1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Aadhaar Card New Advisory जारी करने के फैसले से कुछ घंटों में पीछे हटी मोदी सरकार,जानें क्यों?

Aadhaar Card New Advisory जारी करने के फैसले से कुछ घंटों में पीछे हटी मोदी सरकार,जानें क्यों?

Aadhaar Card New Advisory : केंद्र की मोदी सरकार (Central Government) ने आधार कार्ड (Aadhaar Card Update) को लेकर लेकर आज सुबह एक बयान जारी किया था, जिसमें बताया गया था कि आप लोग अपने आधार कार्ड की फोटो किसी के साथ भी साझा नहीं करें। सरकार ने बताया कि इससे आपके आधार कार्ड का दुरुपयोग होने की संभावना रहती है। फिलहाल सरकार ने रविवार शाम को अपने इस बयान को वापस ले लिया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Aadhaar Card New Advisory : केंद्र की मोदी सरकार (Central Government) ने आधार कार्ड (Aadhaar Card Update) को लेकर लेकर आज सुबह एक बयान जारी किया था, जिसमें बताया गया था कि आप लोग अपने आधार कार्ड की फोटो किसी के साथ भी साझा नहीं करें। सरकार ने बताया कि इससे आपके आधार कार्ड का दुरुपयोग होने की संभावना रहती है। फिलहाल सरकार ने रविवार शाम को अपने इस बयान को वापस ले लिया है।

पढ़ें :- UIDAI Update : अब घर बैठे आधार कार्ड होगा अपडेट, UIDAI ने तैयार किया है ये प्लान

क्यों वापस लिया बयान?
सरकार ने नई प्रेस रिलीज जारी कर इस बारे में जानकारी दी है। बयान वापस लेने के पीछे सरकार ने ‘गलत अर्थ’ की संभावना का हवाला दिया है। दोबारा से जारी की गई प्रेस रिलीज में बताया गया है कि रिलीज की गलत व्याख्या की संभावना को देखते हुए इसको तत्काल प्रभाव से वापस लेने का फैसला लिया गया है।

खुद के विवेक का करें इस्तेमाल

केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने नोटिस जारी कर बताया कि आधार कार्ड धारकों को इसका इस्तेमाल और शेयर करने से पहले सामान्य विवेक का ही इस्तेमाल करना होगा। वह किसी के साथ भी आधार नंबर शेयर करने से पहले पूरी जांच कर लें।

पढ़ें :- इनके त्याग और तपस्या की अब और परीक्षा मत लीजिए...अपने ही सरकार पर फिर निशाना साधे वरुण गांधी

सुबह सरकार ने जारी की थी ये एडवाइजरी

बता दें आज सुबह को पहले केंद्र सरकार ने एक प्रेस विज्ञप्ति (Press Release) के माध्यम से देशवासियों से अपील की थी कि अपने आधार की फोटोकॉपी किसी व्यक्ति या संस्थान के साथ धड़ल्ले से साझा न करें। 27 मई को इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय ने एक अधिसूचना जारी करके कहा, जिन संगठनों ने यूआईडीएआई (UIDAI) से उपयोगकर्ता का लाइसेंस लिया है। वे किसी भी व्यक्ति की पहचान स्थापित करने के लिए आधार का उपयोग कर सकते हैं। इसके अलावा प्रेस विज्ञप्ति में ये भी कहा गया है कि होटल या फिल्म जैसी निजी संस्थाएं आधार कार्ड की प्रतियां रखने की हकदार नहीं हैं।

आधार पूरी तरह है  सुरक्षित

इसी के साथ सरकार ने आम लोगों को फिर से भरोसा दिलाया कि Aadhaar से पहचान का इकोसिस्टम सुरक्षित है। कार्ड धारक की पहचान और निजता की सुरक्षा के लिए इसमें पर्याप्त सुरक्षा फीचर्स दिए गए हैं।

चौतरफा आलोचना से घिरी सरकार

पढ़ें :- केंद्र सरकार का बड़ा फैसला: खरीफ की फसलों का न्यूनतम समर्थन मूल्य बढ़ाया

UIDAI की इस एडवाइजरी को लेकर सरकार की चौतरफा आलोचना होने लगी। सोशल मीडिया पर कहा जाने लगा कि सरकार ने इस एडवाइजरी को जारी करने में देर कर दी, क्योंकि लोग करीब 10 साल से आधार कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं। वहीं कई लोगों ने पहले इसे हर जगह अनिवार्य बनाए जाने और बाद में इसकी फोटो कॉपी शेयर नहीं करने को लेकर जारी इस एडवाइजरी की आलोचना की। सोशल मीडिया पर इसे लेकर कई तरह के मीम भी शेयर किए जाने लगे।

ओवैसी ने सरकार को घेरा

AIMIM प्रमुख और सांसद असदु्द्दीन ओवैसी ने भी आधार कार्ड को लेकर सरकार की इस एडवाइजरी की आलोचना की। उन्होंने कहा कि सरकारी एजेंसियां सालों से आधार को अनिवार्य बनाने में जुटी रहीं। अब वे उम्मीद करते हैं कि आम लोग सरकार की नई अधिसूचना पर बहस करें अन्यथा अपना नुकसान उठाने के लिए तैयार रहें।

ओवैसी ने सरकार की नीतियों की कड़ी आलोचना करते हुए कहा कि यह नहीं भूला जाना चाहिए कि आधार का इस्तेमाल भीड़ द्वारा लोगों को तंग करने और मारने के लिए किया गया है। एमपी के देवास में आधार न होने पर एक मुस्लिम विक्रेता की पिटाई की गई थी।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...