1. हिन्दी समाचार
  2. योगी सरकार के चौथे बजट में युवाओं को तोहफा, 2500 रुपये प्रति माह देने की तैयारी

योगी सरकार के चौथे बजट में युवाओं को तोहफा, 2500 रुपये प्रति माह देने की तैयारी

By आस्था सिंह 
Updated Date

Up Budget 2020 Yogi Government Will Present Budget Today For Uttar Pradesh

लखनऊ। किसान कर्जमाफी, इन्फ्रास्ट्रक्चर और बेटी कल्याण योजना के बाद अब योगी सरकार नौजवानों/युवाओं पर मेहरबान हो सकती है। 18 फरवरी यानि आज पेश होने जा रहे योगी सरकार के चौथे बजट में युवाओं की नौकरी से लेकर स्वरोजगार संबंधी योजनाओं पर ध्यान देने की उम्मीद है।

पढ़ें :- पंचायत चुनाव: अपने तय समय पर होगा पहला चरण, 18 जिलों में कल होगी वोटिंग

वित्त वर्ष 2020-21 के यूपी बजट में युवाओं से संबंधित तमाम योजनाओं के एलान की तैयारी है। इस बजट में हाईस्कूल, इंटरमीडिएट व ग्रेजुएशन की पढ़ाई करने वाले युवाओं के लिए इंटर्नशिप स्कीम का एलान किया जाएगा। बता दें कि छह महीने से साल भर तक 2,500 रुपये प्रतिमाह नकद और इसके बाद प्लेसमेंट दिलाने की योजना है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हाल में गोरखपुर में इस स्कीम का एलान कर चुके हैं। इसे बजट में शामिल कर लिया गया है। इस बजट की यह सबसे आकर्षक स्कीम हो सकती है।

युवाओं को मिलेगी पसंद की पढ़ाई और नौकरी पर जोर

  • अलीगढ़, आजमगढ़ व सहारनपुर में राज्य विवि, गोरखपुर में आयुष विवि तथा नोएडा में पुलिस फोरेंसिक विवि और नोएडा में ही राष्ट्रीय कौशल विकास विवि का एलान संभव।
  • केंद्र की मदद से 10 और नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना के लिए बजट की व्यवस्था तय मानी जा रही है। अटल चिकित्सा विवि को भी रफ्तार मिलेगी।
  • श्रमिकों के बच्चों की गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के लिए मंडल स्तर पर अटल आवासीय विद्यालयों का शिलान्यास हो चुका है, इसके लिए बजट दिया जाएगा।
  • तहसील स्तर पर आईटीआई की स्थापना के लिए भी बजट तय माना जा रहा है। वित्त विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि इन योजनाओं से युवाओं को घर के पास ही अपनी पसंद की शिक्षा, नौकरी और रोजगार के अवसर मिलेंगे। अभिभावकों का खर्च कम होगा।

कर्नाटक की तर्ज पर बनेगा प्लेसमेंट हब

पढ़ें :- कोरोना की दूसरी लहर से बचने के लिए ऐसे तैयार करें 'इम्‍युनिटी बूस्‍टर'

  • पढ़े-लिखे बेरोजगारों के लिए कर्नाटक की तरह प्लेसमेंट हब बनाने का प्रस्ताव है।
  • व्यावसायिक शिक्षा, कौशल विकास, सेवायोजन व तकनीकी शिक्षा से पढ़ाई करने वाले बच्चों को एक ही प्लेटफॉर्म से प्लेसमेंट दिलाने की व्यवस्था होगी।
  • यहां से जिन्हें नौकरी दिलाई जाएगी, वे काम कर रहे हैं या नहीं, इसकी एक साल तक ट्रैकिंग की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...