1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी: सुलतानपुर जिले का नाम बदलने की फिर उठी मांग, भाजपा विधायक ने सीएम योगी को पत्र लिखकर कहीं ये बातें…

यूपी: सुलतानपुर जिले का नाम बदलने की फिर उठी मांग, भाजपा विधायक ने सीएम योगी को पत्र लिखकर कहीं ये बातें…

उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर (sultanpur)  जिले के नाम बदलने के लिए आवाज फिर से उठने लगी है। BJP विधायक विनोद सिंह (BJP MLA Vinod Singh) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर इसकी मांग की है। उन्होंने कहा कि सुलतानपुर का नाम बदलकर कुशभवनगर (Kushbhavnagar) किया जाए। कहा जा रहा है कि विधायक विनोद सिंह (MLA Vinod Singh) की इस मांग पर मुहर लग सकती है।

By शिव मौर्या 
Updated Date

सुलतानपुर। उत्तर प्रदेश के सुलतानपुर (sultanpur)  जिले के नाम बदलने के लिए आवाज फिर से उठने लगी है। BJP विधायक विनोद सिंह (BJP MLA Vinod Singh) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर इसकी मांग की है। उन्होंने कहा कि सुलतानपुर का नाम बदलकर कुशभवनगर (Kushbhavnagar) किया जाए। कहा जा रहा है कि विधायक विनोद सिंह (MLA Vinod Singh) की इस मांग पर मुहर लग सकती है। दरअसल, काफी लंबे से सुलतानपुर (sultanpur) के नाम बदलने की चर्चाएं हो रहीं थीं। इससे पहले सुलतानपुर (sultanpur) के लंभुआ ​से भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी ने विधानसभा में ये मुद्दा उठाया था। उन्होंने दावा किया था कि सुलतानपुर का नाम प्रचीन समय में कुश था।

पढ़ें :- नौतनवा:ब्लाक प्रमुख ने आरसीसी सड़क के लिए किया भूमि पूजन

बता दें कि, सुलतानपुर से विधायक विनोद सिंह (MLA Vinod Singh) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) को पत्र लिखकर कहा है कि, सुलतानपुर, अयोध्या और प्रयागराज पवित्र धामों के बीच अवस्थित है। जनपद में धोपाप, मकरीकुण्ड, सीताकुण्ड, विजेथुआ जैसे महत्वपूर्ण पौराणिक स्थल स्थित है। इस तथ्य के पौराणिक साक्ष्य है कि हम सब के आराध्य भगवान राम के कनिष्ठ पुत्र कुश ने इस जनपद को अपनी राजधानी बनाया और इसका नामकरण कुशभवनपुर के रूप में किया था।

बाद के खिलजी बादशाह ने अपनी संस्कृति के प्रचार-प्रसार के क्रम में जनपद का नामकरण सुलतानपुर कर दिया। आज के प्रजातांत्रिक युग में सुलतान जैसे नाम जनता की आंखों में खटकते रहे हैं। इसे बदलवाने हेतु कई बार जन आंदोलन हुए हैं, ज्ञापन दिये गये हैं। जनता के लिए यह एक संवेदनशील मुद्दा बना हुआ है।

हाल के विधानसभा चुनाव में 25 फरवरी, 2022 को ‘कटका’ में आयोजित मेरे समर्थन सभा में आपने भी इस मुद्दे को उठाया था और जनता ने अपना सकारात्मक समर्थन दिया था। हम सब सांस्कृतिक राष्ट्रवाद के पथ के पथिक हैं इसलिए सांस्कृतिक प्रतीकों का हमारे लिए विशेष महत्व हैं। ऐसे में जनभावनाओं को ध्यान में रखते हुए
सुलतानपुर का नाम ‘कुशभवनपुर’ किया जाए।

 

पढ़ें :- BBC Documentary Controversy: दिल्ली से लेकर मुंबई तक बीबीसी डॉक्यूमेंट्री पर हंगामा

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...