सात हजार साल पहले भी पहनते थे लोग अंडरवियर, जानिए अनोखा इतिहास

नई दिल्ली: आपको यह जान कर हैरानी होगी अंडरवियर को आज से करीब 7 हज़ार साल पहले भी लोग पहनते थे। पहले ये अंडरवियर चमड़े का बना हुआ एक पट्टा होता था, जिसे टांगों से निकाल कर पीछे बांध दिया जाता था। इसको लोग इसलिए पहनते थे ताकि भागने में कोई परेशानी ना हो।




तेरहवीं शताब्दी में ढके हुए और ढीले-ढाले अंडरवियर बाजार में आए। पर जिस तरह के कपड़ों से इन्हें बनाया जाता था, वो आरामदायक नहीं थे, जिसकी वजह से खुजली और कई तरह की समस्याएं होने लगी। पुनर्जागरण काल के बाद विशेष तरह के अंडरवियर बाज़ार में आने लगे।

ये सूती होते थे और देखने में आरामदायक भी लगते थे। इनमें से सबसे ज़्यादा पसंद किये जाने वाले अंडरवियर वो थे, जिनकी लम्बाई घुटनों तक होती थी। औद्योगिक क्रांति युग में सन् 1874 में Chicago की एक Company ‘Sharp & Smith’ ने साइकिल चलाते वक़्त सुरक्षा के लिए एक अंडरवियर बनाया था

इसके बाद अंडरवियर में हार्ड कैप सपोर्ट जैसी सुविधा देने वाली पहली कंपनी ‘Guelph Elastic Hosiery’ थी, जो एक Canadian कंपनी थी। इसके बाद तो अंडरवियर लोगो की जरूरत ही बन गया और बाजार में अंडरवियर के कई नई कम्पनी आ गई।