UP: जमातियों की वजह से बढ़ते जा रहे कोरोना संक्रमित, 15 अप्रैल को लॉकडाउन खुलने की संभावना कम

awnish awsthi
UP: पूरे जिला नही सिर्फ हॉटस्पॉट वाले इलाके ही होंगे सील, प्रदेश में 343 कोरोना संक्रमित

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या अब 300 के पार पंहुच चुकी है। लगातार कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से योगी सरकार लॉकडाउन का समय 14 अप्रैल से आगे बढ़ा सकती है। सोमवार को अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने इसके संकेत दिए। अवनीश अवस्थी ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि जिस तरह से तबलीगी जमात में शामिल लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो रही है उससे प्रदेश में मरीजों की संख्या में अचानक इजाफा हुआ है। अगर ऐसा ही रहा तो 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन खोलना संभव नहीं होगा।

Up Corona Infected Due To Deposits Lockdown Likely To Open On April 15 :

अवनीश अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि शाम चार बजे तक यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 305 है। इनमें से 159 लोग वे हैं जिन्होंने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए आयोजन में हिस्सा लिया था। अवस्थी ने कहा कि जिस तरह से तबलीगी जमात से जुड़े लोगों में कोरोना की पुष्टि हो रही है, उससे लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद हटाना संभव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि अब जमात से जुड़े जिन लोगों में संक्रमण पाया गया है उनके संपर्क में आया है उनको ट्रेस किया जा रहा है।

अपर मुख्य सचिव ने कहा कि अगर एक भी व्यक्ति संक्रमित है तो ऐसी स्थिति में लॉकडाउन खोलना संभव नहीं होगा। अभी मामला संवेदनशील है और सर्तकता बरती जा रही है। उन्होंने कहा कि तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की वजह से ही कई जिलों में संक्रमण फैला है। सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज आगरा में मिले हैं। उसके बाद मेरठ, सहारनपुर, आजमगढ़, लखनऊ, बाराबंकी, शामली, गाजियाबाद आदि जिले हैं। सरकार अपनी तरफ से सभी को ट्रेस कर रही है।

अवनीश अवस्थी ने बताया कि तबलीगी जमात में शामिल हुए लोग आगे आकर खुद का जांच करवाएं इसके लिए मुख्यमंत्री ने रविवार को सभी जिलों के धर्मगुरुओं से भी बात की। इस बातचीत में सभी ने की सहमती थी कि इंसान की जिंदगी ज्यादा महत्वपूर्ण है। सभी लोगों न ने अपना इसमें सहयोग देने की बात कही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 10 मेडिकल कॉलेजों में टेस्टिंग की जा रही है। जल्द ही 14 अन्य जिलों में भी टेस्टिंग शुरू होगी जबकि कई जिलों में कलेक्शन सेंटर बढ़ाए जाएंगे।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमित मरीजो की संख्या अब 300 के पार पंहुच चुकी है। लगातार कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने की वजह से योगी सरकार लॉकडाउन का समय 14 अप्रैल से आगे बढ़ा सकती है। सोमवार को अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने इसके संकेत दिए। अवनीश अवस्थी ने प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कहा कि जिस तरह से तबलीगी जमात में शामिल लोगों में कोरोना वायरस की पुष्टि हो रही है उससे प्रदेश में मरीजों की संख्या में अचानक इजाफा हुआ है। अगर ऐसा ही रहा तो 14 अप्रैल के बाद लॉकडाउन खोलना संभव नहीं होगा। अवनीश अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया कि शाम चार बजे तक यूपी में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या 305 है। इनमें से 159 लोग वे हैं जिन्होंने दिल्ली के निजामुद्दीन मरकज में हुए आयोजन में हिस्सा लिया था। अवस्थी ने कहा कि जिस तरह से तबलीगी जमात से जुड़े लोगों में कोरोना की पुष्टि हो रही है, उससे लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद हटाना संभव नहीं होगा। उन्होंने कहा कि अब जमात से जुड़े जिन लोगों में संक्रमण पाया गया है उनके संपर्क में आया है उनको ट्रेस किया जा रहा है। अपर मुख्य सचिव ने कहा कि अगर एक भी व्यक्ति संक्रमित है तो ऐसी स्थिति में लॉकडाउन खोलना संभव नहीं होगा। अभी मामला संवेदनशील है और सर्तकता बरती जा रही है। उन्होंने कहा कि तबलीगी जमात से जुड़े लोगों की वजह से ही कई जिलों में संक्रमण फैला है। सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज आगरा में मिले हैं। उसके बाद मेरठ, सहारनपुर, आजमगढ़, लखनऊ, बाराबंकी, शामली, गाजियाबाद आदि जिले हैं। सरकार अपनी तरफ से सभी को ट्रेस कर रही है। अवनीश अवस्थी ने बताया कि तबलीगी जमात में शामिल हुए लोग आगे आकर खुद का जांच करवाएं इसके लिए मुख्यमंत्री ने रविवार को सभी जिलों के धर्मगुरुओं से भी बात की। इस बातचीत में सभी ने की सहमती थी कि इंसान की जिंदगी ज्यादा महत्वपूर्ण है। सभी लोगों न ने अपना इसमें सहयोग देने की बात कही है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 10 मेडिकल कॉलेजों में टेस्टिंग की जा रही है। जल्द ही 14 अन्य जिलों में भी टेस्टिंग शुरू होगी जबकि कई जिलों में कलेक्शन सेंटर बढ़ाए जाएंगे।