सीएम योगी के गोरखपुर से जुड़े पाकिस्तान के तार, UP ATS की छापेमारी में 10 गिरफ्तार

up ats gorakhpur terrorist, यूपी एटीएस
सीएम योगी के गोरखपुर से जुड़े पाकिस्तान के तार, UP ATS की छापेमारी में 10 गिरफ्तार
लखनऊ। यूपी एटीएस(UP ATS) ने आतंकी संगठन के एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ किया है। एटीएस की टीम ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर समेत आस-पास के कई जिलों में छापेमारी कर 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से बड़ी मात्रा में कैश और इलेक्ट्रानिक उपकरण बरामद हुए हैं। एटीएस गिरफ्तारी के बाद आरोपियों से पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार लोगों के तार मध्य प्रदेश के रीवा में टेरर फंडिंग से जुड़े हैं। बताते…

लखनऊ। यूपी एटीएस(UP ATS) ने आतंकी संगठन के एक बड़े गिरोह का भंडाफोड़ किया है। एटीएस की टीम ने उत्तर प्रदेश के गोरखपुर समेत आस-पास के कई जिलों में छापेमारी कर 10 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनके पास से बड़ी मात्रा में कैश और इलेक्ट्रानिक उपकरण बरामद हुए हैं। एटीएस गिरफ्तारी के बाद आरोपियों से पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि गिरफ्तार लोगों के तार मध्य प्रदेश के रीवा में टेरर फंडिंग से जुड़े हैं।

बताते चलें कि एटीएस ने जिस पाकिस्तान से संचालित टेरर फंडिंग नेटवर्क का भंडाफोड़ किया है, उसका जाल प्रदेश के कई हिस्सों में फैला हुआ है। चौंकाने वाली बात तो यह है कि सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गृह जनपद गोरखपुर में भी इस आतंकवादी नेटवर्क के तार फैले हुए हैं। एटीएस से मिली जानकारी के मुताबिक, गोरखपुर में टेरर फंडिंग नेटवर्क आतंकी संगठन लश्कर ए तैयबा के इशारे पर चल रहा था। इनकी गिरफ़्तारी लखनऊ, प्रतापगढ़, कुशीनगर, पड़रौना और एमपी के रीवा से हुई है। अभी तक कुल 10 गिरफ्तारी हो चुकी हैं।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ: अचानक प्लेटफॉर्म बदलने से मची भगदड़, 1 की मौत कई घायल }

एटीएस सूत्रों की मानें तो यहां छापेमारी के दौरान 50 लाख से अधिक कैश बरामद हुआ है। इसके साथ ही एटीएस ने यहां से कई लैपटॉप, हार्ड डिस्क, पेन ड्राइव और मोबाइल फोन, एटीएम कार्ड, 6 स्वाइप मशीन, मैग्नेटिक कार्ड रीडर, देसी पिस्टल और 10 कारतूस जब्त किए हैं।

इनकी हुई है गिरफ़्तारी-

प्रतापगढ़ रानीगंज से संजय सरोज, नीरज मिश्र, लखनऊ गांधी ग्राम के साहिल मसीह, मध्य प्रदेश रीवा से शंकर सिंह, गोपालगंज बिहार के मुकेश प्रसाद, पडरौना कुशीनगर के मुशर्रफ अंसारी, आजमगढ़ के सुशील राय उर्फ अंकुर राय, गोरखपुर से दयानंद यादव, अरशद नईम और नसीम अहमद। हालांकि अभी भी एटीएस की कार्रवाई जारी है।

{ यह भी पढ़ें:- बुंदेलखंड के किसानों ने योगी को खून से लिखा खत, उठाई यह मांग  }

Loading...