1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP STF ने Mukhtar Ansari के दो शूटरों को किया ढ़ेर, लखनऊ के बड़े कारोबारी को मारने की ली थी सुपारी

UP STF ने Mukhtar Ansari के दो शूटरों को किया ढ़ेर, लखनऊ के बड़े कारोबारी को मारने की ली थी सुपारी

बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) भले ही जेल बंद हैं, लेकिन जेल से अपराध की दुनिया में उसका जलजला और दखलअंदाजी खत्म होती नहीं दिख रही है। यूपी एसटीएफ (UP STF) ने बीते बुधवार रात मुख्तार के दो शार्प शूटर अलीशेर उर्फ डॉक्टर और कामरान उर्फ बन्नू को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश (STF ADG Amitabh Yash) ने बताया कि दोनों शार्प शूटर पुराने लखनऊ के एक बड़े कारोबारी की हत्या (Businessman of Lucknow) के इरादे से आए थे।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) भले ही जेल बंद हैं, लेकिन जेल से अपराध की दुनिया में उसका जलजला और दखलअंदाजी खत्म होती नहीं दिख रही है। यूपी एसटीएफ (UP STF) ने बीते बुधवार रात मुख्तार के दो शार्प शूटर अलीशेर उर्फ डॉक्टर (Alisher aka Doctor) और कामरान उर्फ बन्नू (Kamran alias Bannu) को एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। यूपी एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश (STF ADG Amitabh Yash) ने बताया कि दोनों शार्प शूटर पुराने लखनऊ के एक बड़े कारोबारी की हत्या (Businessman of Lucknow) के इरादे से आए थे।

पढ़ें :- UPTET Paper Leak: यूपी STF ने सचिवालय के संविदा कर्मी को भी दबोचा, अभी तक 29 गिरफ्तार

उन्होंने बताया कि इससे पहले दोनों अपने मंसूबों में कामयाब होते यूपी एसटीएफ (UP STF)  को भनक लग गई। यूपी एसटीएफ (UP STF)  दोनों को पकड़ने पहुंची थी। तभी हुई मुठभेड़ में यूपी एसटीएफ (UP STF) ने दोनों शार्प शूटर मारे गए। अलीशेर पर पुलिस ने एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया था जबकि कामरान 25 हज़ार रुपये का इनामी था।

एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश (STF ADG Amitabh Yash) ने बताया कि अलीशेर उर्फ डॉक्टर और कामरान उर्फ बन्नू आजमगढ़ के रहने वाले थे। उन्होंने बताया कि दोनों ने पुराने लखनऊ के बड़े कारोबारी को मारने की सुपारी ली थी। दोनों कई दिन से लखनऊ में छिप कर रह रहे थे। बुधवार देर शाम एसटीएफ को दोनों की लोकेशन मड़ियांव थाना (madiyanv Police Station)  क्षेत्र के फैजुल्लागंज इलाके (Faizullaganj Localities) में मिली।

एसटीएफ के एएसपी विशाल विक्रम (STF ASP Vishal Vikram) अपनी टीम लेकर फैजुल्लागंज (Faizullaganj) पहुंचे और दोनों की तलाश शुरू कर दी है। बंधा रोड पर संदिग्ध किस्म के दो व्यक्ति बाइक से आते हुए दिखे। एसटीएफ (STF) की टीम ने उन्हें रुकने का इशारा किया तो दोनों बाइक मोड़ कर भागने लगे। इस प्रयास में उनकी बाइक फिसलकर गिर पड़ी। दोनों बदमाश सड़क से नीचे उतरकर बगीचे की तरफ भागे और पेड़ की आड़ लेकर फायरिंग करने लगे। पुलिस ने भी तीन तरफ से घेराबंदी करके जवाबी फायरिंग की जिसमें दोनों को गोली लग गई। उन्हें अस्पताल ले जाया गया जहां चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। बदमाशों के पास से एक 30 एमएम की कार्बाइन, दो पिस्टल, एक तमंचा और कारतूस बरामद हुए हैं।

झारखंड में सुपारी लेकर की थी भाजपा नेता की हत्या

पढ़ें :- UPTET Paper Leaked : डॉ. सतीश द्विवेदी बोले-UP STF को सौंपी गई जांच, एक माह के अंदर होगी दोबारा परीक्षा

अलीशेर उर्फ डॉक्टर (Alisher aka Doctor)  ने झारखंड में भाजपा अनुसूचित जनजाति मोर्चा के जिला अध्यक्ष जीतराम मुंडा (Jitram Munda) की हत्या की थी। इस सनसनीखेज वारदात के बाद ही उस पर एक लाख रुपये का इनाम घोषित किया गया था। एसटीएफ के एडीजी अमिताभ यश ने बताया कि अलीशेर ने 22 सितंबर को जीतराम मुंडा (Jitram Munda) की हत्या की थी और इसके लिए उसने 5 लाख रुपये सुपारी ली थी। इससे पहले आजमगढ़ में बसपा नेता कलीमुद्दीन की हत्या में भी वह शामिल था। कलीमुद्दीन की हत्या के बाद अलीशेर दुबई भाग गया था। पुलिस सूत्रों का यह भी कहना है कि कलीमुद्दीन की हत्या दुबई के एक कारोबारी ने 2 लाख रुपये सुपारी देकर कराई थी।

अलीशेर पर हत्या, लूट और बलवा के 19 मुकदमे

अलीशेर एक बहुत ही शातिर शार्प शूटर था और उसका निशाना कभी नहीं चूकता था। आजमगढ़ और मऊ में उसके खिलाफ हत्या, हत्या के प्रयास, लूट बलवा, धोखाधड़ी और गैंगस्टर के 19 मुकदमे दर्ज हैं। यह मुकदमे देवगांव, बरहद, मेहनगर, मोहम्मदाबाद और रानी की सराय थानों में है। कामरान उर्फ बन्नू के खिलाफ भी आजमगढ़ के गंभीरपुर थाना में धोखाधड़ी, बलवा, गाली-गलौज, जानमाल की धमकी के दो मुकदमे दर्ज हैं।

शार्प शूटरों के पास कहां से आई कार्बाइन, जांच में जुटी पुलिस

मुख्तार के शार्प शूटर अलीशेर उर्फ डॉक्टर (Alisher aka Doctor)  के पास 30 एमएम की कार्बाइन कहां से आई? यह बड़ा सवाल है। एसटीएफ इसकी जांच में जुट गई है। एसटीएफ के अधिकारियों को आशंका है कि कहीं अलीशेर (Alisher) ने कार्बाइन किसी पुलिसकर्मी से ही तो नहीं छीनी थी। एसटीएफ (STF)उत्तर प्रदेश के साथ ही बिहार, झारखंड और छत्तीसगढ़ पुलिस से भी कार्बाइन के बारे में जानकारी जुटा रही है।

पढ़ें :- Encounter: मुठभेड़ में मारे गए दो इनामी बदमाश, मुख्तार के गैंग से जुड़े थे कुख्यात

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...