त्वरित पुलिस सहायता उपलब्ध करये जाने वाली डायल 100 की खुली पोल

बिजनौर: त्वरित पुलिस सहायता उपलब्ध करये जाने सम्बंधित 100 नंबर डायल की पोल पट्टी बीती रात उस समय खुल गयी जब चन्द कदमो के फासले से खडी पुलिस की दो गाड़ियों के बीच वाली एक गली मे चोरो ने एक स्थानीय प्राइवेट चौकीदार को मार पीट कर लहूलुहान कर दिया। ग्रामीणो के शोर मचाने व फोन करने के बाबजूद भी पुलिस का सहयोग नही मिल सका और चोर नौ दो ग्यारह हो गये। पुलिस की निष्क्रयता से गुस्साये दुकानदारो ने दिन निकलते ही थाने को घेर लिया।




प्राप्त समाचार के अनुसार, बीती रात थाना कोतवाली देहात के मेन बाजार मे चौकीदार भक्त राज भंडारी (बाहदुर) चौकीदारी कर रहा था कि उसे एक व्यक्ति गली मे खडा दिखाई दिया और गली मे भगने लगा जिसका पीछा चौकीदार ने किया तो चोर के तीन अन्य साथी भी आ गये तथा चौकीदार को पकड लिया चौकीदार के शोर मचाने पर उसके साथ डंडो से मारपीट शुरू कर दिया। शोर सुनकर आस पास के लोग मदद के लिऐ घटना स्थल पर पहुंचने लगे अन्धेरे का फायदा उठाकर चोर मौके से भागने मे सफल रहे।




गौरतलब है कि घटना स्थल से मात्र पचास मीटर की दूरी पर पुलिस की दो गाड़ियां खडी थी। चोर चौकीदार को पीटते रहे और चौकीदार चीखता चिल्लाता रहा लेकिन पुलिस मदद के लिऐ नही आयी। 100 नंबर गाडी के विषय मे पुलिस का कहना है कि जब तक लखनऊ से दिशा निर्देश नही मिलते पुलिस कोई कार्यवाही नही कर सकती। इस तरह से सरकार द्धारा पन्द्रह से बीस मिनट में पीडित को मदद मिलने का दावा टाय टाय फिस हो गया घटना व पुलिस की कार्यशैली को लेकर कस्बे मे चर्चाओ का दौर जारी है।