उन्नाव: ट्रांस गंगा सिटी में भड़के किसान, जमकर तोड़फोड़, पुलिस ने भांजी लाठियां, हंगामा जारी

Dispute in unnao
उन्नाव: ट्रांस गंगा सिटी में भड़के किसान, जमकर तोड़फोड़, पुलिस ने भांजी लाठियां, हंगामा जारी

लखनऊ। राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण के ड्रीम प्रोजेक्ट उन्नाव ट्रांस गंगा सिटी में शनिवार को जमीन अधिगृहण के मुआवजे की मांग को लेकर किसान आंदोलित हो गए। आक्रोशित किसानों ने सड़क पर उतरकर जमकर उपद्रव किया। किसानों ने जेसीबी, कार और बस में तोड़फोड़ की। मामला बढ़ता देख एसडीएम सदर दिनेश कुमार सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट राकेश कुमार ने 13 थानों की फोर्स व पीएसी बल के साथ मोर्चा संभाला। फिलहाल डीएम देवेंद्र कुमार पाण्डेय किसान नेताओं के साथ वार्ता कर रहे हैं।

Unnao Farmers Raging In Trans Ganges City Sabotage Police Niece Sticks Commotion Continues :

किसान नेता सनोज यावद का आरोप है कि यूपी सीडा ने गलत तरीके से किसानों की जमीन अधिग्रहीत की है। ऐसे में किसानों को उचित मुआवजा दिया जाए। इसके साथ नौकरी व डेवलेपमेंट लैंड मुहैया कराई जाई। इस बीच शनिवार सुबह अधिकारी प्रशासन और किसानों के बीच बातचीत का रास्ता निकालने की कोशिश में जुटे। इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच झड़प हुई। जिसमें पुलिस के तीन वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं। किसान नारेबाजी कर रहे हैं। भारी फोर्स मौके पर तैनात है। किसानों ने दो दिन पहले ही पेड़ों पर फंदे बना लिए थे। किसानों का कहना है कि अगर प्रशासन ने उनके विरोध में कार्रवाई की तो फांसी लगाकर आत्महत्या कर लेंगे। मौके पर 200 से 300 किसान मौके पर मौजूद हैं।

हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने लाठीचार्ज कर किसानों को खदेड़ा। इसके बाद किसानों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। सीओ सिटी और एक चौकी इंचार्ज घायल हुए हैं। वहीं छह किसान घायल हुए हैं। दो किसानों को गंभीर हालत में उपचार के लिए अस्पताल भेजा है। पुलिस ने छह आंसू गैस के गोले दागे। किसान नेता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यूपी सीडा ने किसानों द्वारा कब्जा की हुई जमीन पर निर्माण कार्य शुरू करा दिया है।

लखनऊ। राज्य औद्योगिक विकास प्राधिकरण के ड्रीम प्रोजेक्ट उन्नाव ट्रांस गंगा सिटी में शनिवार को जमीन अधिगृहण के मुआवजे की मांग को लेकर किसान आंदोलित हो गए। आक्रोशित किसानों ने सड़क पर उतरकर जमकर उपद्रव किया। किसानों ने जेसीबी, कार और बस में तोड़फोड़ की। मामला बढ़ता देख एसडीएम सदर दिनेश कुमार सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट राकेश कुमार ने 13 थानों की फोर्स व पीएसी बल के साथ मोर्चा संभाला। फिलहाल डीएम देवेंद्र कुमार पाण्डेय किसान नेताओं के साथ वार्ता कर रहे हैं। किसान नेता सनोज यावद का आरोप है कि यूपी सीडा ने गलत तरीके से किसानों की जमीन अधिग्रहीत की है। ऐसे में किसानों को उचित मुआवजा दिया जाए। इसके साथ नौकरी व डेवलेपमेंट लैंड मुहैया कराई जाई। इस बीच शनिवार सुबह अधिकारी प्रशासन और किसानों के बीच बातचीत का रास्ता निकालने की कोशिश में जुटे। इस दौरान किसानों और पुलिस के बीच झड़प हुई। जिसमें पुलिस के तीन वाहन क्षतिग्रस्त हुए हैं। किसान नारेबाजी कर रहे हैं। भारी फोर्स मौके पर तैनात है। किसानों ने दो दिन पहले ही पेड़ों पर फंदे बना लिए थे। किसानों का कहना है कि अगर प्रशासन ने उनके विरोध में कार्रवाई की तो फांसी लगाकर आत्महत्या कर लेंगे। मौके पर 200 से 300 किसान मौके पर मौजूद हैं। हंगामा बढ़ता देख पुलिस ने लाठीचार्ज कर किसानों को खदेड़ा। इसके बाद किसानों ने पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया। सीओ सिटी और एक चौकी इंचार्ज घायल हुए हैं। वहीं छह किसान घायल हुए हैं। दो किसानों को गंभीर हालत में उपचार के लिए अस्पताल भेजा है। पुलिस ने छह आंसू गैस के गोले दागे। किसान नेता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। यूपी सीडा ने किसानों द्वारा कब्जा की हुई जमीन पर निर्माण कार्य शुरू करा दिया है।