सपा से महागठबंधन का सवाल ही नहीं उठता: राजबब्बर

लखनऊ: महागठबंधन पर बाहरी कैसे फैसला ले सकता हैं। प्रशांत को जो जिम्मेदारी सौंपी गयी हैं वह उसी पर ध्यान दें। यह बात कांगे्रस के प्रदेश अध्यक्ष राजबब्बर ने सपा के साथ महागठबंधन पर कहीं। सपा सुप्रीमो मुलायम सिंह यादव और कांग्रेस के चुनाव रणनीतिकार प्रशांत किशोर के बीच दो दिन पहले दिल्ली में हुई बैठक पर राजबब्बर ने कई प्रतिक्रिया दी है। इस बैठक में प्रशांत किशोर के साथ अमर सिंह भी मौजूद थे।




बब्बर ने कहा कि समाजवादी पार्टी से महागठबंधन को लेकर कोई बाहरी (प्रशांत किशोर) कैसे फैसला ले सकते है? उन्होंने कहा प्रशांत कि प्रशांत किशोर को गठबंधन पर बात करने जैसी कोई जिम्मेदारी नहीं दी गई है। समाजवादी पार्टी से महागठबंधन की संभावना से श्री बब्बर ने साफ इंकार किया है। उन्होंने आगे कहा कि महागठबंधन को लेकर न मुझे पता है और न ही प्रभारी किसी प्रभारी को जानकारी है।

इस पर कोई बाहरी कैसे फैसला कर सकता है। कांग्रेस खुद में एक महागठबंधन है। किसी और गठबंधन की जरुरत नहीं है। राजबब्बर ने कहा कि महागठबंधन को लेकर पार्टी के किसी सदस्य से इस बारे में कोई संपर्क भी नहीं किया गया है। सपा के रजत जयंती पर कांग्रेस के किसी नेता के शामिल होने से भी उन्होंने साफ इंकार कर दिया।




उन्होंने कहा कि रजत जयंती में जाने का कोई सवाल ही नहीं उठता। उन्होंने गुरुवार को प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा निकाली गई समाजवादी विकास रथ यात्रा पर भी तंज कसा। उन्होंने कहा कि साढ़े चार वर्ष बीत जाने के बाद सरकार को अपने विकास काम को जनता के बीच दिखाने की क्या जरुरत थी। मुख्यमंत्री का विकास रथ तो आधा किलोमीटर भी नहीं चल सका और लोहिया पथ पर ही रूक गया।