1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन एम्स में किया गया भर्ती, कुछ दिन पहले मिला था कोरोना पॉजिटिव

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन एम्स में किया गया भर्ती, कुछ दिन पहले मिला था कोरोना पॉजिटिव

अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को दिल्ली के एम्स अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। बता दें कि छोटा राजन कुछ दिन पहले कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। यह जानकारी तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने सोमवार को दिल्ली की एक सत्र अदालत को दी है। फिलहाल उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। 

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। अंडरवर्ल्ड डॉन छोटा राजन को दिल्ली के एम्स अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है। बता दें कि छोटा राजन कुछ दिन पहले कोरोना पॉजिटिव पाया गया था। यह जानकारी तिहाड़ जेल के अधिकारियों ने सोमवार को दिल्ली की एक सत्र अदालत को दी है। फिलहाल उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

पढ़ें :- AIIMS के मेस का खाना FSSAI के सैंपल टेस्टिंग में फेल, देश के सबसे बड़े अस्पताल के खाने की गुणवत्ता पर बड़ा प्रश्नचिन्ह

राजन 2015 में इंडोनेशिया के बाली से प्रत्यर्पण के बाद अपनी गिरफ्तारी के बाद से ही दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद है। मुंबई में उसके खिलाफ दर्ज सभी मामले सीबीआई को स्थानांतरित कर दिए गए हैं। उस पर मुकदमा चलाने के लिए विशेष अदालत गठित की गई है।

तिहाड़ के सहायक जेलर ने सत्र अदालत को बताया कि वह एक मामले की सुनवाई के सिलसिले में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए राजन को न्यायाधीश के समक्ष पेश नहीं कर सकते हैं, क्योंकि गैंगस्टर कोविड-19 से संक्रमित हो गया है । उसे एम्स में भर्ती कराया गया है।

बता दें कि पिछले कुछ दिनों से तिहाड़ में बंद कैदियों में कोरोना का संक्रमण अचानक बढ़ गया है। इससे पहले तिहाड़ में बंद दिल्ली दंगे के आरोपी व जेएनयू का पूर्व छात्र उमर खालिद कोरोना संक्रमित हो गया था। उसका फिलहाल तिहाड़ में ही इलाज चल रहा है।

वहीं जेल के हाई सिक्युरिटी वार्ड में बंद बिहार के पूर्व सांसद मोहम्मद शहाबुद्दीन भी कोरोना संक्रमित है। जेल के अस्पताल में उसका इलाज चल रहा था। लेकिन तबियत बिगड़ने के बाद उसे दीनदयाल उपाध्याय अस्पताल उमें भेज दिया गया है।

पढ़ें :- राजू श्रीवास्तव की हालत नाजुक, वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखे गए कॉमेडियन

जेल अधिकारियों का कहना है कि संक्रमित कैदियों के लिए अस्पताल में अलग से आइसोलेशन वार्ड बनाए गए हैं। जेल सूत्रों का कहना है कि बिना लक्षण वाले कैदी भी संक्रमित हो रहे हैं और ऐसे कैदी जेलकर्मियों के लिए भी खतरा उत्पन्न कर रहे हैं। हालांकि जेल में बंद ज्यादा से ज्यादा कैदियों की कोरोना जांच करवाई जा रही है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...