जम्मू-कश्मीरः शोपियां मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, पुलिस से आतंकी बना तारिक भी मारा गया

indian army
जम्मू-कश्मीरः शोपियां मुठभेड़ में दो आतंकी ढेर, पुलिस से आतंकी बना तारिक भी मारा गया

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़ के दौरान दो आतंकियों को ढेर कर दिया गया है। भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किया गया है।

Two Terrorists Neutralized In Jammu Kashmir Y Security Forces :

पुलिस अधिकारी ने बताया कि हिन्दसीतापुर में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद 34 राष्ट्रीय रायफल्स, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने इलाके में घेराबंदी की। इसके बाद आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच फायरिंग होने लगी।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों को देखते ही आतंकियों ने उनपर फायरिंग कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने गांव में छूपे आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया और दो आतंकियों को ढेर कर दिया। मारे गए आतंकियों के शव बरामद हो गए हैं।

मारे गए दोनों आतंकी लश्कर के जुड़े हुए थे और कई हमलों शामिल थे। इनके पास भारी मात्रा में गोला बारूद और हथियार बरामद हुए हैं। इनकी पहचान निकलूरा के बशारत अहमद और खासी पूरा के रहने वाले तारिक अहमद के तौर पर हुई है।

सूत्रों की माने तो तारिक अहमद एसपीओ था और यह पाखेरपूरा में तैनात था। पिछले साल 26 अप्रैल को यह अपनी सर्विस राइफल के साथ फरार हो गया था और आतंकी संगठन लश्कर में शामिल हो गया था। मुठभेड़ के बाद सुरक्षा के लिहाज से पूरे दक्षिण कश्मीर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।

नई दिल्ली। जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में मुठभेड़ के दौरान दो आतंकियों को ढेर कर दिया गया है। भारी मात्रा में हथियार और गोला-बारूद भी बरामद किया गया है। पुलिस अधिकारी ने बताया कि हिन्दसीतापुर में आतंकियों के छिपे होने की सूचना मिलने के बाद 34 राष्ट्रीय रायफल्स, एसओजी और सीआरपीएफ की संयुक्त टीम ने इलाके में घेराबंदी की। इसके बाद आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच फायरिंग होने लगी। पुलिस अधिकारी ने बताया कि सुरक्षाबलों को देखते ही आतंकियों ने उनपर फायरिंग कर दी। इसके बाद सुरक्षाबलों ने गांव में छूपे आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन चलाया और दो आतंकियों को ढेर कर दिया। मारे गए आतंकियों के शव बरामद हो गए हैं। मारे गए दोनों आतंकी लश्कर के जुड़े हुए थे और कई हमलों शामिल थे। इनके पास भारी मात्रा में गोला बारूद और हथियार बरामद हुए हैं। इनकी पहचान निकलूरा के बशारत अहमद और खासी पूरा के रहने वाले तारिक अहमद के तौर पर हुई है। सूत्रों की माने तो तारिक अहमद एसपीओ था और यह पाखेरपूरा में तैनात था। पिछले साल 26 अप्रैल को यह अपनी सर्विस राइफल के साथ फरार हो गया था और आतंकी संगठन लश्कर में शामिल हो गया था। मुठभेड़ के बाद सुरक्षा के लिहाज से पूरे दक्षिण कश्मीर में इंटरनेट सेवा बंद कर दी गई है।