शिवसेना पर भड़के शिवाजी के वंशज उदयनराजे, कहा- आपका समय खत्म, खुद को ‘ठाकरे सेना’ कहें

shivaji
शिवसेना पर भड़के शिवाजी के वंशज उदयनराजे, कहा- आपका समय खत्म, खुद को 'ठाकरे सेना' कहें

मुंबई। आज के शिवाजी: नरेंद्र मोदी’ किताब पर मचे बवाल के बीच पूर्व सांसद और छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज उदयनराजे भोसले ने उद्धव ठाकरे की शिवसेना पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, ‘मैं आपको बता देता हूं कि आपका समय चला गया। खुद को शिवसेना कहना बंद कर ठाकरे सेना कहना शुरू कर दें। महाराष्ट्र की जनता मुर्ख नहीं है।’  

Udayanraje A Descendant Of Shivaji Raging On Shiv Sena Said Your Time Is Over Call Yourself Thackeray Army :

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी से करने वाली किताब को शिवसेना ने ‘पाखंड और चाटुकारिता की हद बताया और जोर देकर कहा कि मोदी भारत के राजा नहीं हैं। मुखपत्र सामना के संपादकीय में शिवसेना ने भाजपा नेताओं को छत्रपति शिवाजी पर कुछ किताबें पढ़ने की सलाह दी और कहा कि यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी 17वीं सदी के मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी से तुलना पसंद नहीं आई होगी।

इसमें कहा गया कि महाराष्ट्र में गुस्से की लहर है लेकिन यह प्रधानमंत्री के खिलाफ नहीं बल्कि “आज का शिवाजी: नरेंद्र मोदी किताब के खिलाफ हैं। किताब भाजपा के नेता जय भगवान गोयल ने लिखी है। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है। शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस ने किताब की आलोचना की और मोदी की तुलना शिवाजी महाराज से किए जाने को अपमान बताया।

पांच महीने पहले तक एनसीपी के सांसद थे लेकिन महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने इस्तीफा दे दिया और बीजेपी में शामिल हो गए। विधानसभा चुनाव के साथ हुए लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार उदयनराजे भोसले एनसीपी के उम्मीदवार के सामने हार गए। उदयनराजे भोसले के अलावा छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज छत्रपति संभाजी राजे राज्यसभा सांसद हैं।

 
 

मुंबई। आज के शिवाजी: नरेंद्र मोदी' किताब पर मचे बवाल के बीच पूर्व सांसद और छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज उदयनराजे भोसले ने उद्धव ठाकरे की शिवसेना पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा, 'मैं आपको बता देता हूं कि आपका समय चला गया। खुद को शिवसेना कहना बंद कर ठाकरे सेना कहना शुरू कर दें। महाराष्ट्र की जनता मुर्ख नहीं है।'   वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना छत्रपति शिवाजी से करने वाली किताब को शिवसेना ने 'पाखंड और चाटुकारिता की हद बताया और जोर देकर कहा कि मोदी भारत के राजा नहीं हैं। मुखपत्र सामना के संपादकीय में शिवसेना ने भाजपा नेताओं को छत्रपति शिवाजी पर कुछ किताबें पढ़ने की सलाह दी और कहा कि यहां तक कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी 17वीं सदी के मराठा योद्धा छत्रपति शिवाजी से तुलना पसंद नहीं आई होगी। इसमें कहा गया कि महाराष्ट्र में गुस्से की लहर है लेकिन यह प्रधानमंत्री के खिलाफ नहीं बल्कि "आज का शिवाजी: नरेंद्र मोदी किताब के खिलाफ हैं। किताब भाजपा के नेता जय भगवान गोयल ने लिखी है। इससे महाराष्ट्र में राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया है। शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस ने किताब की आलोचना की और मोदी की तुलना शिवाजी महाराज से किए जाने को अपमान बताया। पांच महीने पहले तक एनसीपी के सांसद थे लेकिन महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने इस्तीफा दे दिया और बीजेपी में शामिल हो गए। विधानसभा चुनाव के साथ हुए लोकसभा उपचुनाव में बीजेपी के उम्मीदवार उदयनराजे भोसले एनसीपी के उम्मीदवार के सामने हार गए। उदयनराजे भोसले के अलावा छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज छत्रपति संभाजी राजे राज्यसभा सांसद हैं।