1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. यूपी जिला पंचायत चुनाव : 46 जिलों में बीजेपी का लहराया परचम, 5 सीटों पर सपा की जीत, प्रतापगढ़ में जनसत्ता दल का कब्जा

यूपी जिला पंचायत चुनाव : 46 जिलों में बीजेपी का लहराया परचम, 5 सीटों पर सपा की जीत, प्रतापगढ़ में जनसत्ता दल का कब्जा

उत्तर प्रदेश के 53 जिलों में शनिवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव संपन्न हुआ। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 53 जिलों में 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक वोटिंग हुई। इससे पहले मंगलवार को 22 जिलों में निर्विरोध रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष चुन लिए गए थे। इनमें सिर्फ इटावा को छोड़कर 21 जिलों में निर्वाचित अध्यक्ष सत्तारूढ़ दल बीजेपी के हैं। जबकि इटावा में समाजवादी पार्टी का जिला पंचायत अध्यक्ष चुना गया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के 53 जिलों में शनिवार को कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जिला पंचायत अध्यक्ष पद का चुनाव संपन्न हुआ। त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में 53 जिलों में 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक वोटिंग हुई। इससे पहले मंगलवार को 22 जिलों में निर्विरोध रूप से जिला पंचायत अध्यक्ष चुन लिए गए थे। इनमें सिर्फ इटावा को छोड़कर 21 जिलों में निर्वाचित अध्यक्ष सत्तारूढ़ दल बीजेपी के हैं। जबकि इटावा में समाजवादी पार्टी का जिला पंचायत अध्यक्ष चुना गया है।

पढ़ें :- यूपी जिला पंचायत चुनाव : 65 जिलों में चली बीजेपी की आंधी, सपा को सिर्फ 6 सीटें, 4 निर्दलीय जीते

हमीरपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट बीजेपी के प्रत्याशी ने 5 वोटों से निषाद पार्टी प्रत्याशी को धूल चटाई है । बीजेपी की जयंती राजपूत को 17 मतों में 11 मिले जबकि निषाद पार्टी के प्रत्याशी के खाते में सिर्फ 6 मत आए हैं।

प्रयागराज में बीजेपी प्रत्याशी डॉ. वीके सिंह ने अध्यक्ष पद पर चुनाव जीता है। सपा की मालती यादव को सीधे मुकाबले में हराया है। 84 जिला पंचायत सदस्यों में से बीजेपी को मिले 51 मत, सपा प्रत्याशी को 33 वोटों से संतोष करना पड़ा। हार के बाद सपा ने लगाया प्रशासन के दम पर बेईमानी का आरोप लगाया है।

अलीगढ़ में बीजेपी प्रत्याशी विजय सिंह ने अध्यक्ष पद पर कब्जा किया है । यहां जिला पंचायत अध्यक्ष पद के लिए 46 वोट डाले गए । जिसमें विजय सिंह को 38 वोट तो अर्चना सिंह को 8 मत मिले हैं ।

लखनऊ में बीजेपी प्रत्‍याशी आरती रावत ने सपा उम्मीदवार विजय लक्ष्मी को हराया है। जिला अध्यक्ष चुनाव में भाजपा को 14 जबकि सपा को 11 वोट मिले हैं।

पढ़ें :- यूपी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए 53 जिलों में वोटिंग शुरू, मतगणना 3 बजे के बाद

एटा जिला पंचायत अध्यक्ष में समाजवादी पार्टी की प्रत्याशी रेखा यादव पत्नी जुगेंद्र सिंह यादव को कुल 24 वोट व भाजपा प्रत्याशी विनीता यादव को 4 वोट मिले हैं। 2 जिला पंचायत सदस्यों के वोट किसी कारण निरस्त हुए हैं।

प्रतापगढ़ में राजा भैया-प्रमोद तिवारी की दोस्ती से जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव के समीकरण ही बदल गए। जनसत्ता दल लोकतांत्रिक की प्रत्याशी माधुरी पटेल 40 मत पाकर जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं हैं।

मुजफ्फरनगर जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव भाजपा प्रत्याशी डॉक्टर वीरपाल निर्वाल 30 वोट के साथ जीते हैं, ज​बकि बीकेयू के प्रत्याशी सतेंद्र बालियान को 4 वोट मिला है।

अयोध्या में बीजेपी समर्थित प्रत्याशी रोली सिंह जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं हैं। रोली सिंह को 30 वोट, जबकि सपा समर्थित प्रत्याशी को केवल 10 वोट मिले हैं।

देवरिया से भाजपा के गिरीश चंद तिवारी ने जिला पंचायत अध्यक्ष ने जीत दर्ज की है।

पढ़ें :- यूपी की सबसे युवा जिला पंचायत अध्यक्ष बनने का खिताब अपने नाम करेंगी आरती तिवारी

