UC Browser का चौंकाने वाला सर्वे: 69% लोग फिट रहने के लिए योग के भरोसे, जिम का क्रेज हुआ कम

uc-browser-srvey
UC Browser का चौंकाने वाला सर्वे: 69% लोग फिट रहने के लिए योग के भरोसे, जिम का क्रेज हुआ कम

नई दिल्ली। 21 जून को दुनियाभर में 5वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। पीएम नरेंद्र मोदी की कोशिशों के बाद सिर्फ 5 साल में योग दुनियाभर में फेमस हो चुका है। 2014 में मोदी की कोशिशों के बाद ही यूनाइडेट नेशन ने 21 जून तो अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था।

Uc Browser Survey Yoga Day :

आज योग की महत्वता का आलम ये है कि सिर्फ महिलाएं और बुजुर्ग ही नहीं बल्कि नौजवान भी जिम की जगह योग को तवज्जो दे रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर UC Browser ने एक सर्वे किया कि यूजर्स फिट रहने के लिए जिम और योग में से किस पर ज्यादा विश्वास करते हैं। करीब 50 हजार हिंदी यूजर्स ने इस सर्वे में हिस्सा लिया। नतीजे चौंकाने वाले थे क्योंकि 69% लोगों का कहना था कि वो फिट रहने के लिए योग करते हैं, जिम नहीं जाते।

लेकिन UC Browser पर ही करीब 8000 इंग्लिश यूजर्स के बीच हुए सर्वे के रिजल्ट इससे अलग थे। वहां 55% यूजर्स ने कहा कि वो फिट रहने के लिए योग करते हैं जबकि 45% यूजर्स अभी भी योग से ज्यादा जिम को इंपोर्टेंस देते हैं। आंकड़ों से साफ है कि योग के प्रचार प्रसार की पीएम मोदी की मुहीम रंग ला रही है और सिर्फ 5 सालों में ही ज्यादातर लोग फिट रहने के लिए जिम की अपेक्षा योग पर ज्यादा भरोसा कर रहे हैं।

नई दिल्ली। 21 जून को दुनियाभर में 5वां अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाया गया। पीएम नरेंद्र मोदी की कोशिशों के बाद सिर्फ 5 साल में योग दुनियाभर में फेमस हो चुका है। 2014 में मोदी की कोशिशों के बाद ही यूनाइडेट नेशन ने 21 जून तो अंतरराष्ट्रीय योग दिवस घोषित किया था। आज योग की महत्वता का आलम ये है कि सिर्फ महिलाएं और बुजुर्ग ही नहीं बल्कि नौजवान भी जिम की जगह योग को तवज्जो दे रहे हैं। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के मौके पर UC Browser ने एक सर्वे किया कि यूजर्स फिट रहने के लिए जिम और योग में से किस पर ज्यादा विश्वास करते हैं। करीब 50 हजार हिंदी यूजर्स ने इस सर्वे में हिस्सा लिया। नतीजे चौंकाने वाले थे क्योंकि 69% लोगों का कहना था कि वो फिट रहने के लिए योग करते हैं, जिम नहीं जाते। लेकिन UC Browser पर ही करीब 8000 इंग्लिश यूजर्स के बीच हुए सर्वे के रिजल्ट इससे अलग थे। वहां 55% यूजर्स ने कहा कि वो फिट रहने के लिए योग करते हैं जबकि 45% यूजर्स अभी भी योग से ज्यादा जिम को इंपोर्टेंस देते हैं। आंकड़ों से साफ है कि योग के प्रचार प्रसार की पीएम मोदी की मुहीम रंग ला रही है और सिर्फ 5 सालों में ही ज्यादातर लोग फिट रहने के लिए जिम की अपेक्षा योग पर ज्यादा भरोसा कर रहे हैं।