1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Budget 2022-23 : मायावती बोलीं- जनता की आंख में धूल झोंकने का खेल आखिर कब तक?

UP Budget 2022-23 : मायावती बोलीं- जनता की आंख में धूल झोंकने का खेल आखिर कब तक?

UP Budget 2022-23 : यूपी की योगी सरकार (Yogi Government) ने गुरुवार को अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश किया है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना (Finance Minister Suresh Khanna) ने विधानसभा में राज्य के लिए 6 लाख 15 हजार 518 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया है। इस दौरान वित्त मंत्री ने जनता के लिए तमाम योजना की घोषणा की है। इस बजट में स्वास्थ्य सुविधाओं से लेकर सभी जिलों में उत्पादों को बढ़ावा देने, फिल्म सिटी की स्थापना करने, मुफ्त गैस कनेक्शन, गरीब लोगों को फ्री राशन देने और किसानों को आर्थिक सहायता देने जैसी तमाम घोषणाएं की।

By संतोष सिंह 
Updated Date

UP Budget 2022-23 : यूपी की योगी सरकार (Yogi Government) ने गुरुवार को अपने दूसरे कार्यकाल का पहला बजट पेश किया है। वित्त मंत्री सुरेश खन्ना (Finance Minister Suresh Khanna) ने विधानसभा में राज्य के लिए 6 लाख 15 हजार 518 करोड़ का बजट प्रस्तावित किया है। इस दौरान वित्त मंत्री ने जनता के लिए तमाम योजना की घोषणा की है। इस बजट में स्वास्थ्य सुविधाओं से लेकर सभी जिलों में उत्पादों को बढ़ावा देने, फिल्म सिटी की स्थापना करने, मुफ्त गैस कनेक्शन, गरीब लोगों को फ्री राशन देने और किसानों को आर्थिक सहायता देने जैसी तमाम घोषणाएं की।

पढ़ें :- लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारी में जुटी बसपा, मंडलों के पदाधिकारियों के साथ बैठकर दिया ये निर्देश

योगी सरकार (Yogi Government)  के बजट पर बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती (Mayawati) ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। मायावती (Mayawati)  ने बजट को लेकर दो ट्वीट किया है। उन्होंने कहा कि यूपी की योगी सरकार(Yogi Government) का बजट प्रथम दृष्टया वही घिसापिटा व अविश्वनीय है। यह बजट तो जनहित व जनकल्याण में भी खासकर प्रदेश में छाई हुई गरीबी, बेरोजगारी व गड्ढायुक्त बदहाल स्थिति के मामले में अंधे कुएं जैसा है। जिससे यहां के लोगों के दरिद्र जीवन से मुक्ति की संभावना लगातार क्षीण होती जा रही है।

पढ़ें :- आजमगढ़ में मिली हार के बाद भी क्यों उत्साहित है बसपा? मायावती ने कहा-2024 लोकसभा चुनाव के लिए संघर्ष जारी रहेगा

माया ने कहा कि उत्तर प्रदेश के करोड़ों लोगों के जीवन में थोड़े अच्छे दिन लाने के लिए कथित डबल इंजन की सरकार द्वारा जो बुनियादी कार्य प्राथमिकता के आधार पर होने चाहिए थे, वे कहां किए गए। यह तो स्पष्टत: नीयत का अभाव है तो फिर वैसी नीति कहां से बनेगी। उन्होंने कहा कि इस सरकार का जनता की आंख में धूल झोंकने का खेल आखिर कब तक चलेगा।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...