Grahan 2020: पांच जून से पांच जुलाई के बीच लगेंगे 3 ग्रहण

Chandra Grahan 2020: जानें दुनियाभर में कितने बजे कहां दिखेगा चंद्र ग्रहण
Grahan 2020: पांच जून से पांच जुलाई के बीच लगेंगे 3 ग्रहण

लखनऊ। अगले माह यानि जून में तीन ग्रहण लग रहे हैं जोकि शुभ नहीं हैं। दरअसल, पांच जून से लेकर पांच जुलाई के बीच दो चंद्र और एक सूर्य ग्रहण लगेंगे लेकिन इसे शुभ नहीं माना जा रहा है। ज्योतिष विद्वानों के अनुसार जब भी एक माह में दो से अधिक ग्रहण होते हैं तो परिणाम शुभ नहीं होता है। ऐसी खरमंडल की स्थिति में पूजा अनुष्ठान से ही प्रतिकूल स्थिति को मात दिया जा सकता है।

Two Lunar Eclipses In The Month Of June And Solar Ecilipse In July :

ज्योतिष के अनुसार एक माह में तीन ग्रहण से देश में कई तरह की समस्या हो सकती है। ग्रहण 5 जून से है। रात 11.15 बजे समाप्ति होगी। 6 जून को 2.34 बजे चंद्र ग्रहण है जिसमे शुक्र वक्री और अस्त रहेगा। गुरु शनि वक्री जैसे तीन ग्रह वक्री रहेंगे, जिसके कारण प्रभाव भारत की अर्थव्यवस्था पर होगा। शेयर बाजार से जुड़े हुए लोग सावधान रहें। यह ग्रहण वृश्चिक राशि पर बुरा प्रभाव डालेगा। किसी ख्यातिप्राप्त व्यक्ति की रहस्यात्मक मौत भी हो सकती है। इसके अलावा परिवार में वाद विवाद का सामना करना पड़ सकता है।

5 जून 2020 चंद्र ग्रहण

रात्रि को 11 बजकर 15 मिनट से 6 जून को 2 बजकर 34 मिनट तक
कहां दिखाई देगा: भारत, यूरोप, अफ्रीक, एशिया और ऑस्ट्रेलिया

21 जून 2020 सूर्य ग्रहण

21 जून की सुबह 9 बजकर 15 मिनट से दोपहर 15 बजकर 03 मिनट तक
भारत, दक्षिण पूर्व यूरोप और एशिया

5 जुलाई 2020 चंद्र ग्रहण

सुबह 08 बजकर 37 मिनट से 11 बजकर 22 मिनट तक
अमेरिका, दक्षिण पूर्व यूरोप और अफ्रीका

लखनऊ। अगले माह यानि जून में तीन ग्रहण लग रहे हैं जोकि शुभ नहीं हैं। दरअसल, पांच जून से लेकर पांच जुलाई के बीच दो चंद्र और एक सूर्य ग्रहण लगेंगे लेकिन इसे शुभ नहीं माना जा रहा है। ज्योतिष विद्वानों के अनुसार जब भी एक माह में दो से अधिक ग्रहण होते हैं तो परिणाम शुभ नहीं होता है। ऐसी खरमंडल की स्थिति में पूजा अनुष्ठान से ही प्रतिकूल स्थिति को मात दिया जा सकता है। ज्योतिष के अनुसार एक माह में तीन ग्रहण से देश में कई तरह की समस्या हो सकती है। ग्रहण 5 जून से है। रात 11.15 बजे समाप्ति होगी। 6 जून को 2.34 बजे चंद्र ग्रहण है जिसमे शुक्र वक्री और अस्त रहेगा। गुरु शनि वक्री जैसे तीन ग्रह वक्री रहेंगे, जिसके कारण प्रभाव भारत की अर्थव्यवस्था पर होगा। शेयर बाजार से जुड़े हुए लोग सावधान रहें। यह ग्रहण वृश्चिक राशि पर बुरा प्रभाव डालेगा। किसी ख्यातिप्राप्त व्यक्ति की रहस्यात्मक मौत भी हो सकती है। इसके अलावा परिवार में वाद विवाद का सामना करना पड़ सकता है। 5 जून 2020 चंद्र ग्रहण रात्रि को 11 बजकर 15 मिनट से 6 जून को 2 बजकर 34 मिनट तक कहां दिखाई देगा: भारत, यूरोप, अफ्रीक, एशिया और ऑस्ट्रेलिया 21 जून 2020 सूर्य ग्रहण 21 जून की सुबह 9 बजकर 15 मिनट से दोपहर 15 बजकर 03 मिनट तक भारत, दक्षिण पूर्व यूरोप और एशिया 5 जुलाई 2020 चंद्र ग्रहण सुबह 08 बजकर 37 मिनट से 11 बजकर 22 मिनट तक अमेरिका, दक्षिण पूर्व यूरोप और अफ्रीका