1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. Guthli Laddu की स्पेशल स्क्रीनिंग पर पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री Ramdas Athawale

Guthli Laddu की स्पेशल स्क्रीनिंग पर पहुंचे केंद्रीय राज्य मंत्री Ramdas Athawale

इशरत आर खान (Ishrat R Khan) के निर्देशन में बनी फिल्म गुठली लड्डू (movie Guthli Laddu) की स्पेशल स्क्रीनिंग मुम्बई के सहारा स्टार प्रीव्यू थिएटर (Sahara Star Preview Theater) में रखी गई तो यहां केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रामदास आठवले विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

नई दिल्ली: इशरत आर खान (Ishrat R Khan) के निर्देशन में बनी फिल्म गुठली लड्डू (movie Guthli Laddu) की स्पेशल स्क्रीनिंग मुम्बई के सहारा स्टार प्रीव्यू थिएटर (Sahara Star Preview Theater) में रखी गई तो यहां केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रामदास आठवले विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

पढ़ें :- आलिया भट्ट की प्रेग्नेंसी की खबर सुन बॉलीवुड के गलियारों में छाया खुशी का माहौल, राखी ने जारी किया एक वीडियो

न सिर्फ उन्होंने पूरी फिल्म देखी बल्कि वह निर्माता प्रदीप रंगवानी (Pradeep Rangwani) की इस फ़िल्म से काफी प्रभावित भी हुए और उन्होंने इसे टैक्स फ्री कराने का आश्वासन भी दिया। अब तक 14 से अधिक फ़िल्म महोत्सवों में अवार्ड हासिल करने वाली फीचर फिल्म “गुठली लड्डू” के पहले लुक का अनावरण हाल ही में कान्स इंटरनेशनल फिल्म फेस्टिवल के दौरान किया गया था।

आपको बता दें, संजय मिश्रा, धनय सेठ, सुब्रत दत्ता, कल्याणी मुले के अभिनय से सजी इस फिल्म ने कोलकाता अंतर्राष्ट्रीय फिल्म महोत्सव में सर्वश्रेष्ठ निर्देशक के लिए हीरालाल सेन मेमोरियल अवार्ड भी जीता है।

केंद्रीय सामाजिक न्याय राज्य मंत्री रामदास आठवले ने यहां मीडिया से बात करते हुए कहा कि फ़िल्म गुठली लड्डू सफाई मजदूरों की दशा दिखाती है। समाज मे काफी परिवर्तन आया है लेकिन सफाई कर्मियों, शेडयूल कास्ट के लोगों के प्रति कटु भावना रखने वालों की संख्या आज भी बहुत ज़्यादा है।

पढ़ें :- भोजपुरी एक्ट्रेस नमृता मल्ला ने बिकनी पहन कर लगाएं ठुमके, फैंस दे रहे कुछ इस तरह रिएक्शन

एक तरफ हमारा संविधान कहता है कि सभी जाति धर्म के लोग एक हैं, सभी को शिक्षा मिलनी चाहिए, लेकिन इस फ़िल्म में दिखाया गया है कि किस तरह नीची जाति के बच्चों को शिक्षा प्राप्त करने के लिए संघर्ष करना पड़ता है। इस फ़िल्म का हीरो मात्र 9 साल का बच्चा धनय सेठ है, जिसने बेहतरीन काम किया है, भविष्य में यह लड़का बड़ा एक्टर बन सकता है।

इसकी सिनेमेटोग्राफी, डायलॉग बहुत प्रभावी हैं। इशरत आर खान ने फ़िल्म का डायरेक्शन कमाल का किया है। निर्देशक ने गांव का रियलिस्टिक चित्रण किया है। सभी कलाकारों ने उम्दा अभिनय किया है।

दिल को यह फ़िल्म छू जाती है। इस फ़िल्म के निर्माता प्रदीप रंगवानी को मैं हार्दिक शुभकामनाएं देता हूँ। मुझे लगता है कि यह फ़िल्म जब बड़े पर्दे पर आएगी तो दर्शकों के बीच काफी लोकप्रिय होगी। यह फ़िल्म टैक्स फ्री हो, इसके लिए मैं सरकार तक बात पहुंचाऊंगा।

फिल्म को अनिल अक्की ने कैमरे में कैद किया है और इसकी एडिटिंग स्टीवन एच. बर्नार्ड ने की है। अमर मोहिले ने फिल्म का बैकग्राउंड स्कोर दिया है।

पढ़ें :- उर्फी जावेद ने रुमाल से बनाया टॉप, वीडियो देख उड़ जाएंगे होश

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...