यूपी में घुसे लश्कर के दो आतंकी, सुरक्षा एजेंसियां हुई अलर्ट, अयोध्या में शुरू हुआ संघन चेकिंग अभियान

Lashkar terrorists
यूपी में घुसे लश्कर के दो आतंकी, सुरक्षा एजेंसियां हुई अलर्ट, अयोध्या में शुरू हुआ संघन चेकिंग अभियान

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लश्कर के दो आतंकियों के दाखिल होने की खबर मिलते ही सुरक्षा एजेंसियां एलर्ट हो गयी हैं। सुरक्षा एजेंसियों को दोनो आतंकियों को बस्ती रेंज तक आने की खबर मिली है। वहीं, इसको लेकर अयोध्या में संघन चेकिंग अभियान शुरू कर दिया गया है। अयोध्या आने वाले वाहनों की सघन तलाशी व कागजात जांचे जा रहे हैं।

Two Lashkar Terrorists Entered In Up Security Agencies Alert Condensation Checking Campaign Started In Ayodhya :

एसपी सिटी विजय पाल सिंह ने बताया कि गोरखपुर आईजी कार्यालय से खुफिया इनपुट मिलने के बाद सतर्कता बरती जा रही है। वहीं, इस इनपुट के बाद रामनगरी में सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक दक्षिण भारत से जुड़े दोनों आतंकियों ख्वाजा मोइनद्दीन व अब्दुल समद की पहचान के साथ फोटो भी पुलिस को सर्कुलेट की गई है।

खुफिया एजेंसी का मानना है कि सतर्कता के कारण आतंकी भारत-नेपाल से सटे किसी जिले से नेपाल भाग सकते हैं। वहीं, इनकी तलाश के लिए गोरखपुर जोन में हाईअलर्ट जारी किया गया है। आखिरी बार दोनों को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में देखा गया था। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) से जुड़े दक्षिण भारत में सक्रिय रहे ख्वाजा मोइनद्दीन को सितम्बर 2017 में एनआईए ने चेन्नई से पकड़ा था।

खुफिया सूत्रों के मुताबिक, दोनों आतंकी 16 दिसंबर तक पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में देखे गए थे। पता चला है कि मौजूदा समय में दोनों यूपी में प्रवेश कर चुके हैं। इसके लिए गोरखपुर जोन के महराजगंज, कुशीनगर और सिद्धार्थनगर जिला सबसे मुफीद हैं। तीनों जिलों की सीमा नेपाल से जुड़ी हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में लश्कर के दो आतंकियों के दाखिल होने की खबर मिलते ही सुरक्षा एजेंसियां एलर्ट हो गयी हैं। सुरक्षा एजेंसियों को दोनो आतंकियों को बस्ती रेंज तक आने की खबर मिली है। वहीं, इसको लेकर अयोध्या में संघन चेकिंग अभियान शुरू कर दिया गया है। अयोध्या आने वाले वाहनों की सघन तलाशी व कागजात जांचे जा रहे हैं। एसपी सिटी विजय पाल सिंह ने बताया कि गोरखपुर आईजी कार्यालय से खुफिया इनपुट मिलने के बाद सतर्कता बरती जा रही है। वहीं, इस इनपुट के बाद रामनगरी में सुरक्षा के विशेष इंतजाम किए गए हैं। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक दक्षिण भारत से जुड़े दोनों आतंकियों ख्वाजा मोइनद्दीन व अब्दुल समद की पहचान के साथ फोटो भी पुलिस को सर्कुलेट की गई है। खुफिया एजेंसी का मानना है कि सतर्कता के कारण आतंकी भारत-नेपाल से सटे किसी जिले से नेपाल भाग सकते हैं। वहीं, इनकी तलाश के लिए गोरखपुर जोन में हाईअलर्ट जारी किया गया है। आखिरी बार दोनों को पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में देखा गया था। खुफिया एजेंसियों के मुताबिक, अंतरराष्ट्रीय आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (IS) से जुड़े दक्षिण भारत में सक्रिय रहे ख्वाजा मोइनद्दीन को सितम्बर 2017 में एनआईए ने चेन्नई से पकड़ा था। खुफिया सूत्रों के मुताबिक, दोनों आतंकी 16 दिसंबर तक पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी में देखे गए थे। पता चला है कि मौजूदा समय में दोनों यूपी में प्रवेश कर चुके हैं। इसके लिए गोरखपुर जोन के महराजगंज, कुशीनगर और सिद्धार्थनगर जिला सबसे मुफीद हैं। तीनों जिलों की सीमा नेपाल से जुड़ी हैं।