यूपी बजट सत्र: सपा ने अखिलेश यादव की सुरक्षा के मसले पर काटा हंगामा, सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

budget session
यूपी बजट सत्र: सपा ने अखिलेश यादव की सुरक्षा के मसले पर काटा हंगामा, सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानमंत्रडल के बजट सत्र में सोमवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव की सुरक्षा के मुद्दे पर जोरदार हंगामा हुआ। जिसके बाद विधानसभा व विधानपरिषद की कार्यवाही कल तक के लिए
स्थगित कर दी गई। सदन में समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने भाजपा के नेताओं पर सपा मुखिया अखिलेश यादव की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया।

Up Budget Session Sp Members Create Ruckus On The Issue Of Security Of Akhilesh Yadav House Proceedings Adjourned For The Day :

सपा नेता अखिलेश यादव को धमकी मिलने के मामले की जांच की मांग कर रहे थे। इन सभी ने हत्या की साजिश तथा धमकी देने के मामले की जांच की मांग की है। इनके हंगामा करने के कारण विधान परिषद के साथ ही विधान सभा की कार्यवाही को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया गया है।

विधानसभा की कार्यवाही के दौरान समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने फिर से हंगामा किया। इन सभी ने अखिलेश यादव की सुरक्षा का मुद्दा उठाया। सदन में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि अखिलेश यादव को जान से मारने की धमकी मिली है। उन्होंने कहा कि सपा को जय श्रीराम से समस्या नहीं है, लेकिन कन्नौज में अखिलेश यादव को चिढ़ाने के लिए यह नारा लगाया गया था।

विधान परिषद की कार्यवाही में भी अखिलेश यादव की सुरक्षा का मामला उठा। इस दौरान सपा के सदस्यों ने सदन में जमकर हंगामा किया। आज सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा होनी थी। विधानसभा में आज अभिभाषण पर चर्चा के दौरान विपक्ष ने सदन में संशोधन प्रस्ताव दिया। आज लोकायुक्त की रिपोर्ट भी पेश होनी थी।

अखिलेश यादव की सुरक्षा को लेकर विधानसभा की कार्यवाही में बाधा पहुंचाने के मामले में संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि अखिलेश यादव अब कौन सी सुरक्षा चाहते हैं। वर्तमान में उनकी सुरक्षा में 182 सुरक्षा कर्मी लगे हैं। जनता के बीच से अगर किसी ने अखिलेश यादव से सवाल पूछा तो कौन से बड़ी बात हो गई। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि उनको कोई खतरा है, खतरा तो जनता को समाजवादी पार्टी से है। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि अखिलेश यादव पूर्व मुख्यमंत्री हैं।

कन्नौज में अखिलेशजी ने उस युवक को पिटवाया है। जनता तो जनप्रतिनिधियों से सवाल पूछती है। अगर मोबाइल पर अखिलेश जी को धमकी मिली तो सरकार जांच करा लेगी और कार्यवाई करेगी। जय श्री राम का कोई व्यक्ति नारा लगा दे कोई व्यक्ति अखिलेश की सभा में जाकर उनके कुछ पूछे और इसको लेकर वह इतना असुरक्षित महसूस करने लगते हैं तो यह बड़ा हास्यास्पद है। उन्होंने कहा कि जब नेता जी मुख्यमंत्री थे और उनकी सरकार में कोई जय श्री राम का नारा लगा देता था, कोई कारसेवक लगा देता था तो उसकी हत्या करा दी जाती थी। जय श्री राम से यह कैसी असुरक्षा है।