गाजीपुर से जिला पंचायत अध्यक्ष पद की भारतीय जनता पार्टी की अधिकृत प्रत्याशी सपना सिंह विजयी हुई हैं।

कानपुर देहात से बीजेपी सांसद देवेंद्र सिंह भोले परिवार की निर्दलीय प्रत्याशी नीरज रानी ने समाजवादी राम सिंह यादव को हराया है। नीरज को मिले 26 वोट राम सिंह यादव को 5 वोट मिले हैं।

संभल में बीजेपी समर्थित प्रत्याशी डॉ. अनामिका यादव 22 वोट पाकर विजई हुई हैं। सपा की प्रीती यादव को 13 वोट मिले हैं।

कन्नौज में बीजेपी समर्थित प्रिया शाक्य 15 वोट पाकर जीत हासिल की, जबकि सपा के श्याम सिंह को 13 वोट पाकर चुनाव हारे हैं।

कौशाम्बी में कल्पना सोनकर जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं हैं। कल्पना सोनकर को 13 वोट मिले, जबकि सपा की विजमा दिवाकर को 11 वोट मिले हैं।

कुशीनगर जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर बीजेपी समर्थित सावित्री जयसवाल ने 46 मत पाकर जीतहासिल की है ।

सुल्तानपुर में बीजेपी समर्थित प्रत्याशी ऊषा सिंह ने जीत दर्ज की है, इन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी अर्चना सिंह को पराजित किया है।

मथुरा जिला पंचायत अध्यक्ष पर बीजेपी के किशन चौधरी ने कब्जा किया है। बीजेपी को 22 और राष्ट्रीय लोक दल को 11 वोट मिले हैं । राष्ट्रीय लोक दल ने बूथ कैप्चरिंग करने का प्रशासन की मिली भगत का आरोप लगाया है।

कानपुर में जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर भाजपा प्रत्याशी स्वप्निल वरुण विजयी हुई हैं। स्वप्निल वरुण को मिले 25 वोट, सपा के राजू दिवाकर को मिले 5 वोट, 2 वोट अवैध निकले हैं। स्वप्निल वरुण पूर्व कैबिनेट मंत्री कमल रानी वरुण की बेटी हैं।

आज़मगढ़ जिला पंचायत में सपा ने एकतरफा जीत हासिल की है। सपा प्रत्‍याशी को 79 मत तो बीजेपी को 6 वोट मिले हैं।

आजम खान के गढ़ रामपुर में बीजेपी पार्टी प्रत्याशी ख्यालीराम लोधी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव जीते हैं। भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी ख्यालीराम लोधी ने 18 मत प्राप्त किए हैं। वहीं दूसरी ओर समाजवादी समर्थित प्रत्याशी नसरीन जहां ने 13 मत प्राप्त किए हैं। ख्याली राम लोधी 5 वोटों से जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव जीतकर अध्यक्ष बने।

कासगंज में जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर निर्वाचित हुईं बीजेपी समर्थित निर्दलीय प्रत्याशी रत्नेश कश्यप, कुल 23 सदस्यों में से रत्नेश कश्यप के पक्ष में पड़े 14 वोट, वहीं सपा प्रत्याशी समर्थ यादव के पक्ष में 9 वोट पड़े हैं।

सीतापुर जिला पंचायत में 56 वोट पाकर भाजपा प्रत्याशी श्रद्धा सागर ने जीत का परचम लहराया है ।

हापुड़ से बीजेपी की रेखा नागर जीतीं, बदायूं से भाजपा प्रत्याशी वर्षा यादव जीतीं हैं।

मैनपुरी में बीजेपी ने जिला पंचायत अध्यक्ष अर्चना भदौरिया का चुनाव जीता है।

हाथरस में जिला पंचायत के परिणाम की हुई घोषणा, बीजेपी की सीमा उपाध्याय जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं, सीमा उपाध्याय को 24 में से 13 वोट मिले, एसपी-आरएलडी प्रत्याशी शशि चौधरी को 11 वोट मिले हैं।

अमेठी जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में बीजेपी समर्थित प्रत्याशी में राजेश मसाला के मालिक राजेश अग्रहरि निर्वाचित हुए हैं। राजेश अग्रहरि 31 वोट पाकर , 4 वोट सपा के शीलम सिंह को मिला है।

जौनपुर से धनंजय सिंह की पत्नी की जीत तय मानी जा रही है। बीजेपी ने धनंजय की पत्नी का समर्थन किया है। बीजेपी ने अपना दल को यह सीट दी थी। बीजेपी और अपना दल दोनों ने ही धनंजय सिंह की पत्नी श्रीकला रेड्डी को समर्थन दिया है।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...