रालोद, जदयू व बीएस-4 मिलकर लड़ेंगे विधानसभा चुनाव, जीते तो जयंत चौधरी होंगे सीएम

लखनऊ। कई राजनीतिक दलों में अपनी संभावना तलाशने के बाद राष्ट्रीय लोकदल के अध्यक्ष चौधरी अजित सिंह ने आखिर दो दलों के साथ गठबंधन कर ही लिया। उन्होंने पार्टी कार्यालय में सोमवार को जनता दल यूनाइटेड व बहुजन समाज स्वाभिमान संघर्ष समिति (बीएस-4) के साथ मिलकर यूपी विधान सभा चुनाव लड़ने की घोषणा की। गठबंधन की घोषणा के पहले चौ. अजित ने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव पर चौ. चरण सिंह व डा. लोहिया की नीतियों से भटकने का आरोप लगाया। इस मौके पर जदयू के वरिष्ठ नेता एवं सांसद शरद यादव, जदयू प्रवक्ता केसी त्यागी और बीएस-फोर के बचान सिंह यादव भी मौजूद थे।




इस मौके पर आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सिंह ने कहा कि तीनों दलों का यह गठबंधन प्रदेश की विधानसभा की सभी सीटों पर चुनाव लड़ेगा। इस दल की ओर से चुनाव में मुख्यमंत्री का चेहरा चौ. अजित के पुत्र एवं रालोद के राष्ट्रीय महासचिव जयंत चौधरी के नाम की घोषणा की जा चुकी है। उन्होंने कहा कि वह आगामी विधानसभा चुनाव में साम्प्रदायिक ताकतों को रोकने के लिए चौ. चरण व लोहिया के अनुयाइयों के साथ मिलकर चुनाव लड़ने के पक्ष में हैं और इसके लिए प्रयास भी किया गया।




उन्होंने कहा कि बीते पांच नवम्बर को सपा के रजत जयंती समारोह में हम लोगों ने भाजपा का मुकाबला करने के लिए महागठबंधन के लिए खाका तैयार किया था लेकिन सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव ने महागठबंधन न कर पार्टी के विलय की शर्त रख दी। वह रालोद के विलय की तो बात करते हैं लेकिन बिहार में सपा के विलय से इंकार कर दिया था।