1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Uma Bharti का विवादित बयान, बोलीं- ब्यूरोक्रेसी की औकात क्या , ये उठाती है हमारी चप्पल

Uma Bharti का विवादित बयान, बोलीं- ब्यूरोक्रेसी की औकात क्या , ये उठाती है हमारी चप्पल

बीजेपी की वरिष्ठ नेत्री और मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने बीते शनिवार को बड़ा विवादित बयान दिया है। उन्होंने ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) को चप्पल उठाने वाली बताया है। उमा भारती ने कहा कि ब्यूरोक्रेसी कुछ नहीं होती, चप्पल उठाने वाली होती है। उसके लिए हम लोग ही राजी हो जाते हैं । उन्होंने कहा कि आपको क्या लगता है, ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy)  नेता को घुमाती है? नहीं-नहीं, अकेले में बात हो जाती है पहले, फिर ब्यूरोक्रेसी फाइल बनाकर लाती है। हमसे पूछिए 11 साल केंद्र में मंत्री और मुख्यमंत्री रहे हैं। पहले हमसे बात और डिस्कशन होता है। इसके बाद फिर फाइल प्रोसेस होती है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

भोपाल। बीजेपी की वरिष्ठ नेत्री और मध्यप्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती (Uma Bharti) ने बीते शनिवार को बड़ा विवादित बयान दिया है। उन्होंने ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) को चप्पल उठाने वाली बताया है। उमा भारती ने कहा कि ब्यूरोक्रेसी कुछ नहीं होती, चप्पल उठाने वाली होती है। उसके लिए हम लोग ही राजी हो जाते हैं । उन्होंने कहा कि आपको क्या लगता है, ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy)  नेता को घुमाती है? नहीं-नहीं, अकेले में बात हो जाती है पहले, फिर ब्यूरोक्रेसी फाइल बनाकर लाती है। हमसे पूछिए 11 साल केंद्र में मंत्री और मुख्यमंत्री रहे हैं। पहले हमसे बात और डिस्कशन होता है। इसके बाद फिर फाइल प्रोसेस होती है।

पढ़ें :- Breaking-अशोक गहलोत दिल्ली निकलने से पहले देंगे इस्तीफा? राजभवन जाने की सूचना से अटकलें तेज

उमा भारती (Uma Bharti) ने कहा कि सब फालतू की बातें हैं कि ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) घुमाती है। घुमा ही नहीं सकती, उनकी औकात क्या है? हम उन्हें तनख्वाह दे रहे हैं। हम उन्हें पोस्टिंग दे रहे हैं। हम उन्हें प्रमोशन (Promotion) और डिमोशन (Demotion) दे रहे हैं। असली बात यह है कि हम ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) के बहाने से अपनी राजनीति साधते हैं।

पढ़ें :- सीमांचल में अमित शाह का आज दूसरा दिन, लोकसभा चुनाव 2024 को लेकर बन रही अहम रणनीति

बता दें कि शनिवार को ओबीसी महासभा (OBC mahasabha) का प्रतिनिधिमंडल पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती (Uma Bharti) से मिलने भोपाल स्थित उनके बंगले पहुंचा था। इस दौरान प्रतिनिधमंडल ने ओबीसी की जातिगत जनगणना व निजीकरण में आरक्षण को लेकर उमा भारती को 5 सूत्रीय मांगों को लेकर ज्ञापन सौंपा था।

ओबीसी महासभा (OBC mahasabha)  के प्रतिनिधिमंडल ने चेतावनी दी थी कि मध्य प्रदेश सरकार को जल्द से जल्द निर्णय लेना होगा। अन्यथा महासभा सड़कों पर भाजपा के सांसद, विधायक, और मंत्रियों का पुरजोर विरोध करेगी। इस दौरान ओबीसी महासभा (OBC mahasabha)  के प्रतिनिधिमंडल से बात करते हुए उमा भारती ने ब्यूरोक्रेसी (Bureaucracy) पर आपत्तिजनक टिप्पणी कर डाली है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...