग का काम जोर कर दिया गया है। 32 टीमों ने सं क्रमित इलाकों में स्क्रीनिंग अभियान चलाया। इस दौरान 3217 घरों में 14453 लोगों का स्वास्थ्य ब्योरा जुटाया। साथ ही 516 संदिग्ध लोगों का सैंपल जुटाया।

शहर में मरीजों की संख्या 886 पहुंच गई है। वहीं मृतकों की संख्या 15 है। सीएमओ की टीम ने निजी इंश्योरेंस कंपनी के दफ्तर काे बंद कर सैनिटाइज करने के निर्देश दिए हैं। साथ पीएसी व इंश्यारेंस कंपनी समेत संक्रमित परिवारों के संपर्क में आए लोगों की सूची तलब की है।

शहर में पहला केस 11 मार्च का आया। इस दौरान मार्च में सिर्फ नौ मरीज रहे। वहीं अप्रैल में 214 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई। इसके अलावा मई में 174 लोग संक्रमण की जद में आए हैं। वहीं जून में मरीजाें का रिकॉर्ड टूट गया। जून में अब तक 507 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई। इसमें मार्च, अप्रैल, मई में गैर जनपदों के शहर में पाए गए पॉजिटिव मरीजों की संख्या हटा दी गई। वहीं दूसरे प्रदेशों के मरीज 70 के करीब शामिल हैं। ऐसे में शहर में कुल मरीजों की संख्या 886 हुई है।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में कोरोना से मरने वालों के मामले बढ़ते जा रहे हैं। गुरुवार को दो और संक्रम‍ित मरीजों की मौत हो गई। इनसे से एक लखनऊ के कानपुर रोड एलडीए कालोनी निवासी मरीज था वहीं दूसरा दिल्ली निवासी है। दोनों का इलाज केजीएमयू में चल रहा था। वहींं राजधानी में गुरुवार को कई नए इलाकों में वायरस ने दस्तक दे दी है। गुरुवार को केजीएमयू में आए सैंपल में 30 और संक्रमित मिले हैं। इसमें आठ रिजर्व पुलिस लाइन, छह लोग एक चैनल के पत्रकार, चार मामले आलमबाग के प्रेमनगर, एक पारा, एक लोकबंधु का कर्मचारी व एक लोहिया का रेजीडेंट डॉक्टर भी शामिल है। अब तक राजधानी में कुल 916 मामले हो गए हैं। वहीं अयोध्या में 18, हरदोई में नौ व बाराबंकी में चार और सुलतानपुर में एक मामला सामने आया है। उधर, डालीगंज स्थित जेसीपी कानून व्यवस्था नवीन अरोरा के कार्यालय में भी कोरोना संक्रमण पहुंच गया। यहां स्टॉफ के आठ पुलिसकर्मी संक्रमित हैं। इनके संपर्क में आए 21 पुलिसकर्मियों को क्वारंटाइन किया गया है। अन्य के बारे में जानकारी की जा रही है। कार्यालय को दो दिन के लिए बन्द कर सैनिटाइज किया जा रहा है। पुलिस उपायुक्त यातायात का कार्यालय भी तीन दिन के लिए बन्द कर दिया गया है। ट्रैफिक लाइन को सैनिटाइज करने के बाद सोमवार से वहां काम शुरू होगा। पीएसी के बाद अब पुलिस के जवानों में कोरोना संक्रमण फैलना शुरू हुआ है। कोरोना की चपेट में पुलिस, पीएसी, आरपीएफ आदि के 235 के करीब जवान संक्रिमत हो चुके हैं। इनमें 24 मई को पहली बार चार जीआरपी के जवान वायरस की चपेट में आए। वहीं अब तक 37 जीआरपी व छह आरपीएफ के जवान पॉजिटिव पाए जा चुके हैं। वहीं 15 पुलिसकर्मी वायरस की गिरफ्त में आ चुके हैं। 11 जून को पीएसी 10 वीं बटालियन का एक जवान पॉजिटिव मिला। इसके बाद 12 वीं बटालियन के दो जवान की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 15 जून को 47 वीं बटालियन के एक जवान की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। इसके बाद 43 जवानों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई। 21 जून को पीएसी के 18 जवान संक्रमण की चपेट में आ गए हैं। 24 जून को 25 जवानों में वायरस मिले। इसके अलावा 10 जून पहली बार गोमतीनगर विभूति खंड स्थित सीएम हेल्पलाइन सेवा का संचालन करने वाली निजी कंपनी के कॉलसेंटर के नौ कर्मचारी संक्रमित मिले थे। अब तक 87कर्मचारियों में वायरस की पुष्टि हो चुकी है। वहीं पुलिस कर्मियों के परिवार से 19 लोगों में कोरोना पॉजिटिव पाया गया। राजधानी में बुधवार को 64 लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई। इसमें 12 महिलाएं व 52 पुरुष हैं। इसमें 25 मरीज पीएसी के जवान हैं। 11 कर्मचारी प्रमिका लाइफ इंश्यारेंस कंपनी, मवैया के तीन मरीज, मौलवीगंज में एक मरीज, इंदिरा नगर में 10 मरीज, मड़ियांव में एक मरीज, एलडीए कॉलोनी के पांच मरीज, गौतम पल्ली के दो मरीज, रजनीखंड में एक मरीज, रश्मि खंड में एक मरीज, महानगर में दो मरीज, मलिहाबाद में एक मरीज, केजीएमयू के संक्रामक रोग वार्ड का एक कर्मी है। हरदोई जिले में कोरोना की रफ्तार ने तेजी पकड़ ली है। गुरुवार की सुबह आई जांच रिपोर्ट में 9 लोग पॉजिटिव निकले है। जिसमें पांच लोग एक ही गांव के है। वहीं दो गांव में चार पॉजिटिव है। इनमें बिलग्राम के रडेना में पांच, कछौना के तेरवा में दो और भरावन के मुड़िया खेड़ा में दो है। अब तक जिले में 206 पॉजिटिव मिल चुके है। जिसमें 62 एक्टिव है। वायरस का खतरा लगातार बढ़ रहा है। ऐसे में कांटेक्ट ट्रेसिंग का काम जोर कर दिया गया है। 32 टीमों ने सं क्रमित इलाकों में स्क्रीनिंग अभियान चलाया। इस दौरान 3217 घरों में 14453 लोगों का स्वास्थ्य ब्योरा जुटाया। साथ ही 516 संदिग्ध लोगों का सैंपल जुटाया। शहर में मरीजों की संख्या 886 पहुंच गई है। वहीं मृतकों की संख्या 15 है। सीएमओ की टीम ने निजी इंश्योरेंस कंपनी के दफ्तर काे बंद कर सैनिटाइज करने के निर्देश दिए हैं। साथ पीएसी व इंश्यारेंस कंपनी समेत संक्रमित परिवारों के संपर्क में आए लोगों की सूची तलब की है। शहर में पहला केस 11 मार्च का आया। इस दौरान मार्च में सिर्फ नौ मरीज रहे। वहीं अप्रैल में 214 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई। इसके अलावा मई में 174 लोग संक्रमण की जद में आए हैं। वहीं जून में मरीजाें का रिकॉर्ड टूट गया। जून में अब तक 507 मरीजों में वायरस की पुष्टि हुई। इसमें मार्च, अप्रैल, मई में गैर जनपदों के शहर में पाए गए पॉजिटिव मरीजों की संख्या हटा दी गई। वहीं दूसरे प्रदेशों के मरीज 70 के करीब शामिल हैं। ऐसे में शहर में कुल मरीजों की संख्या 886 हुई है।