उन्नाव : जहरीली गैस की चपेट में आए सेफ्टी टैंक साफ करने उतरे दो मजदूर, मौत

सेफ्टी टैंक
उन्नाव : जहरीली गैस की चपेट में आए सेफ्टी टैंक साफ करने उतरे दो मजदूर, मौत

लखनऊ। यूपी के उन्नाव जिले में दही चौकी स्थित एक फैक्ट्री में गुरुवार की सुबह सेफ्टी टैंक साफ करते समय जहरीली गैस की चपेट में आने से दो मजदूरों की मौत हो गई। इस घटना से फैक्ट्री में हड़कंप मच गया। मजदूरों को किसी तरह टैंक से बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक उनकी सांसें थम चुकी थी। मजदूरों को तत्काल जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया ।

Unnao Two Laborers Come To Clean The Safety Tank Hit By Poisonous Gas Death :

पुलिस के मुताबिक अजगैन थाना क्षेत्र के दौलतखेड़ा गांव में रहने वाले अनिल पुत्र गणेश गुरुवार की सुबह दही चौकी एक फैक्ट्री में सेफ्टी टैंक साफ करने के लिए उतरा था। इसी दौरान टैंक में जहरीली गैस होने से वह अचेत होकर गिर गया। यह देख फैक्ट्री में ही काम करने वाला माखी थाना क्षेत्र का पवई गांव का रहने वाला अनिल पुत्र गुरुप्रसाद उसे बचाने के लिए टैंक के अंदर उतर गया। टैंक में उतरते ही उसका भी दम घुटने लगा और वह भी अचेत होकर गिर गया। यह देख एक अन्य मजदूर ने आनन-फानन प्रबंध तंत्र को सूचना दी।

मौके पर पहुंचे अन्य कर्मचारियों ने तत्काल दोनों मजदूरों को बाहर निकाला। दोनों की हालत बिगड़ती देख सुपरवाइजर श्याम प्रकाश पांडे उन्हें लेकर जिला अस्पताल के इमरजेंसी पहुंचे। इमरजेंसी में तैनात डॉ शोभित अग्निहोत्री ने दोनों मजदूरों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने दोनों शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज कर परिजनों को सूचित सूचना दे दी।

लखनऊ। यूपी के उन्नाव जिले में दही चौकी स्थित एक फैक्ट्री में गुरुवार की सुबह सेफ्टी टैंक साफ करते समय जहरीली गैस की चपेट में आने से दो मजदूरों की मौत हो गई। इस घटना से फैक्ट्री में हड़कंप मच गया। मजदूरों को किसी तरह टैंक से बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक उनकी सांसें थम चुकी थी। मजदूरों को तत्काल जिला अस्पताल के इमरजेंसी वार्ड पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया । पुलिस के मुताबिक अजगैन थाना क्षेत्र के दौलतखेड़ा गांव में रहने वाले अनिल पुत्र गणेश गुरुवार की सुबह दही चौकी एक फैक्ट्री में सेफ्टी टैंक साफ करने के लिए उतरा था। इसी दौरान टैंक में जहरीली गैस होने से वह अचेत होकर गिर गया। यह देख फैक्ट्री में ही काम करने वाला माखी थाना क्षेत्र का पवई गांव का रहने वाला अनिल पुत्र गुरुप्रसाद उसे बचाने के लिए टैंक के अंदर उतर गया। टैंक में उतरते ही उसका भी दम घुटने लगा और वह भी अचेत होकर गिर गया। यह देख एक अन्य मजदूर ने आनन-फानन प्रबंध तंत्र को सूचना दी। मौके पर पहुंचे अन्य कर्मचारियों ने तत्काल दोनों मजदूरों को बाहर निकाला। दोनों की हालत बिगड़ती देख सुपरवाइजर श्याम प्रकाश पांडे उन्हें लेकर जिला अस्पताल के इमरजेंसी पहुंचे। इमरजेंसी में तैनात डॉ शोभित अग्निहोत्री ने दोनों मजदूरों को मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने दोनों शव को पोस्टमार्टम हाउस भेज कर परिजनों को सूचित सूचना दे दी।