चुनाव नही,दिल्ली में बैठे—बैठे सीएम नियुक्त कर दीजिए: उद्धव ठाकरे

uddhav thackeray attacks on bjp
चुनाव नही,दिल्ली में बैठे—बैठे सीएम नियुक्त कर दीजिए: उद्धव ठाकरे

मुंबई। कर्नाटक में बिना बहुमत के ही सरकार बना लेने के मामले में भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आज कहा कि केन्द्र को राज्यपालों की तरह ही मुख्यमंत्रियों की भी नियुक्ति कर देनी चाहिए। उन्होने कहा कि कर्नाटक में लोकतंत्र का मजाक उड़ाया जा रहा है। उल्हासनगर में एक रैली को सम्बोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि अगर लोकतंत्र का अनादर ही किया जाना है तो एक लोकतांत्रिक देश कहने का क्या फायदा है। अगर ऐसे ही तानाशाही करनी है तो चुनाव कराना बंद कर देना चाहिए, ताकि प्रधानमंत्री के विदेशी दौरों में भी कोई बाधा पहुंचे,साथ ही धन और समय की बचत भी हो सके। उन्हे चाहिए कि मुख्यमंत्रियों को भी राज्यपाल की तरह दिल्ली में ही बैठकर नियुक्त कर देना चाहिए।

बता दे कि कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस ने 117 विधायकों के समर्थन की चिट्ठी राज्यपाल को सौंपी थी, लेकिन चुनाव परिणाम में 104 विधायकों के साथ सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी भाजपा को राज्यपाल ने सरकार बनाने का न्योता दिया, यही नही बिना बहुमत साबित किए राज्यपाल ने येदियुरप्पा को मुख्यमंत्री पद शपथ भी दिला दी। उनके शपथ ग्रहण के बाद से ही पूरे देश में सियासी तूफान मचा है, वही विपक्ष इसे लोकतंत्र से खिलवाड़ बता रहा है।

{ यह भी पढ़ें:- कोई नहीं चाहता मुंबई से अहमदाबाद जाना, नागपुर तक बुलेट ट्रेन चलाएं मोदी : उद्धव ठाकरे }

बता दें कि इससे पहले बीते 15 मई को उद्धव ठाकरे ने भाजपा को मतपत्रों के जरिए चुनाव कराने की चुनौती दी थी। उन्होने कहा कि इससे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) के इस्तेमाल को लेकर उठी सबकी शंकाएं भी दूर हो जाएंगी। कर्नाटक विधानसभा चुनाव भाजपा के सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर उभरने के बाद उद्धव ने इसे इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन की जीत बताया।

उन्होने सवाल उठाते हुए ​कहा कि भाजपा उपचुनाव में हार रही है, लेकिन विधानसभा चुनाव में जीत रही है। कर्नाटक विधानसभा चुनाव के बाद उन्होने कहा कि अगर आपकों खुद पर इतना भरोसा है तो मतपत्र के जरिए चुनाव करा लीजिए। उन्होने कहा कि जब पूरे देश में इतने सारे लोग इसकी मांग कर रहे हैं तो भाजपा को ऐसा करके सबकी शंकाए दूर कर देनी चाहिए।

{ यह भी पढ़ें:- सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद कर्नाटक में हुई लोकतंत्र की जीत: रजनीकांत }

कर्नाटक में हुए चुनावों के मसले पर पूछे गए सवाल पर उन्होने कहा कि चुनाव में हार—जीत तो लगी रहती है, हमें काम करते रहना चाहिए। बाद में उन्होने कर्नाटक चुनाव में जीत के लिए के लिए भाजपा को बधाई भी दी। साथ ही उन्होने कहा कि हमे उम्मीद है कि अब राज्य के लोगों को अच्छे दिन देखने को मिलेंगे।

मुंबई। कर्नाटक में बिना बहुमत के ही सरकार बना लेने के मामले में भाजपा पर निशाना साधते हुए शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने आज कहा कि केन्द्र को राज्यपालों की तरह ही मुख्यमंत्रियों की भी नियुक्ति कर देनी चाहिए। उन्होने कहा कि कर्नाटक में लोकतंत्र का मजाक उड़ाया जा रहा है। उल्हासनगर में एक रैली को सम्बोधित करते हुए ठाकरे ने कहा कि अगर लोकतंत्र का अनादर ही किया जाना है तो एक लोकतांत्रिक देश कहने का क्या फायदा है।…
Loading...