1. हिन्दी समाचार
  2. CAA हिंसा पर बोले UP के DGP- निर्दोषों को छेड़ेंगे नहीं, दोषियों को छोड़ेंगे नहीं

CAA हिंसा पर बोले UP के DGP- निर्दोषों को छेड़ेंगे नहीं, दोषियों को छोड़ेंगे नहीं

Up Dgp On Violence Said Will Not Tease The Innocent Will Not Spare The Culprits

By बलराम सिंह 
Updated Date

लखनऊ। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोध में उत्तर प्रदेश के कई जनपदों में हुई हिंसा के बाद आज जुमे की नमाज के मद्देनजर शुक्रवार को पूरे प्रदेश में अलर्ट जारी किया गया है। संवेदनशील जिलों में अतिरिक्त पुलिस बल की तैनाती की गई है। इसके साथ ही 20 जिलों में अगले 24 घंटे के लिए इंटरनेट सेवा फिर से बंद कर दी गई है।

पढ़ें :- महिलाओं को ये काम करते कभी ना देखें वरना हो सकती है बड़ी भूल

डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था पूरी तरह से नियंत्रण में है। हमने पूरी रणनीति के साथ पुलिस बल को तैनात किया है। उन्होंने साफ किया कि हिंसा के आरोप में किसी बेकसूर को नहीं पकड़ा जाएगा। साथ ही हिंसा में जो लोग भी शामिल थे उन्हें किसी हाल में छोड़ा नहीं जाएगा।

डीजीपी ओमप्रकाश सिंह की ओर से सभी जिलों के अध्यक्षों को भेजे गए निर्देशों में सुरक्षा और कानून व्यवस्था के लिए लागू की गई जोन और सेक्टर की व्यवस्था को जारी रखने के लिए कहा गया है। जिलों में मस्जिदों के इमामों से संपर्क कर उनसे नमाज के बाद शांति बनाए रखने की अपील करने का आग्रह किया गया है। डीजीपी ओपी सिंह ने कहा कि फिलहाल सभी जगह स्थिथि ठीक है। पुलिस सभी जगह पर नजर बनाए हुए है।

गौरतलब है कि पिछले सप्ताह प्रदेश में अलग अलग शहरों में जुमे की नमाज के बाद हुए हिंसक प्रदर्शन को देखते हुए इस बार विशेष सतर्कता बरती गई है। डीजीपी ओम प्रकाश सिंह की ओर से शुक्रवार को होने वाली नमाज के लिए खास अलर्ट जारी किया गया है।

कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए संवेदनशील जिलों में अर्ध सैनिक बलों की तैनाती गई है। पिछली बार की पुनरावृत्ति न हो इसके लिए 120 कंपनी पीएसी और लगभग 35 कंपनी अर्ध सैनिक बल का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके अलावा भारी संख्या में सब इंस्पेक्टर, इंस्पेक्टर, पुलिस उपाधीक्ष, अपर पुलिस अधीक्षक और पुलिस अधीक्षकों की तैनाती की गई है। इसके साथ ही संवेदनशील जिलों में मस्जिदों के इमामों से संपर्क कर उनसे नमाज के बाद शांति बनाए रखने की अपील करने का आग्रह किया गया है।

पढ़ें :- पैर भी बताते हैं कितने भाग्यशाली हैं आप, जानिए क्या है समुद्रशास्त्र

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...