उन्नाव रेप पीड़िता ने तोड़ा दम, 5 आरोपियों पर पेट्रोल डालकर जलाने का लगा है आरोप

Unnao rape victim broke down
उन्नाव रेप पीड़िता ने तोड़ा दम, 5 आरोपियों पर पेट्रोल डालकर जलाने का लगा है आरोप

नई दिल्ली। उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में रेप पीड़िता को गुरूवार सुबह पेट्रोल डालकर जला दिया गया था जिसके बाद उसे लखनउ लाया गया था। बाद में गम्भीर हालत देखते हुए एयरलिफ्ट से उसे दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल ले जाया गया था। जहां शुक्रवार रात 11.40 पर उसने दम तोड़ दिया। वहीं इस मामले में पीड़िता के बयान पर 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

Unnao Rape Victim Broke Down 5 Accused Are Charged With Burning Petrol :

बताया गया कि पीड़िता 95 फीसदी तक जल गयी थी इसलिए उसे दिल्ली ले जाया गया था लेकिन उसकी जान न बचाई जा सकी। आपको बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता का आरोप था कि बीते वर्ष गांव के ही शिवम ने उसके साथ शादी का झांसा देकर रेप किया, इसके बाद शिवम के करीबी शुभम ने भी उसके साथ जबरन रेप किया। फिर पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज हुआ और उन्हे जेल भेज दिया गया। आरोप है कि बीते 30 नवंबर को शिवम जमानत पर जेल से रिहा हुआ और गुरूवार सुबह जब पीड़िता बैसवार रेलवे स्टेशन जा रही थी तभी शिवम ने शुभम व 3 अन्य के साथ मिलकर उसे जला दिया। पीड़िता के बयान पर उसी दिन पुलिस ने पांचो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था।

पीड़ित परिवार का कहना है कि जब पीड़िता ने आखिरी बार अपने भाई को गले लगाया तो वह कह रही थी वह जीना चाहती है और अपने गुनहगारों को फांसी के फंदे पर लटकते हुए देखना चाहती है। परिवार का कहना है कि उनकी बेटी की ये आखिरी ख्वाहिश अधूरी रह गई। जिंदगी और मौत के बीच कई घंटो तक पीड़िता जंग लड़ती रही लेकिन कुछ देर बाद ही हमेशा-हमेशा के लिए खामोश हो गई। सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया हमारे बड़े प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका।

नई दिल्ली। उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में रेप पीड़िता को गुरूवार सुबह पेट्रोल डालकर जला दिया गया था जिसके बाद उसे लखनउ लाया गया था। बाद में गम्भीर हालत देखते हुए एयरलिफ्ट से उसे दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल ले जाया गया था। जहां शुक्रवार रात 11.40 पर उसने दम तोड़ दिया। वहीं इस मामले में पीड़िता के बयान पर 5 लोगों को गिरफ्तार किया गया है। बताया गया कि पीड़िता 95 फीसदी तक जल गयी थी इसलिए उसे दिल्ली ले जाया गया था लेकिन उसकी जान न बचाई जा सकी। आपको बता दें कि उन्नाव रेप पीड़िता का आरोप था कि बीते वर्ष गांव के ही शिवम ने उसके साथ शादी का झांसा देकर रेप किया, इसके बाद शिवम के करीबी शुभम ने भी उसके साथ जबरन रेप किया। फिर पीड़िता की तहरीर पर मुकदमा दर्ज हुआ और उन्हे जेल भेज दिया गया। आरोप है कि बीते 30 नवंबर को शिवम जमानत पर जेल से रिहा हुआ और गुरूवार सुबह जब पीड़िता बैसवार रेलवे स्टेशन जा रही थी तभी शिवम ने शुभम व 3 अन्य के साथ मिलकर उसे जला दिया। पीड़िता के बयान पर उसी दिन पुलिस ने पांचो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था। पीड़ित परिवार का कहना है कि जब पीड़िता ने आखिरी बार अपने भाई को गले लगाया तो वह कह रही थी वह जीना चाहती है और अपने गुनहगारों को फांसी के फंदे पर लटकते हुए देखना चाहती है। परिवार का कहना है कि उनकी बेटी की ये आखिरी ख्वाहिश अधूरी रह गई। जिंदगी और मौत के बीच कई घंटो तक पीड़िता जंग लड़ती रही लेकिन कुछ देर बाद ही हमेशा-हमेशा के लिए खामोश हो गई। सफदरजंग अस्पताल के बर्न एंड प्लास्टिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड डॉ. शलभ कुमार ने बताया हमारे बड़े प्रयासों के बावजूद पीड़िता को बचाया नहीं जा सका।