विधान परिषद में नेता सदन अहमद हसन ने कहा कि प्रदेश में जंगल राज कायम है। 15 फरवरी को कन्नौज में सपा कार्यालय की मीटिंग में भाजपा के आदमी ने साजिश के तहत डिस्टर्ब किया। इस कांड में भाजपा सरकार के लोग शामिल थे। उस आदमी की जानकारी जुटाएंगे तो सच्चाई सामने आएगी कि उसका किससे संबंध है। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में एलआइयू का कर्मी पत्रकार बनकर शामिल हुआ पकड़ा गया था। यह तो सभी को पता है कि अखिलेश यादव ही देश के अकेले नेता जो भाजपा का सफाया कर सकते है। अहमद हसन ने कहा कि अखिलेश जी की सुरक्षा से एसपीजी हटा दी गई है। यह सभी को पता है कि अखिलेश जी की सुरक्षा को गंभीर खतरा है। सपा एमएलसी उदयवीर सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव को भाजपा के लोग फोन पर धमकी दे रहे हैं।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश विधानमंत्रडल के बजट सत्र में सोमवार को समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव की सुरक्षा के मुद्दे पर जोरदार हंगामा हुआ। जिसके बाद विधानसभा व विधानपरिषद की कार्यवाही कल तक के लिए स्थगित कर दी गई। सदन में समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने भाजपा के नेताओं पर सपा मुखिया अखिलेश यादव की हत्या की साजिश रचने का आरोप लगाया। सपा नेता अखिलेश यादव को धमकी मिलने के मामले की जांच की मांग कर रहे थे। इन सभी ने हत्या की साजिश तथा धमकी देने के मामले की जांच की मांग की है। इनके हंगामा करने के कारण विधान परिषद के साथ ही विधान सभा की कार्यवाही को दिनभर के लिए स्थगित कर दिया गया है। विधानसभा की कार्यवाही के दौरान समाजवादी पार्टी के सदस्यों ने फिर से हंगामा किया। इन सभी ने अखिलेश यादव की सुरक्षा का मुद्दा उठाया। सदन में नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि अखिलेश यादव को जान से मारने की धमकी मिली है। उन्होंने कहा कि सपा को जय श्रीराम से समस्या नहीं है, लेकिन कन्नौज में अखिलेश यादव को चिढ़ाने के लिए यह नारा लगाया गया था। विधान परिषद की कार्यवाही में भी अखिलेश यादव की सुरक्षा का मामला उठा। इस दौरान सपा के सदस्यों ने सदन में जमकर हंगामा किया। आज सदन में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा होनी थी। विधानसभा में आज अभिभाषण पर चर्चा के दौरान विपक्ष ने सदन में संशोधन प्रस्ताव दिया। आज लोकायुक्त की रिपोर्ट भी पेश होनी थी। अखिलेश यादव की सुरक्षा को लेकर विधानसभा की कार्यवाही में बाधा पहुंचाने के मामले में संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि अखिलेश यादव अब कौन सी सुरक्षा चाहते हैं। वर्तमान में उनकी सुरक्षा में 182 सुरक्षा कर्मी लगे हैं। जनता के बीच से अगर किसी ने अखिलेश यादव से सवाल पूछा तो कौन से बड़ी बात हो गई। उन्होंने कहा कि मुझे नहीं लगता है कि उनको कोई खतरा है, खतरा तो जनता को समाजवादी पार्टी से है। संसदीय कार्य मंत्री सुरेश खन्ना ने कहा कि अखिलेश यादव पूर्व मुख्यमंत्री हैं। कन्नौज में अखिलेशजी ने उस युवक को पिटवाया है। जनता तो जनप्रतिनिधियों से सवाल पूछती है। अगर मोबाइल पर अखिलेश जी को धमकी मिली तो सरकार जांच करा लेगी और कार्यवाई करेगी। जय श्री राम का कोई व्यक्ति नारा लगा दे कोई व्यक्ति अखिलेश की सभा में जाकर उनके कुछ पूछे और इसको लेकर वह इतना असुरक्षित महसूस करने लगते हैं तो यह बड़ा हास्यास्पद है। उन्होंने कहा कि जब नेता जी मुख्यमंत्री थे और उनकी सरकार में कोई जय श्री राम का नारा लगा देता था, कोई कारसेवक लगा देता था तो उसकी हत्या करा दी जाती थी। जय श्री राम से यह कैसी असुरक्षा है। विधान परिषद में नेता सदन अहमद हसन ने कहा कि प्रदेश में जंगल राज कायम है। 15 फरवरी को कन्नौज में सपा कार्यालय की मीटिंग में भाजपा के आदमी ने साजिश के तहत डिस्टर्ब किया। इस कांड में भाजपा सरकार के लोग शामिल थे। उस आदमी की जानकारी जुटाएंगे तो सच्चाई सामने आएगी कि उसका किससे संबंध है। उन्होंने कहा कि अखिलेश जी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में एलआइयू का कर्मी पत्रकार बनकर शामिल हुआ पकड़ा गया था। यह तो सभी को पता है कि अखिलेश यादव ही देश के अकेले नेता जो भाजपा का सफाया कर सकते है। अहमद हसन ने कहा कि अखिलेश जी की सुरक्षा से एसपीजी हटा दी गई है। यह सभी को पता है कि अखिलेश जी की सुरक्षा को गंभीर खतरा है। सपा एमएलसी उदयवीर सिंह ने कहा कि अखिलेश यादव को भाजपा के लोग फोन पर धमकी दे रहे हैं।