कमलेश नागरकोटी की रफ्तार देख सौरव गांगुली और विराट कोहली बने फैन

कमलेश नगरकोटी, kamlesh nagarkoti
कमलेश नगरकोटी की रफ्तार देख सौरव गांगुली और विराट कोहली बने फैन
नई दिल्ली। अंडर 19 विश्वकप में भारतीय टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है। आॅस्ट्रेलिया को पहले ही मुकाबले में 100 रनों के अंतर से हराने वाली भारतीय टीम के आगे तमाम टीमें पानी भरती नजर आ रहीं हैं। इस बीच एक ऐसा खिलाड़ी उभर कर सामने आया है, जिसकी प्रशंसा हर कोई कर रहा है। ये खिलाड़ी है अंडर 19 क्रिकेट टीम का तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी। कमलेश ने अपनी गेंदों की धार और रफ्तार से सौरव गांगुली और भारतीय…

नई दिल्ली। अंडर 19 विश्वकप में भारतीय टीम का शानदार प्रदर्शन जारी है। आॅस्ट्रेलिया को पहले ही मुकाबले में 100 रनों के अंतर से हराने वाली भारतीय टीम के आगे तमाम टीमें पानी भरती नजर आ रहीं हैं। इस बीच एक ऐसा खिलाड़ी उभर कर सामने आया है, जिसकी प्रशंसा हर कोई कर रहा है। ये खिलाड़ी है अंडर 19 क्रिकेट टीम का तेज गेंदबाज कमलेश नागरकोटी। कमलेश ने अपनी गेंदों की धार और रफ्तार से सौरव गांगुली और भारतीय टीम के कप्तान विराट कोहली को अपना फैन बना लिया है। चर्चा होने लगी है कि कमलेश नागरकोटी के रूप में भारतीय टीम को जल्द ही एक नया तेजगेंदबाज मिलने वाला है।

18 वर्षीय कमलेश नागरकोटी राजस्थान के बाड़मेर से आते हैं और दाएं हाथ के तेज गेंदबाज के रूप में अंडर 19 विश्वकप में भारत के लिए खेल रहे हैं। कमलेश की रफ्तार की बात की जाए तो न्यूजीलैंड में उनकी गेंदें 147 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से सामने खड़े बल्लेबाजों के पैर उखाड़ रहीं हैं।

{ यह भी पढ़ें:- IPL 2018 : चेन्नई ने जीता टॉस, गेंदबाजी का फैसला }

कमलेश के प्रदर्शन को देखते हुए कप्तान विराट कोहली ने उनकी प्रशंसा करते हुए ट्वीट भी किया था। जिसके बाद से दुनिया भर की मीडिया की निगाहें कमलेश नागरकोटी के प्रदर्शन पर टिकी हुईं हैं। भारतीय क्रिकेट को करीब से देखने और परखने वालों की माने तो भारतीय टीम हमेशा से तेज गेंदबाजों के लिए मोहताज रहा है। भारतीय टीम अब तक बल्ले की ताकत से विश्व क्रिकेट में अपनी धाक जमाए रखे है। यह पहला गेंदबाज है जिसमें भारत को एक ऐसा गेंदबाज नजर आ रहा है जो 150 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी करने में सक्षम होगा।

क्रिकेट विशेषज्ञों की माने तो 18 साल की उम्र में 145 से 149 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से गेंदबाजी करना बताता है कि खिलाड़ी की तकनीकि और फिटनेस का स्तर क्या है। कमलेश से उम्मीद है कि वह टीम इंडिया के लिए जल्द ही खेलते नजर आएंगे और एक ऐसे तेज गेंदबाज के रूप में खुद को स्थापित कर सकेंगे जिसकी क्षमता 150 किमी प्रति घंटा की गति से गेंदबाजी करने की होगी।

अंडर19 वर्ल्डकप में फास्टेस्ट बॉल का रिकार्ड बनाने से चूके —

{ यह भी पढ़ें:- आसाराम के साथ मोदी का वीडियो शेयर कर ICC ने लिखा 'नारायण-नारायण', मांगी माफी }

अंडर 19 वर्ल्डकप इतिहास में सबसे तेज गेंदबाजी करने का रिकार्ड 2016 में वेस्टेंडीज के गेंदबाज अल्जारी जोसेफ के नाम है। जिसे उन्होंने 147 किमी प्रति घंटा की स्पीड से गेंदबाजी कर बनाया था। अगर कमलेश नागरकोटी की बात की जाए तो वह आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले मुकाबले में 146.8 किमी प्रति सेकेंड की गति रिकार्ड करवा चुके हैं।

Loading...