1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. UP Budget Session : यूपी विधानमंडल सत्र का पहला दिन हंगामे की भेंट चढ़ा, सपा का दिखा आक्रामक रुख

UP Budget Session : यूपी विधानमंडल सत्र का पहला दिन हंगामे की भेंट चढ़ा, सपा का दिखा आक्रामक रुख

UP Budget Session : उत्तर प्रदेश विधानसभा (UP Legislature ) में 18वें सत्र के पहले दिन समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के विधायकों ने जमकर हंगामा किया है। यूपी विधानमंडल  सत्र (UP Legislature Session) के पहले दिन सोमवार को राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विपक्ष ने जमकर नारेबाजी की और वेल में उतर आया। खासतौर पर सपा सदस्य सरकार विरोधी नारों की तख्ती लेकर सदन में आए थे। उन्होंने राज्यपाल गो-बैक-गो बैक के नारे लगाए। वहीं महंगाई, आवारा पशुओं से बचाने को लेकर जमकर नारेबाजी की।

By संतोष सिंह 
Updated Date

UP Budget Session : उत्तर प्रदेश विधानसभा (UP Legislature ) में 18वें सत्र के पहले दिन समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) के विधायकों ने जमकर हंगामा किया है। यूपी विधानमंडल  सत्र (UP Legislature Session) के पहले दिन सोमवार को राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान विपक्ष ने जमकर नारेबाजी की और वेल में उतर आया। खासतौर पर सपा सदस्य सरकार विरोधी नारों की तख्ती लेकर सदन में आए थे। उन्होंने राज्यपाल गो-बैक-गो बैक के (Governor Go-Back-Go Back) नारे लगाए। वहीं महंगाई, आवारा पशुओं से बचाने को लेकर जमकर नारेबाजी की।

पढ़ें :- Union Budget 2023: पीएम मोदी बोले-बजट विकसित भारत के विराट संकल्प को पूरा करने के लिए एक मजबूत नींव का निर्माण करेगा

राज्यपाल सदन की कार्यवाही शुरू होते ही करीब 11.04 बजे सदन में पहुंच गईं। उन्होंने अपना अभिभाषण शुरू ही किया था कि विपक्ष खासतौर पर सपा, कांग्रेस व बसपा के सदस्यों ने जोरदार नारेबाजी शुरू कर दी। सपा के सदस्य महंगाई की यह सरकार नहीं चलेगी, आवारा पशुओं से बचाओं, महिलाओं का सम्मान नहीं कानून का राज नहीं, विपक्ष पर झूठे मुकदमे खत्म करो… जैसे नारों की तख्तियां लिए हुए थे। उन्होंने कई बार नारे लगाते हुए पुरानी पेंशन बहाली (Old Pension Restoration) की मांग की। सपा के कई सदस्यों के हाथों में तख्तियां थीं, जिन पर लिखा था बुलडोजर का भय दिखाकर जनता से लूट बंद करो।

सपा सदस्य लगातार जोरशोर से नारे लगाते रहे। सपा की महिला सदस्यों ने सफेद रंग की जैकेट पहनी और वे वेल मे उतर आई। उनकी जैकेटों पर-महिलाओं को सम्मान नहीं कानून का राज नहीं लिखा हुआ था। महिला सदस्यों ने वेल में जमकर नारेबाजी की। वे महिला सुरक्षा के मुद्दे उठा रही थीं।

इस दौरान राज्यपाल लगातार बिना रुके अभिभाषण पढ़ती रहीं। उन्होंने योगी सरकार की पांच साल की उपलब्धियों का सिलसिलेवार ब्योरा पेश किया। खासतौर पर कानून-व्यवस्था, किसानों को लेकर लाई गई योजनाओं और अन्य विकास कार्यों की जानकारी दी। उन्होंने राज्य को वन ट्रिलियन इकानामी बनाए जाने की अपनी सरकार की प्रतिबद्धता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास और सबके प्रयास के मंत्र को लेकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध है। राज्यपाल ने एक घंटा एक मिनट और पंद्रह सेकेंड तक अभिभाषण पढ़ा और भाषण खत्म करने के बाद ही पानी पिया।

पढ़ें :- कार्यालय छोड़ फील्ड पर उतरें अधिकारी, वरना निलम्बन को रहें तैयार : मण्डलायुक्त डाॅ. रोशन जैकब

इसके बाद सदन की कार्यवाही करीब 20 मिनट के लिए स्थगित रही। बाद में सदन की कार्यवाही शुरू होते ही विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना (Assembly Speaker Satish Mahana) ने कार्यमंत्रणा समिति की बैठक में सदन की आगामी बैठकों के लिए निर्धारित एजेंडे की सदन को जानकारी दी। साथ ही अन्य जरूरी विधायी कार्य निपटाए गए। सदन की कार्यवाही दोपहर करीब 12.46 बजे मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई।

इससे पहले आजम खान (Aazam Khan) ने विधानसभा सदस्यता की शपथ ली। विधानसभा अध्यक्ष सतीश महाना (Assembly Speaker Satish Mahana) ने अपने कक्ष में शपथ दिलाई। आज़म ने मीडिया से बात नहीं की। सपा विधायकों के साथ वह सपा विधानमंडल कार्यालय चले गए।

 

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...