उन्नाव कांड : गैंगरेप पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुआ चौंकाने वाला खुलासा, नहीं हुई थी मारपीट

Unnao gang rape
SIT ने उन्नाव रेप पीड़िता को जलाकर मारने के आरोपियो को रिमांड पर लेकर की पूछताछ

उन्नाव। उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में गैंगरेप पीड़िता को कथित रूप से जला कर मारने के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में एक बड़ा खुलासा हुआ है। पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ज्वलन संक्रमण से मौत की पुष्टि बताई जा रही है। खास बात यह है कि मृतका के शरीर पर चोट का एक भी निशान नहीं मिला है। वहीं मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान में पीड़िता ने लाठी से मारने और चाकू से गले पर वार करने की बात भी कही थी।

Unnao Scandal Shocking Disclosure In The Post Mortem Report Of The Gang Rape Victim There Was No Assault :

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसी ज्वलनशील पदार्थ से जलने के बाद संक्रमण से गैंगरेप पीड़िता की मौत होने की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट में पीड़िता के शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं, जबकि पीड़िता ने अपने मजिस्ट्रेटी बयान में बताया था कि लाठी डंडे से मारने पीटने के बाद चाकू से गले पर वार भी किया गया था। सूत्रों की मानें तो पीड़िता के बयान और पोस्टमार्टम रिपोर्ट दोनों ने पुलिस को उलझा कर रख दिया। मामले की जांच कर रही पुलिस के समक्ष एक अन्य युवक भी निकल कर सामने आ रहा है।

बता दें कि दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में पीड़िता की मौत होने पर पोस्टमार्टम करवाया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पहले सफदरगंज थाने और उसके बाद दिल्ली एसपी के पास भेजी गई है। मामले की जांच पड़ताल में देरी न होने पाए। इसके लिए एसपी उन्नाव ने विशेष वाहक को रिपोर्ट लाने के लिए दिल्ली भेजा है। रिपोर्ट आने के बाद अन्य साक्ष्यों पर मामले की विवेचना कर रहे इंस्पेक्टर से जांच पड़ताल की जाएगी। उसके बाद ही मामले की निष्पक्ष जांच हो सकेगी।

एसपी से गठित टीम मामले की जांच में जुटी हुई है। सर्विलांस की मदद से 5 दिसंबर की सुबह घटनास्थल पर मौजूद मोबाइल फोन की पड़ताल की है। अलसुबह क्षेत्रों के जिन मोबाइल नंबरों पर बातचीत की गई है, पुलिस ने उनकी कॉल डिटेल खंगाल ली है। उसमें एक अन्य युवक ने आरोपित से कई बार बातचीत की है। उसी आधार पर पुलिस युवक को बार-बार पूछताछ के लिए हिरासत में ले रही है।

उन्नाव। उन्नाव के बिहार थाना क्षेत्र में गैंगरेप पीड़िता को कथित रूप से जला कर मारने के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में एक बड़ा खुलासा हुआ है। पीड़िता की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में ज्वलन संक्रमण से मौत की पुष्टि बताई जा रही है। खास बात यह है कि मृतका के शरीर पर चोट का एक भी निशान नहीं मिला है। वहीं मजिस्ट्रेट के सामने अपने बयान में पीड़िता ने लाठी से मारने और चाकू से गले पर वार करने की बात भी कही थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किसी ज्वलनशील पदार्थ से जलने के बाद संक्रमण से गैंगरेप पीड़िता की मौत होने की पुष्टि हुई है। रिपोर्ट में पीड़िता के शरीर पर कोई चोट के निशान नहीं मिले हैं, जबकि पीड़िता ने अपने मजिस्ट्रेटी बयान में बताया था कि लाठी डंडे से मारने पीटने के बाद चाकू से गले पर वार भी किया गया था। सूत्रों की मानें तो पीड़िता के बयान और पोस्टमार्टम रिपोर्ट दोनों ने पुलिस को उलझा कर रख दिया। मामले की जांच कर रही पुलिस के समक्ष एक अन्य युवक भी निकल कर सामने आ रहा है। बता दें कि दिल्ली के सफदरगंज अस्पताल में पीड़िता की मौत होने पर पोस्टमार्टम करवाया गया था। पोस्टमार्टम रिपोर्ट पहले सफदरगंज थाने और उसके बाद दिल्ली एसपी के पास भेजी गई है। मामले की जांच पड़ताल में देरी न होने पाए। इसके लिए एसपी उन्नाव ने विशेष वाहक को रिपोर्ट लाने के लिए दिल्ली भेजा है। रिपोर्ट आने के बाद अन्य साक्ष्यों पर मामले की विवेचना कर रहे इंस्पेक्टर से जांच पड़ताल की जाएगी। उसके बाद ही मामले की निष्पक्ष जांच हो सकेगी। एसपी से गठित टीम मामले की जांच में जुटी हुई है। सर्विलांस की मदद से 5 दिसंबर की सुबह घटनास्थल पर मौजूद मोबाइल फोन की पड़ताल की है। अलसुबह क्षेत्रों के जिन मोबाइल नंबरों पर बातचीत की गई है, पुलिस ने उनकी कॉल डिटेल खंगाल ली है। उसमें एक अन्य युवक ने आरोपित से कई बार बातचीत की है। उसी आधार पर पुलिस युवक को बार-बार पूछताछ के लिए हिरासत में ले रही है।