1. हिन्दी समाचार
  2. एस्ट्रोलोजी
  3. महाकाल के बारें में अनोखी बातें जिसे जान कर रह जाएगें हैरान

महाकाल के बारें में अनोखी बातें जिसे जान कर रह जाएगें हैरान

आखिर मंदिर परिसर में क्यों नही रुकते है राजा और मंत्री महाकाल के दर्शन से नही होती है अकाल मृत्यु काल भैरव में क्यो चढ़ाए जाता है मंदिरा

By प्रिया सिंह 
Updated Date

महाकालेश्वर मंदिर को लेकर कई सारी कहानियां हैं। लोगो का कहना है कि महाकालेश्वर का मेन मंदिर वो है जहां भगवान को शराब पिलाई जाती है, लेकिन मैं आपको बता दूं कि ये दो अलग-अलग मंदिर हैं। ये मंदिर बहुत दूर नहीं हैं और कहा जाता है कि इस मंदिर के गर्भग्रह में एक गुफा है जो महाकाल मंदिर से जुड़ी हुई है। जहां भैरो बाबा का मंदिर अपने आप में प्रसिद्ध है वहीं महाकाल मंदिर से जुड़े भी कई रहस्य हैं। आज हम आपको महाकाल मंदिर से जुड़े रहस्यों के बारे में बताने जा रहे हैं ।

पढ़ें :- गोबर के उपले फेंकते नजर आई महिला, वीडियो देख रह जायेंगे हैरान

उज्जैन के महाकालेश्वर मंदिर और काल भैरो के मंदिर के बारे में तो आप जानते ही होंगे। कालभैरो का मंदिर देश का ही नहीं बल्कि दुनिया का एकमात्र ऐसा मंदिर है जहां भगवान शिव को शराब पिलाई जाती है जैसा कि हम लोग जानतें है अन्य मंदिरों के आस-पास शराब आदि की दुकानें हटा दी जाती हैं ।

वहीं दूसरी ओर महाकाल के मंदिर परिसर से लेकर इसके रास्ते तक में बहुत सारी शराब की दुकानें लगवाई गई हैं और यही नहीं यहां प्रसाद बेचने वाले लोग भी शराब अपने पास रखते हैं। 12 ज्योतिर्लिंगों में से एक महाकालेश्वर का शिवलिंग स्वयंभू (अपने आप प्रकट हुआ) माना जाता है। आज तक ये कोई भी नहीं जानता कि भगवान शिव को मदिरा पिलाने का रिवाज कब से आया और आखिर इतनी शराब जो भगवान शिव पीते हैं वो जाती कहां है।

बताया जाता है कि महाकाल में भस्म आरती काफी शानदार होती है पहले यहां जलती हुई चिता की राख लाकर पूजा की जाती थी। इसलिए कहा जाता था कि महाकाल का संबंध मृत्यु से है, पर ये पूरा सच नहीं है। दरअसल, काल का मतलब मृत्यु और समय दोनों होते हैं और ऐसा माना जाता है कि प्राचीन काल में पूरी दुनिया का मनक समय यहीं से निर्धारित होता था इसलिए इसे महाकालेश्वर नाम दे दिया गया।

महाकालेश्वर मंदिर के परिसर में ऐसा माना जाता है कि विक्रमादित्य के समय से ही कोई राजा या मंत्री इस मंदिर के पास और शहर में रात नहीं गुजारता है। इससे जुड़े कई उदाहरण भी प्रसिद्ध हैं जिनके बारे में आपको जानकर आश्चर्य होगा। बताया जाता है कि देश के चौथे प्रधानमंत्री मोरारजी देसाई मंदिर के दर्शन करने के बाद रात में यहां रुके थे तो उनकी सरकार अगले ही दिन गिर गई थी|

पढ़ें :- केदारनाथ के बारे में अनोखी बातें जानकर रह जायेंगे हैरान

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...