1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. Uddhav government crisis: ​बागी विधायकों की पत्नियों से संपर्क में रश्मि ठाकरे, उद्धव ने भेजा एसएमएस

Uddhav government crisis: ​बागी विधायकों की पत्नियों से संपर्क में रश्मि ठाकरे, उद्धव ने भेजा एसएमएस

महाराष्ट्र में सियासी खींचतान मची हुई है। शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के बीच अब और ज्यादा विवाद बढ़ता जा रहा है। शिवसेना नेता अब लगातार बागी तेवर दिखा रहे हैं। संजय राउत ने भी बागी विधायकों को लेकर सख्त रवैया अपनाया है। इन सबके बीच खबर आ रही है कि एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस के बीच वडोदरा में मुलाकात हुई।

By शिव मौर्या 
Updated Date

Uddhav government crisis: महाराष्ट्र में सियासी खींचतान मची हुई है। शिवसेना के बागी एकनाथ शिंदे और उद्धव ठाकरे के बीच अब और ज्यादा विवाद बढ़ता जा रहा है। शिवसेना नेता अब लगातार बागी तेवर दिखा रहे हैं। संजय राउत ने भी बागी विधायकों को लेकर सख्त रवैया अपनाया है। इन सबके बीच खबर आ रही है कि एकनाथ शिंदे और देवेंद्र फडणवीस के बीच वडोदरा में मुलाकात हुई।

पढ़ें :- Uddhav government crisis: मुश्किलों में फंसे संजय राउत, ईडी ने भेजा दूसरा नोटिस, एक जुलाई को पेश होने के आदेश

इस मुलाकात के बाद कई तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। इस बीच खबर आ रही है कि, उद्धव ठाकरे की पत्नी रश्मि ठाकरे बागी विधायकों की पत्नियों से फोन पर बात कर रही हैं। सूत्रों से जानकारी मिली है उद्धव ठाकरे अभी भी बागी विधायकों के साथ संपर्क में हैं। शिंदे गुट के बागी विधायकों को उद्धव ने एसएमएस भेजा है। बता दें कि शिवसेना की तरफ से 16 बागियों की सदस्यता रद्द करने की मांग की थी।

ऐसे में डिप्टी स्पीकर ने उन्हें अब नोटिस जारी किया है। लिहाजा, अब शिंदे गुट की मुश्किलें जरूर बढ़ेंगी। उधर, शिवसेना ने चुनाव आयोग जाने का निर्णय लिया है। जिसमें वो बालासाहब के नाम इस्तेमाल न करने की अपील करेंगे। बता दें कि शिंदे गुट ने अपनी नई पार्टी बनाने की तैयारी की है, जिसका नाम शिवसेना बालासाहब ठाकरे रखेंगे।

लिहाजा, इसको लेकर उद्धव ठाकरे समेत शिवसेना के अन्य नेताओं ने विरोध जताया है। बता दें कि, शिवसेना की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक हुई। इस बैठक में कई अहम प्रस्ताव पर मुहर लगी है। सीएम उद्धव ठाकरे ने इसको लेकर कहा कि, कुछ लोग मुझसे कुछ कहने के लिए कह रहे हैं लेकिन मैं पहले ही कह चुका हूं कि वे (बागी विधायक) जो चाहें कर सकते हैं, मैं उनके मामलों में दखल नहीं दूंगा। वे अपना फैसला खुद ले सकते हैं, लेकिन किसी को भी बालासाहेब ठाकरे के नाम का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए।

पढ़ें :- Uddhav government crisis: हम शिवसेना में हैं और हिंदुत्व को आगे ले जा रहे हैं, होटल से निकलकर बोले एकनाथ शिंदे
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...