केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी बोले- एमएसपी को कम करने के बारे में कोई बयान नहीं दिया, गलत आरोप लगे

Nitin Gadkari

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में बढ़ोतरी का फैसला किया. वहीं इसको लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि उन्होंने एमएसपी को कम करने के बारे में कोई बयान नहीं दिया है. उन पर गलत आरोप लगाए जा रहे हैं.

Union Minister Nitin Gadkari Said Did Not Give Any Statement About Reducing Msp False Allegations Were Made :

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) में बढ़ोतरी का फैसला किया. मैंने एमएसपी को कम करने के बारे में कोई बयान नहीं दिया है, इसके लिए मुझे गलत ठहराया गया है. भारत सरकार ने हमेशा किसानों का हित किया है और आगे भी करती रहेगी.

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया है. नितिन गडकरी का कहना है कि एमएसपी घटाने को लेकर उन्होंने कोई बयान नहीं दिया था. गलतफहमी पैदा करने की कोशिश हो रही है. गलत आरोप लगाए जा रहे हैं.

बता दें कि हाल ही में नितिन गडकरी ने कहा था कि कृषि फसलों के लिए सरकार का न्यूनतम समर्थन मूल्य घरेलू बाजार मूल्य और अंतरराष्ट्रीय दरों के मुकाबले काफी ज्यादा है. गडकरी ने कहा था कि किसी तरह की आर्थिक समस्या आने से पहले कोई वैकल्पिक हल तलाश करना होगा.

क्या होता है एमएसपी?
बता दें कि किसानों को उसकी फसल का लागत से ज्यादा मूल्य मिले, इसके लिए भारत सरकार देशभर में एक न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) तय करती है. किसानों को खरीदार नहीं मिलने पर सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर किसान से फसल खरीद लेती है.

नई दिल्ली: केंद्र सरकार ने न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में बढ़ोतरी का फैसला किया. वहीं इसको लेकर केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी का कहना है कि उन्होंने एमएसपी को कम करने के बारे में कोई बयान नहीं दिया है. उन पर गलत आरोप लगाए जा रहे हैं. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने कहा कि पीएम मोदी के नेतृत्व में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने एमएसपी (न्यूनतम समर्थन मूल्य) में बढ़ोतरी का फैसला किया. मैंने एमएसपी को कम करने के बारे में कोई बयान नहीं दिया है, इसके लिए मुझे गलत ठहराया गया है. भारत सरकार ने हमेशा किसानों का हित किया है और आगे भी करती रहेगी. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने अपने ऊपर लगे आरोपों को गलत बताया है. नितिन गडकरी का कहना है कि एमएसपी घटाने को लेकर उन्होंने कोई बयान नहीं दिया था. गलतफहमी पैदा करने की कोशिश हो रही है. गलत आरोप लगाए जा रहे हैं. बता दें कि हाल ही में नितिन गडकरी ने कहा था कि कृषि फसलों के लिए सरकार का न्यूनतम समर्थन मूल्य घरेलू बाजार मूल्य और अंतरराष्ट्रीय दरों के मुकाबले काफी ज्यादा है. गडकरी ने कहा था कि किसी तरह की आर्थिक समस्या आने से पहले कोई वैकल्पिक हल तलाश करना होगा. क्या होता है एमएसपी? बता दें कि किसानों को उसकी फसल का लागत से ज्यादा मूल्य मिले, इसके लिए भारत सरकार देशभर में एक न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) तय करती है. किसानों को खरीदार नहीं मिलने पर सरकार न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) पर किसान से फसल खरीद लेती है.