उन्नाव रेप प्रकरण: कब्र से खुदवाकर आधी रात में हुआ गवाह के शव का पोस्टमार्टम

unnao rape case
उन्नाव रेप प्रकरण: कब्र से खुदवाकर आधी रात में हुआ गवाह के शव का पोस्टमार्टम

उन्नाव। उन्नाव के चर्चित रेपकांड मे सीबीआई के गवाह की संदिग्ध हालात में मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट कर इस पर सवाल उठाने के बाद सरकार हरकत में आई, जिसके आदेश पर पुलिस प्रशासन मृतक का पोस्टमार्टम के कराने के लिए उसके परिजनों को समझाने लगा। इसके बावजूद भी वो लोग तैयार नही हुए। तब पुलिस ने मौलानाओं और मुस्लिम धर्मगुरुओं की मदद ली और शनिवार रात बलपूर्वक मृतक युनूस का शव कब्र से खुदवाकर मर्चरी पहुंचाया।

Unnao Rape Case Witness Yunus Post Mortem Happened After Midnight :

यहां पर पुलिस की ओर से कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद डॉक्टर तन्मय कक्कड़ के नेतृत्व में डॉक्टर तपन गुप्ता और डॉक्टर सिद्धार्थ के पैनल में वीडियोग्राफी के सामने शव का पोस्टमार्टम किया। पुलिस विभाग और प्रशासन के आला अफसर मौके पर डटे रहे। रात 2 बजे पोस्टमार्टम करने के बाद यूनुस के शव को दोबारा उसके गांव ले जाकर दफनाया गया। गांव में किसी तरह का तनाव ना हो इसके लिए फोर्स तैनात की गई है।

बता दें कि बहुचर्चित रेप प्रकरण में पीड़िता के चाचा ने आरोप लगाया था कि यूनुस खान सीबीआई का मुख्य गवाह है। जिसकी 18 अगस्त को संदिग्ध हालातों में मौत हो जाती है और पोस्टमार्टम नहीं कराया जाता है। उसने एसपी और डीएम को प्रार्थना पत्र देकर शव के पोस्टमार्टम कराने की मांग की थी। इसके बाद प्रशासनिक अमले में उस समय भूचाल आ गया जब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि सीबीआई के गवाह की हत्या कर दी गई इसमें साजिश की बू आ रही है। तब जाकर प्रशासन ने शासन के निर्देश पर यूनुस खान का पोस्टमार्टम कराने का निर्णय लिया।

उन्नाव। उन्नाव के चर्चित रेपकांड मे सीबीआई के गवाह की संदिग्ध हालात में मौत के मामले ने तूल पकड़ लिया है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट कर इस पर सवाल उठाने के बाद सरकार हरकत में आई, जिसके आदेश पर पुलिस प्रशासन मृतक का पोस्टमार्टम के कराने के लिए उसके परिजनों को समझाने लगा। इसके बावजूद भी वो लोग तैयार नही हुए। तब पुलिस ने मौलानाओं और मुस्लिम धर्मगुरुओं की मदद ली और शनिवार रात बलपूर्वक मृतक युनूस का शव कब्र से खुदवाकर मर्चरी पहुंचाया।यहां पर पुलिस की ओर से कागजी कार्रवाई पूरी करने के बाद डॉक्टर तन्मय कक्कड़ के नेतृत्व में डॉक्टर तपन गुप्ता और डॉक्टर सिद्धार्थ के पैनल में वीडियोग्राफी के सामने शव का पोस्टमार्टम किया। पुलिस विभाग और प्रशासन के आला अफसर मौके पर डटे रहे। रात 2 बजे पोस्टमार्टम करने के बाद यूनुस के शव को दोबारा उसके गांव ले जाकर दफनाया गया। गांव में किसी तरह का तनाव ना हो इसके लिए फोर्स तैनात की गई है।बता दें कि बहुचर्चित रेप प्रकरण में पीड़िता के चाचा ने आरोप लगाया था कि यूनुस खान सीबीआई का मुख्य गवाह है। जिसकी 18 अगस्त को संदिग्ध हालातों में मौत हो जाती है और पोस्टमार्टम नहीं कराया जाता है। उसने एसपी और डीएम को प्रार्थना पत्र देकर शव के पोस्टमार्टम कराने की मांग की थी। इसके बाद प्रशासनिक अमले में उस समय भूचाल आ गया जब कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करके कहा कि सीबीआई के गवाह की हत्या कर दी गई इसमें साजिश की बू आ रही है। तब जाकर प्रशासन ने शासन के निर्देश पर यूनुस खान का पोस्टमार्टम कराने का निर्णय लिया।