UP Board Exam: 7 मार्च की परीक्षा का प्रश्न पत्र 6 को ही बट गया, मामला दर्ज

UP Board Exam: 7 मार्च की परीक्षा का प्रश्न पत्र 6 को ही बट गया, मामला दर्ज
UP Board Exam: 7 मार्च की परीक्षा का प्रश्न पत्र 6 को ही बट गया, मामला दर्ज

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(यूपी) की 12 वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू हो गयी हैं। मुजफ्फरनगर के एक परीक्षा केंद्र में पेपर आउट होने की वजह से परीक्षा केंद्र में हड़कंप मच गया। बायोलॉजी और कॉमर्स के प्रथम प्रश्नपत्रों के स्थान पर इन विषयों के दूसरे प्रश्नपत्र बांटने की लापरवाही के मामले में एक परीक्षा केंद्र के नियंत्रक समेत छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।

Up Board Exam Six Persons Booked For Distributing Paper A Day Before In Muzaffarnagar :

स्कूलों के जिला निरीक्षक से पता चला कि बायोलॉजी और कॉमर्स के दूसरे प्रश्नपत्र की परीक्षा सात मार्च को होनी थी, लेकिन छह मार्च को होने वाली इन विषयों के प्रथम प्रश्नपत्र की परीक्षा में छात्रों को दूसरे प्रश्नपत्र बांट दिए गए। इस मामले की सूचना उत्तर प्रदेश बोर्ड के अधिकारियों को दे दी गई है।

पुलिस ने बताया कि इस मामले में छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। वहीं उनलोगों को तत्काल परीक्षा केंद्र से हटा दिया गया। वहीं यूपी में नकल पर सख्ती बरतने की वजह से भी कई छात्र परीक्षा से तौबा कर चुके हैं।

मुजफ्फरनगर। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा बोर्ड(यूपी) की 12 वीं की बोर्ड परीक्षा शुरू हो गयी हैं। मुजफ्फरनगर के एक परीक्षा केंद्र में पेपर आउट होने की वजह से परीक्षा केंद्र में हड़कंप मच गया। बायोलॉजी और कॉमर्स के प्रथम प्रश्नपत्रों के स्थान पर इन विषयों के दूसरे प्रश्नपत्र बांटने की लापरवाही के मामले में एक परीक्षा केंद्र के नियंत्रक समेत छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।स्कूलों के जिला निरीक्षक से पता चला कि बायोलॉजी और कॉमर्स के दूसरे प्रश्नपत्र की परीक्षा सात मार्च को होनी थी, लेकिन छह मार्च को होने वाली इन विषयों के प्रथम प्रश्नपत्र की परीक्षा में छात्रों को दूसरे प्रश्नपत्र बांट दिए गए। इस मामले की सूचना उत्तर प्रदेश बोर्ड के अधिकारियों को दे दी गई है।पुलिस ने बताया कि इस मामले में छह लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। वहीं उनलोगों को तत्काल परीक्षा केंद्र से हटा दिया गया। वहीं यूपी में नकल पर सख्ती बरतने की वजह से भी कई छात्र परीक्षा से तौबा कर चुके हैं।