1. हिन्दी समाचार
  2. यूपी बोर्ड परीक्षा: उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा निकले निरीक्षण पर, पहले दिन गड़बड़ियों का बोलबाला

यूपी बोर्ड परीक्षा: उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा निकले निरीक्षण पर, पहले दिन गड़बड़ियों का बोलबाला

By बलराम सिंह 
Updated Date

Up Board Examination Deputy Chief Minister Dinesh Sharma Went Out On Inspection Disturbances Dominated On The First Day

लखनऊ। उत्तर प्रदेश माध्यमिक शिक्षा परिषद की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट की परीक्षा मंगलवार से शुरू हो गई है। राजधानी लखनऊ में 112 केंद्रों पर परीक्षा आयोजित की जा रही है। इसमें एक लाख एक हजार 276 परीक्षार्थियों के शामिल होने की उम्‍मीद है। नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है। संवेदनशील केंद्रों पर भारी पुलिस बल तैनात की गई है। परीक्षा कक्ष में सीसीटीवी कैमरे परीक्षार्थियों की हर गतिविधि को रिकॉर्ड करेंगे। हाईस्कूल और इंटर में पहले दिन हिंदी की परीक्षा है।

पढ़ें :- 18 अप्रैल 2021 का राशिफल: इन राशि के जातकों को होगा बड़ा लाभ, इनका तनाव दूर होगा... जानिए अपनी राशि का हाल

पहले दिन ही परीक्षा का निरीक्षण करने उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा, माध्यमिक शिक्षा राज्य मंत्री गुलाब देवी तथा प्रमुख सचिव माध्यमिक शिक्षा अराधना शुक्ला के साथ शिक्षा विभाग के आला अधिकारियों ने लखनऊ के कई परीक्षा केंद्रों का दौरा भी किया।

उधर मलिहाबाद स्थित अति संवेदनशील परीक्षा केंद्र की सुरक्षा एक सिपाही के भरोसे छोड़ दी गई। मलिहाबाद के कुंवर आसिफ अली संजू मियां कॉलेज में परीक्षार्थियों से प्रवेश के समय चेकिंग के दौरान उनकी बेल्‍ट तक उतरवा ली गईं। एक तरफ जहां नकलविहीन परीक्षा कराने के लिए इस साल व्यवस्था और सख्त व चाक-चौबंद व्यवस्था की गई है। वहीं, दूसरी तरफ खटारा गाड़ियों से बिना सुरक्षा कर्मियों के केंद्रो पर मण्डलीय सचल दल रवाना हुआ। बताया जा रहा है कि सीतापुर और लखीमपुर के लिए टीमें सुबह 7:30 बजे निकलीं, जबकि इन्हें छह बजे निकलना था। वहीं मलिहाबाद के जनता इंटर कॉलेज बोर्ड परीक्षा के मानकों की धज्जियां उड़ता दिखाई दिया। यहां परीक्षार्थी तीन सेड के नीचे परीक्षा देेेेते दिखाई दिए।

जनपद के 12 केंद्र संवेदनशील और 32 अति संवेदनशील श्रेणी में हैं। इन केंद्रों पर एसटीएफ और पुलिस की पैनी नजर रहेगी। इसके अलावा परीक्षा कक्ष के अंदर इस बार दो कक्ष निरीक्षकों की तैनाती की जा रही है। प्रत्येक कक्ष में दो सीसीटीवी कैमरे रहेंगे। एक आगे और दूसरा पीछे जो हाई स्पीड इंटरनेट से जुड़े होंगे। राउटर और वायस रिकार्डर लगाए गए हैं। सीसीटीवी कैमरे से जिला और राज्य दोनों कंट्रोल रूम से सीधे निगरानी की जाएगी। लापरवाही मिलने पर केंद्र व्यवस्थापक और कक्ष निरीक्षक के खिलाफ भी तत्काल कार्रवाई होगी।

परीक्षा केंद्रों को औचक निरीक्षण के लिए मंडल स्तरीय (लखनऊ, उन्नाव, हरदोई, रायबरेली, सीतापुर और लखीमपुर) के लिए चार सचल दस्ते। जनपद स्तरीय परीक्षा केंद्रों पर भ्रमण के लिए छह सचल दस्ते बनाए गए हैं। यह दस्ते केंद्रों का औचक निरीक्षण करेंगे। दस्ते में एक प्रभारी अधिकारी और चार सदस्य होंगे।

पढ़ें :- कोरोना इफेक्ट : विंध्यवासिनी मंदिर के द्वार 21 अप्रैल तक श्रद्धालुओं के लिए बंद

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट 2020 की परीक्षा मंगलवार से शुरू हो रही है। इसमें प्रदेश भर के 56 लाख से अधिक परीक्षार्थी शामिल होंगे। शासन व बोर्ड प्रशासन ने नकल रोकने के लिए प्रभावी इंतजाम किए हैं। पहली बार परीक्षा केंद्रों की ऑनलाइन निगरानी हाईटेक तरीके से होगी। 395 अति संवेदनशील व 938 संवेदनशील परीक्षा केंद्रों पर खास नजर रहेगी। ऐसे केंद्रों पर स्टेटिक मजिस्ट्रेट तैनात हैं। हाईस्कूल की परीक्षा 12 दिन (तीन मार्च तक) तो इंटर का इम्तिहान 15 दिन तक चलेगा।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...