कोरोना से यूपी की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण का निधन, SGPGI में चल रहा था इलाज

kamal_r_20583487_102244632

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण के निधन से सियासत की गलियों में आज मातम छाया हुआ है। उनका पूरा नाम कमल रानी वरुण था और वे यूपी विधानसभा की सदस्य थीं। इससे पहले वे सांसद भी रह चुकी हैं। कमल रानी वरुण यूपी सरकार में टेक्निकल एजुकेशन मंत्री थीं। कमल वरुण कोरोना से संक्रमित थीं और लखनऊ के पीजीआई में उनका इलाज चल रहा था।

Up Cabinet Minister Kamal Varun Dies From Corona Treatment Underway At Sgpgi :

कमल रानी की कोरोना से हुई मौत

कमल रानी वरुण उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री थीं, कमल रानी की कोरोना से मौत हुई है। वे 18 जुलाई को कोरोना से संक्रमित हुई थीं। बाद में इलाज के लिए उन्हें लखनऊ पीजीआई में दाखिल कराया गया था जहां रविवार को उनका निधन हो गया। कमल वरुण का जन्म 3 मई 1958 को हुआ था। पिछले महीने उनका कोरोना टेस्ट कराया गया था जिसमें वे संक्रमित पाई गई थीं।

​सीएम योगीआदित्यनाथ ने प्रकट किया शोक

उनके निधन पर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने शोक प्रकट किया है। मुख्यमंत्री ने लिखा, उत्तर प्रदेश सरकार में मेरी सहयोगी, कैबिनेट मंत्री श्रीमती कमल रानी वरुण जी के असमय निधन की सूचना, व्यथित करने वाली है। प्रदेश ने आज एक समर्पित जननेत्री को खो दिया. उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें। ॐ शांति ॐ!

SGPGI में इलाज के दौरान हो गई मौत

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट में लिखा गया कि आज दिनांक 02.08.2020 को प्रातः लगभग 9:30 बजे श्रीमती कमल रानी वरुण जी, मंत्री प्राविधिक शिक्षा का SGPGI, लखनऊ में इलाज के दौरान निधन हो गया है। श्रीमती वरुण जी घाटमपुर, कानपुर नगर से विधायक थीं। इससे पूर्व श्रीमती वरुण जी 11वीं व 12वीं लोकसभा की सदस्य थीं। श्रीमती वरुण जी ने एक जनप्रतिनिधि के रूप में जन आकांक्षाओं का सम्मान रखा। मंत्री के रूप में विभागीय कार्यों को कुशलतापूर्वक निर्वहन करने में सराहनीय योगदान दिया है। उनका निधन समाज और सरकार के लिये अपूरणीय क्षति है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की कैबिनेट मंत्री कमल वरुण के निधन से सियासत की गलियों में आज मातम छाया हुआ है। उनका पूरा नाम कमल रानी वरुण था और वे यूपी विधानसभा की सदस्य थीं। इससे पहले वे सांसद भी रह चुकी हैं। कमल रानी वरुण यूपी सरकार में टेक्निकल एजुकेशन मंत्री थीं। कमल वरुण कोरोना से संक्रमित थीं और लखनऊ के पीजीआई में उनका इलाज चल रहा था।

कमल रानी की कोरोना से हुई मौत

कमल रानी वरुण उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री थीं, कमल रानी की कोरोना से मौत हुई है। वे 18 जुलाई को कोरोना से संक्रमित हुई थीं। बाद में इलाज के लिए उन्हें लखनऊ पीजीआई में दाखिल कराया गया था जहां रविवार को उनका निधन हो गया। कमल वरुण का जन्म 3 मई 1958 को हुआ था। पिछले महीने उनका कोरोना टेस्ट कराया गया था जिसमें वे संक्रमित पाई गई थीं।

​सीएम योगीआदित्यनाथ ने प्रकट किया शोक

उनके निधन पर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने शोक प्रकट किया है। मुख्यमंत्री ने लिखा, उत्तर प्रदेश सरकार में मेरी सहयोगी, कैबिनेट मंत्री श्रीमती कमल रानी वरुण जी के असमय निधन की सूचना, व्यथित करने वाली है। प्रदेश ने आज एक समर्पित जननेत्री को खो दिया. उनके परिजनों के प्रति मेरी संवेदनाएं। ईश्वर दिवंगत आत्मा को अपने श्री चरणों में स्थान प्रदान करें। ॐ शांति ॐ!

SGPGI में इलाज के दौरान हो गई मौत

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से ट्वीट में लिखा गया कि आज दिनांक 02.08.2020 को प्रातः लगभग 9:30 बजे श्रीमती कमल रानी वरुण जी, मंत्री प्राविधिक शिक्षा का SGPGI, लखनऊ में इलाज के दौरान निधन हो गया है। श्रीमती वरुण जी घाटमपुर, कानपुर नगर से विधायक थीं। इससे पूर्व श्रीमती वरुण जी 11वीं व 12वीं लोकसभा की सदस्य थीं। श्रीमती वरुण जी ने एक जनप्रतिनिधि के रूप में जन आकांक्षाओं का सम्मान रखा। मंत्री के रूप में विभागीय कार्यों को कुशलतापूर्वक निर्वहन करने में सराहनीय योगदान दिया है। उनका निधन समाज और सरकार के लिये अपूरणीय क्षति है।