178 साल पुरानी ब्रिटेन की कंपनी थॉमस कुक हुई दिवालिया, खतरे में 22 हजार नौकरियां

cook
178 साल पुरानी ब्रिटेन की कंपनी थॉमस कुक हुई दिवालिया, खतरे में 22 हजार नौकरियां

नई दिल्ली। ब्रिटेन की 178 साल पुरानी ट्रैवल कंपनी थॉमस कुक ने कारोबार बंद करने की घोषणा कर दी है। आर्थिक संकट से जूझ रही कंपनी ने निजी निवेश और सरकार से बेलआउट पैकेज प्राप्त करने में असफलता के बाद कहा है कि तत्काल प्रभाव से कंपनी ने अपने कारोबार को बंद करने का फैसला किया है। कंपनी ने सभी हॉलिडेज, फ्लाइट बुकिंग को रद्द किए जाने की घोषणा की है। कंपनी ने दुनियाभर के ग्राहकों के लिए सहायता नंबर +44 1753 330 330 जारी किया है।

Uk Travel Giant Thomas Cook Collapses Jobless Stranded Holidaymakers :

कंपनी ने करीब 6 लाख ट्रेवलर्स की बुकिंग सोमवार की सुबह कैंसिल कर दी है। इसकी जानकारी कंपनी ने ट्वीट करके दी। हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि भारत में ऑपरेट करने वाली थॉमस कूक पर इसका कोई असर नहीं होगा। बिट्रेन की सरकार ने कहा है कि 1.5 लाख बिट्रेन के ग्राहक जो विदेशों में है, उन्हे वापस लाना पहली प्राथमिकता होगी।

सिविल एविशन अथॉरिटी ने कहा कि थॉमस कूक की 4 एयरलाइंस जमीन पर आ गई है। 16 देशों में कंपनी के 21 हजार कर्मचारी बेरोजगार हो गए हैं। अकेले ब्रिटेन में ही 9000 कर्मचारी बेरोजगार हुए हैं। कुछ महीने पहले कंपनी ने कहा था कि ब्रेक्जिट के कारण उसकी बुकिंग में मंदी आई जिसके कारण उस पर कर्ज का बोझ बढ़ गया है।

थॉमस कुक 178 साल पुरानी कंपनी है। इस कंपनी ने 1841 में बिजनेस शुरू किया था। फिलहाल ये कंपनी 16 देशों में कारोबार करती है। कंपनी पर 125 करोड़ पाउंड का कर्ज है। भारत में ऑपरेट करने वाली थॉमस कूक इंडिया पर इसका कोई असर नहीं होगा। दरअसल, थॉमस कुक इंडिया का 77 फीसदी हिस्सा 2012 में कनाडा के ग्रुप फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग ने खरीद लिया था। तब से थॉमस कुक यूके का थॉमस कुक इंडिया में कोई हिस्सा नहीं है। थॉमस कुक इंडिया ने एक बयान जारी कर कहा है कि कंपनी की वित्तीय स्थिति मजबूत है।

नई दिल्ली। ब्रिटेन की 178 साल पुरानी ट्रैवल कंपनी थॉमस कुक ने कारोबार बंद करने की घोषणा कर दी है। आर्थिक संकट से जूझ रही कंपनी ने निजी निवेश और सरकार से बेलआउट पैकेज प्राप्त करने में असफलता के बाद कहा है कि तत्काल प्रभाव से कंपनी ने अपने कारोबार को बंद करने का फैसला किया है। कंपनी ने सभी हॉलिडेज, फ्लाइट बुकिंग को रद्द किए जाने की घोषणा की है। कंपनी ने दुनियाभर के ग्राहकों के लिए सहायता नंबर +44 1753 330 330 जारी किया है। कंपनी ने करीब 6 लाख ट्रेवलर्स की बुकिंग सोमवार की सुबह कैंसिल कर दी है। इसकी जानकारी कंपनी ने ट्वीट करके दी। हालांकि ऐसा माना जा रहा है कि भारत में ऑपरेट करने वाली थॉमस कूक पर इसका कोई असर नहीं होगा। बिट्रेन की सरकार ने कहा है कि 1.5 लाख बिट्रेन के ग्राहक जो विदेशों में है, उन्हे वापस लाना पहली प्राथमिकता होगी। सिविल एविशन अथॉरिटी ने कहा कि थॉमस कूक की 4 एयरलाइंस जमीन पर आ गई है। 16 देशों में कंपनी के 21 हजार कर्मचारी बेरोजगार हो गए हैं। अकेले ब्रिटेन में ही 9000 कर्मचारी बेरोजगार हुए हैं। कुछ महीने पहले कंपनी ने कहा था कि ब्रेक्जिट के कारण उसकी बुकिंग में मंदी आई जिसके कारण उस पर कर्ज का बोझ बढ़ गया है। थॉमस कुक 178 साल पुरानी कंपनी है। इस कंपनी ने 1841 में बिजनेस शुरू किया था। फिलहाल ये कंपनी 16 देशों में कारोबार करती है। कंपनी पर 125 करोड़ पाउंड का कर्ज है। भारत में ऑपरेट करने वाली थॉमस कूक इंडिया पर इसका कोई असर नहीं होगा। दरअसल, थॉमस कुक इंडिया का 77 फीसदी हिस्सा 2012 में कनाडा के ग्रुप फेयरफैक्स फाइनेंशियल होल्डिंग ने खरीद लिया था। तब से थॉमस कुक यूके का थॉमस कुक इंडिया में कोई हिस्सा नहीं है। थॉमस कुक इंडिया ने एक बयान जारी कर कहा है कि कंपनी की वित्तीय स्थिति मजबूत है।